अपने विवादास्पद बयानों से फिर घिरे मणिशंकर अय्यर, कहा- संबंधों को सुधारने की भारत की नीति गलत, पाक की सही

Publisher NEWSWING DatePublished Tue, 02/13/2018 - 12:25

Karachi: अपने विवादास्पद बयानों से सुर्खियों में रहनेवाले कांग्रेस के निलंबित वरिष्ठ नेता मणिशंकर अय्यर ने एक बार फिर अजीबो गरीब बयान दे दिया है. इस बार उनका बयान पड़ोसी देश पाकिस्तान और भारत के संबंधों को लेकर है. पाकिस्तान के कराची में एक कार्यक्रम में शिरकत के दौरान मणिशंकर अय्यर ने कहा कि भारत पाकिस्तान के बीच के मुद्दों को सुलझाने के लिए पाकिस्तान की नीतियों से वह खुश हैं जबकि भारत की नीतियों पर उन्होंने दुख जताया.

इसे भी पढ़ेंः मणिशंकर अय्यर सस्पेंड, मोदी को कहा था "नीच"

पड़ोसी के साथ संबंध सुधारने के लिए निर्बाध बातचीत ही है रास्ता

उन्होंने कहा कि ‘‘भारत-पाकिस्तान मुद्दों को हल करने के लिए एक ही रास्ता है और यह रास्ता निर्बाध बातचीत का है.’’ अय्यर ने बातचीत के जरिए मुद्दों को हल करने की कोशिश के लिए पाकिस्तान की सरहना की और कहा कि नयी दिल्ली के पास यह नीति नहीं है. कांग्रेस से निलंबित नेता मणिशंकर अय्यर कराची साहित्य महोत्सव में भाग लेने पहुंचे थे. उन्होंने भारत और पाकिस्तान के बीच मुद्दों के समाधान के लिए निर्बाध बातचीत की पैरवी की.

इसे भी पढ़ेंः जम्मू के सुंजवान में सैन्य शिविर पर आतंकी हमला, दो जेसीओ शहीद, चार लोग घायल

मैं पाकिस्‍तान से प्‍यार करता हूं क्‍योंकि मैं भारत से प्‍यार करता हूं

पाकिस्‍तानी अखबार में छपी रिपोर्ट के अनुसार, पूर्व केंद्रीय मंत्री अय्यर ने कहा, ‘मैं पाकिस्‍तान से प्‍यार करता हूं क्‍योंकि मैं भारत से प्‍यार करता हूं.उनके ऐसे बयान का कार्यक्रम में मौजूद लोगों ने तालियां बजाकर स्‍वागत किया. गौरतलब है कि मणिशंकर अययर अपने विवादास्‍पद बयान को लेकर अक्‍सर विवादों में रहते हैं. गुजरात विधानसभा चुनावों के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर की गयी विवादास्पद टिप्पणी के बाद उन्हें कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया गया था. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नीच कह कर संबोधित किया था. उनके एसे बयान के बाद बीजेपी सहित पूरे देश में खूब हंगामा बरपा था और उन्हें अपनी पार्टी के प्राथमिक सदस्यता से हाथ धोना पड़ा था.

इसे भी पढ़ेंः प्रियंका गांधी ने भी तीन साल पहले मोदी के लिए किया था गलत शब्द का इस्तेमाल

भारत का रवैया ऐसा है कि इस मुददे को पाकिस्तान सुलझाये

बता दें कि मणिशंकर अय्यर कराची में भारत के महावाणिज्य दूत रह चुके हैं. कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि दविपक्षीय संबंधों को सामान्य करने की दिशा में पाकिस्तान ने जहां बड़ी प्रगति की है वहीं भारत की ओर से इसमें बदलाव मामूली हैं. आतंकवाद के मुददे पर पाकिस्तान चाहता है कि वह भारत के साथ मिलकर इसे सुलझाये जबकि भारत का रवैया ऐसा है कि इस मुददे को पाकिस्तान सुलझाये. उल्लेखनीय है कि अययर का बयान ऐसे समय में आया है जब पाकिस्तान लगातार रूक-रूक कर सीमा पर हमले कर रहा है. कुछ ही दिनों के ऐसे हमले में अबतक करीब 10 सेना के जवान शहीद हो चुके हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Main Top Slide
loading...
Loading...

NEWSWING VIDEO PLAYLIST (YOUTUBE VIDEO CHANNEL)