रालोसपा के इफ्तार में नहीं शामिल हुए नीतीश, सुशील और लोजपा नेता

Publisher NEWSWING DatePublished Mon, 06/11/2018 - 09:26

Patna : बिहार में राजग के घटक दलों के बीच असंतोष की अटकलों के बीच आज राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) की ओर से आयोजित इफ्तार पार्टी में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार , उपमुख्यमंत्री एवं भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी और लोजपा से कोई भी नेता शामिल नहीं हुए. इस घटना के बाद राजद नेता तेजस्वी प्रसाद यादव ने रालोसपा प्रमुख एवं केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा से कहा कि वह राजग छोड़कर उनकी पार्टी के नेतृत्व वाले गठबंधन में शामिल हो जाएं क्योंकि राजग में उन्हें गत चार वर्षों से ‘ नजरंदाज ’ किया गया है.

वहीं, कुशवाहा ने यह निमंत्रण ठुकरा दिया और इस बात पर जोर दिया कि वह राजग में हैं और नरेंद्र मोदी को 2019 के लोकसभा चुनाव में फिर से प्रधानमंत्री बनाने के लिए काम कर रहे हैं. रालोसपा प्रवक्ता अभयानंद सुमन ने कहा कि इफ्तार पार्टी का निमंत्रण बिहार में राजग के सभी घटक दलों जदयू , भाजपा और लोजपा को उनके कार्यालयों में भेजा गया था. बिहार प्रदेश भाजपा प्रमुख नित्यानंद राय और भाजपा नेता देवेश कुमार इफ्तार कार्यक्रम में पहुंचे लेकिन जदयू और लोजपा से कोई भी नहीं आया.

na
7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

सरकार जमीन अधिग्रहण करेगी और व्यापक जनहित नाम पर जमीन का उपयोग पूंजीपति करेगें : रश्मि कात्यायन

नोटबंदी के दौरान अमित शाह के बैंक ने देश भर के तमाम जिला सहकारी बैंक के मुकाबले सबसे ज्यादा प्रतिबंधित नोट एकत्र किए: आरटीआई जवाब

एसपी जया राय ने रंजीत मंडल से कहा था – तुम्हें बच्चे की कसम, बदल दो बयान, कह दो महिला सिपाही पिंकी है चोर

बीजेपी पर बरसे यशवंतः कश्मीर मुद्दे से सांप्रदायिकता फैलायेगी भाजपा, वोटों का होगा धुव्रीकरण

अमरनाथ यात्रा पर फिदायीन हमले का खतरा, NSG कमांडो होंगे तैनात

डीबीटी की सोशल ऑडिट रिपोर्ट जारी, नगड़ी में 38 में से 36 ग्राम सभाओं ने डीबीटी को नकारा

इंजीनियर साहब! बताइये शिवलिंग तोड़ रहा कांके डैम साइड की पक्की सड़क या आपके ‘पाप’ से फट रही है धरती

देशद्रोह के आरोप में जेल में बंद रामो बिरुवा की मौत

मैं नरेंद्र मोदी की पत्नी वो मेरे रामः जशोदाबेन

दुनिया को 'रोग से निरोग' की राह दिखा रहा योग: मोदी

स्मार्ट मीटर खरीद के टेंडर को लेकर जेबीवीएनएल चेयरमैन से शिकायत, 40 फीसदी के बदले 700 फीसदी टेंडर वैल्यू तय किया