अब डुमरी विधायक जगरनाथ महतो ने अफसरों को धमकाया, सीओ व अंचलकर्मियों से कहा- बाल-बच्चा, नौकरी से प्यार है तो सुधर जाओ

Publisher NEWSWING DatePublished Fri, 02/23/2018 - 16:24

Giridih : अपने दबंग अंदाज़ से हमेशा ही चर्चे में रहने वाले झामुमो नेता सह डुमरी विधायक जगरनाथ महतो ने सरकारी कार्यालयों में व्याप्त भ्रष्टाचार पर जोरदार प्रहार करते हुए डुमरी अंचलाधिकारी व अंचलकर्मियों को कड़े लहज़े में चेताया है. या यूं कहें तो विधायक ने खुले रूप से धमकी देने का काम किया है. बता दें कि झामुमो प्रखण्ड इकाई द्वारा पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत शुक्रवार को पार्टी नेता व कार्यकर्ता डुमरी प्रखण्ड सह अंचल कार्यालय में धरने पर बैठे थे. धरना कार्यक्रम में विधायक जगरनाथ बतौर अतिथि उपस्थित थे. इस दौरान उन्होंने धरने को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रखण्ड में भ्रष्टाचार का आतंक है. इसी के खिलाफ, इसी के आक्रोश में चेतावनी के तहत शुक्रवार को यहां धरना देकर ये कहने के लिए आये हैं कि अभी भी समय है. आज से ही सुधर जाइये, नहीं तो क्या होगा, यदि बाल-बच्चा और नौकरी से प्रेम है तो भाई सुधर जाईये.

इसे भी पढ़ेंः 48 घंटे में विधायक साधु चरण महतो की नहीं हुई गिरफ्तारी तो अनिश्चितकालीन कलमबंद हड़ताल पर जायेंगे अधिकारी

इसे भी पढ़ेंः बीजेपी विधायक साधु चरण महतो ने सुबह में भू-अर्जन पदाधिकारी दीपू कुमार को दी धमकी और दोपहर में पीटा

इसे भी पढ़ेंः क्या रघुवर दास भी दिल्ली की तरह झारखंड में भी अफसर को पीटने वाले विधायक साधुचरण महतो को गिरफ्तार करायेंगे !

इसे भी पढ़ेंः ट्रेन में युवती से दुष्कर्म की घटना निकली झूठी, युवती ने सिस्टर के डर से रची थी दुष्कर्म की कहानी

प्रमाण पत्र फारवर्ड करने के लिए 100 रुपये घूस मांगा जाता है

विधायक ने सभी का ध्यान आकृष्ट कराते हुए कहा कि ये कहने लायक नहीं है. पिछले गुरुवार को अंचल में कोई महिला कर्मचारी है, उनके द्वारा प्रमाण पत्र फारवर्ड करने के लिए सौ रुपया घूस मांगा गया, कितना दुखद बात है. इस बात की शिकायत लेकर जब आवेदनकर्ता पहुंचा तो उस आदमी को देखकर हमने अपने पॉकेट से 100 रुपया दिया कि तुम जाकर काम करा लो. विधायक ने कहा पॉकेट में चेंज नहीं होने के बावजूद उन्होंने चेंज करवाकर दिया. कहा कि कितना दुर्भाग्य कि बात है. भगवान भी माफ नहीं करेंगे.

गुरुवार को ईचागढ़ के बीजेपी विधायक साधु चरण महतो ने भू-अर्जन पदाधिकारी को पीटा था

गौरतलब हो कि ईचागढ़ विधानसभा क्षेत्र के बीजेपी विधायक साधु चरण महतो ने सरायकेला के भू-अर्जन पदाधिकारी दीपू कुमार के साथ मारपीट की थी. सुबह करीब 10:30 मिनट पर साधु चरण महतो ने भू-अर्जन पदाधिकारी दीपू कुमार को फोन किया और कहा कि रघुनाथपुर में मुआवजा बांटने का कोई कैंप लगाए हो क्या. अधिकारी ने कहा कि डीसी का आदेश है, कैंप लगाकर मुआवजा बांटने का. इसलिए कैंप लगाया जा रहा है. इसपर विधायक आग बबूला हो गए और कहा कि आओ तुम वहां तुमको बंधवाते हैं. इतना ही नहीं विधायक ने कहा कि आज खूंटी की ही तरह तुम लोगों को बंधक बनाया जाएगा. अधिकारी लगातार जी सर...जी सर करते जा रहे थे. विधायक ने कहा कि मेरे क्षेत्र में ज्यादा अफसरगिरी मत करो. डीसी को भी बोल देना जो हम बोल रहे हैं. 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

स्वीकार है भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की खुली बहस वाली चुनौती : योगेंद्र प्रताप

लाठी के बल पर जनता की भावनाओं से खेल रही सरकार, पांच को विपक्ष का झारखंड बंद : हेमंत सोरेन   

सुप्रीम कोर्ट का आदेश : नहीं घटायी जायेंगी एमजीएम कॉलेज जमशेदपुर की मेडिकल सीट

मैट्रिक व इंटर में ही हो गये 2 लाख से ज्यादा बच्चे फेल, अभी तो आर्ट्स का रिजल्ट आना बाकी  

बीजेपी के किस एमपी को मिलेगा टिकट, किसका होगा पत्ता साफ? RSS बनायेगा भाजपा सांसदों का रिपोर्ट कार्ड

आतंकियों की आयी शामतः सीजफायर खत्म, ऑपरेशन ऑलआउट में दो आतंकी ढेर- सर्च ऑपरेशन जारी

दिल्ली: अनशन पर बैठे मंत्री सत्येंद्र जैन की बिगड़ी तबियत, आधी रात को अस्पताल में भर्ती

भूमि अधिग्रहण पर आजसू का झामुमो पर बड़ा हमला, मांगा पांच सवालों का जवाब

सूचना आयोग में अब वीडियो कांफ्रेंसिंग से होगी सुनवाई, मोबाइल ऐप से पेश कर सकते हैं दस्तावेज

झारखंड को उद्योगपतियों के हाथों में गिरवी रखने की कोशिश है संशोधित बिल  :  हेमंत सोरेन

जम्मू-कश्मीर : रविवार से आतंकियों व अलगाववादियों के खिलाफ शुरु हो सकता है बड़ा अभियान