19 अप्रैल 1975 को भारत ने पहला उपग्रह आर्यभट्ट अंतरिक्ष में लांच किया था

Publisher NEWSWING DatePublished Wed, 04/18/2018 - 17:57

NewDelhi :  अंतरिक्ष के क्षेत्र में भारत को आज एक महाशक्ति के रूप में देखा जाता है और बहुत से देश कम लागत में अपने उपग्रहों के प्रक्षेपण के लिए भारत पर निर्भर करते हैं.  देश के अंतरिक्ष के इस सफर में 19 अप्रैल का खास महत्व है. दरअसल 19 अप्रैल 1975 को भारत रूस की मदद से अपना पहला उपग्रह आर्यभट्ट लांच कर अंतरिक्ष युग में दाखिल हुआ. यह भारत का पहला वैज्ञानिक उपग्रह था. भारत और दुनिया के इतिहास में साल के इस 109वें दिन यानी 19 अप्रैल के नाम पर कई महत्वपूर्ण घटनाएं दर्ज हैं.  इनमें से कुछ का सिलसिलेवार ब्यौरा यहां दिया गया है.

इसे भी पढ़ें: वैज्ञानिकों ने किया चमत्कार, अब बनाया गायब होने वाला कपड़ा

19 अप्रैल को 1910 में हेली पुच्छल तारे को पहली बार देखा गया

19 अप्रैल 1451  को बहलोल लोदी ने दिल्ली पर कब्जा किया. 1770 में  कैप्टन जेम्स कुक आस्ट्रेलिया पहुंचने वाले पहले पश्चिमी व्यक्ति बने. 1775 में अमेरिकी क्रांति की शुरुआत हुई.  1910 में हेली पुच्छल तारे को पहली बार सामान्य रूप से देखा गया. 1919 में अमेरिका के लेस्ली इरविन ने पैराशूट से पहली बार छलांग लगाई. 1936 में  फिलिस्तीन में यहूदी विरोधी दंगे शुरू हुए. 1950 में श्यामा प्रसाद मुखर्जी केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा देने वाले पहले मंत्री बने. 1972 में  बांग्लादेश राष्ट्रमंडल का सदस्य बना. 1975 में भारत अपना पहला उपग्रह आर्यभट्ट लॉन्च कर अंतरिक्ष युग में दाखिल हुआ. यह भारत का पहला वैज्ञानिक उपग्रह था. 1989  में अफ्रीकी देश सिएरा लियोन ने गणतंत्र की घोषणा की. इसके अलावा 19 अप्रैल 2011  में क्यूबा के पूर्व राष्ट्रपति फिदेल कास्त्रो ने कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ क्यूबा की केन्द्रीय समिति में 45 वर्षों तक बने रहने के बाद इस्तीफा दिया था.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलोभी कर सकते हैं.