पीएनबी घोटालाः चिदंबरम के वक्त शुरू और जेटली के वक्त 50 गुना बढ़ा, डायरेक्टर को आवाज उठाने पर देना पड़ा इस्तीफा 

Publisher NEWSWING DatePublished Fri, 02/16/2018 - 19:58

New Delhi : पीएनबी बैंक घोटाले को देश का अब तक का सबसे बड़ा घोटाला माना जा रहा है. जिस वक्त से घोटाले का पार्दाफाश हुआ है, कई तरह की बातें सामने आ रही है. इलाहाबाद के पूर्व डायरेक्टर ने पीएनबी बैंक घोटाले को लेकर जो कहा है वो चौंकाने वाला है. पूर्व डायरेक्टर दिनेश दुबे ने कहा है कि घोटाले की जानकारी जैसे उन्हें हुई, उन्होंने आवाज उठानी शुरू की. लेकिन, उनकी आवाज को दबा दी गयी. उनका कहना है कि यूपीए काल से ही ये घोटाला होता आ रहा है. उस वक्त चिदंबरम वित्त मंत्री हुआ करते थे. उन्होंने ये भी कहा कि एनडीए काल में ये घोटाला 10 गुना से 50 गुना तक बढ़ गया. एनडीए काल के शुरुआत से ही अरुण जेटली वित्त मंत्री हैं.

इसे भी पढ़ें - कांग्रेस व केजरीवाल का आरोप, पीएनबी का 11,300 करोड़ लूटने वाला नीरव मोदी दावोस में पीएम नरेंद्र मोदी के साथ था

सरकार और आरबीआई को भेजी थी नोटिस

इलाहाबाद के पूर्व डायरेक्टर दिनेश दुबे ने कहा कि गीतांजलि ग्रुप को गलत तरीके से लोन देने के बारे में मैंने गीतांजलि जेम्स के खिलाफ 2013 में सरकार और RBI को डिसेन्ट नोट भेजा था, पर मुझे आदेश दिया गया कि इस लोन को अप्रूव करना है. मुझपर काफी दबाव डाला जाने लगा. दबाव की वजह से मुझे इस्तीफा देना पड़ा. श्री दुबे जो कह रहे हैं वो सारी बात चौंकाने वाली है. श्री दुबे ने यह भी कहा कि यूपीए सरकार से चला आ रहा घोटाला एनडीए सरकार में 10 गुना से 50 गुना बढ़ गया. उन्होंने कहा कि 2013 में शिकायत करने पर उन्हें वित्त सचिव ने ऊपरी दबाव की बात कहकर स्वतंत्र निदेशक पद से इस्तीफा देने को कहा दिया. दिनेश दुबे ने मीडिया के सामने कहा कि वो पीछे नहीं हटेंगे. वो सभी जांच एजेंसियों को सहयोग देने को हर वक्त तैयार हैं. श्री दूबे एक पत्रकार हैं और 2012 में उन्हें बैंक का स्वतंत्र निदेशक बनाया गया था.

इसे भी पढ़ें - मानवता हुई शर्मसार : डायन के आरोप में दो महिलाओं का सिर मुंडाकर पूरे गांव में घुमाया, मल-मूत्र भी पिलाया

रेवन्यू सेक्रेटरी ने कहा दुबे से सिर्फ एक बार मिला

दिनेश दुबे के दावों को लेकर रेवेन्यू सेक्रेटरी राजीव टकरु का बयान मीडिया में आया है. उन्होंने कहा कि दिनेश दुबे से वो सिर्फ एक बार मिले हैं. उनका कहना था कि दिनेश दुबे 2013 में उनके कार्यालय इस्तीफा देने गए थे. कहा कि उनके इस्तीफे की वजह यह थी कि वह किसी चीज से नाखुश थे. मैंने उनका इस्तीफा स्वीकार कर लिया था. मैंने उनसे कभी बात नहीं की.

 

इसे भी पढ़ें - डीजीपी साहेब देखिए, आपकी तरह आपके जवान भी गले में सांप लटका कर कानून तोड़ने लगे हैं...

पीएनबी में 8 और अधिकारी निलंबित

मामले की गंभीरता को देखते हुए पीएनबी घोटाले में आठ और अधिकारियों को निलंबित कर दिया है. इनमें एक अधिकारी महाप्रबंधक स्तर का है. बुधवार को यह घोटाला सामने आने के बाद बैंक ने 10 कर्मचारियों को निलंबित किया था. इस घोटाले में हीरे के आभूषण डिजाइनर नीरव मोदी ने पीएनबी की मुंबई शाखा से फर्जी साख पत्र हासिल किए और अन्य भारतीय बैंकों की विदेशी शाखाओं से कर्ज हासिल किया.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

सुप्रीम कोर्ट का आदेश : नहीं घटायी जायेंगी एमजीएम कॉलेज जमशेदपुर की मेडिकल सीट

मैट्रिक व इंटर में ही हो गये 2 लाख से ज्यादा बच्चे फेल, अभी तो आर्ट्स का रिजल्ट आना बाकी  

बीजेपी के किस एमपी को मिलेगा टिकट, किसका होगा पत्ता साफ? RSS बनायेगा भाजपा सांसदों का रिपोर्ट कार्ड

आतंकियों की आयी शामतः सीजफायर खत्म, ऑपरेशन ऑलआउट में दो आतंकी ढेर- सर्च ऑपरेशन जारी

दिल्ली: अनशन पर बैठे मंत्री सत्येंद्र जैन की बिगड़ी तबियत, आधी रात को अस्पताल में भर्ती

भूमि अधिग्रहण पर आजसू का झामुमो पर बड़ा हमला, मांगा पांच सवालों का जवाब

सूचना आयोग में अब वीडियो कांफ्रेंसिंग से होगी सुनवाई, मोबाइल ऐप से पेश कर सकते हैं दस्तावेज

झारखंड को उद्योगपतियों के हाथों में गिरवी रखने की कोशिश है संशोधित बिल  :  हेमंत सोरेन

जम्मू-कश्मीर : रविवार से आतंकियों व अलगाववादियों के खिलाफ शुरु हो सकता है बड़ा अभियान

उरीमारी रोजगार कमिटी की दबंगई, महिला के साथ की मारपीट व छेड़खानी, पांच हजार नगद भी ले गए

विपक्ष सहित छोटे राजनीतिक दलों को समाप्त करना चाहती है केंद्र सरकार : आप