पाकुड़ : न्यूज विंग की खबर का असर : मुफ्फसिल थानेदार ने मारपीट पीड़िता का एफआईआर दर्ज किया, दूसरे पक्ष की ओर से भी प्राथमिकी दर्ज कराई गई

Publisher ADMIN DatePublished Mon, 04/23/2018 - 19:28

Maqsood Alam

Pakur : जिला के मुफ्फसिल थाना क्षेत्र के गंधाईपुर के हरीगंज की जरीना बीबी मारपीट में घायल होकर अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रही है. पीड़िता के परिजन मुफ्फसिल थाना ने एफआईआर दर्ज  कराने गये, मगर एफआईआर दर्ज नहीं की गई थी. मामले की जानकारी जब न्यूज़ विंग टीम को हुई तो खबर का प्रकाशन न्यूज विंग में किया गया. खबर छपने के बाद प्रशासन हरकत में आया. हालांकि तीन दिन विलंब से एफआईआर दर्ज की गई. दूसरे पक्ष की ओर से भी एफआईआर दर्ज कराई गई है. अब सवाल उठता है कि जरीना बीबी के साथ मारपीट करने वाले आरोपियों ने काउंटर एफआईआर दर्ज कराया है. एफआईआर दर्ज कराने के लिए आरोपी भी थाना आये होंगे, मगर पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया, जिसके बाद लोग पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठाने लगे हैं.

इसे भी पढ़ें : पाकुड़ : जिंदगी और मौत से जूझ रही मारपीट पीड़िता, पुलिस ने केस दर्ज करने से किया मना, पीड़िता के बेटे को जेल में डालने की दी धमकी

जरीना बीबी के परिजनों को ही पुलिस ने जेल में डालने की दी थी धमकी

गंभीर रूप से घायल जरीना के पति और पुत्र जब शिकायत करने थाना पहुंचे थे तो उल्टे उन्हें जेल में डाल देने की धमकी मुफ्फसिल थाना में दी गई थी. लेकिन न्यूज़ विंग ने इस पूरे मामले को गंभीरता के साथ प्रकाशित किया, जिसके बाद पुलिस ने एफआईआर दर्ज किया. मगर मामले में एक और एफआईआर दर्ज की गई, जिसमें जरीना बीबी के परिजनों को आरोपी बनाया गया है. सूत्रों की मानें तो मुफ्फसिल थाने में हर एक मामले में दोनों पक्षों पर दबाव बनाकर नजराना वसूलते हुए समझौता करा देने का आरोप लगता रहा है. अब तो लोग मुफ्फसिल थाने को मुफ्फसिल इलाके का पंचायती भवन कहने लगे हैं.

हालांकि लालचंद शेख की शिकायत पर कांड संख्या 53/18 भादवि की धारा 341, 323, 325, 379, 34 आईपीसी के तहत तीन लोगों पर मामला दर्ज करवाया गया है. इधर दूसरे पक्ष सफेजन बीबी की शिकायत पर 54/18 भादवि की धारा 341, 323, 379, 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.