पलामू: भाजपा के राज में कांग्रेश की कार्रवाई, अवैध शराब कारोबारियों के छूट रहे पसीने

Submitted by NEWSWING on Wed, 01/10/2018 - 13:22

Daltonganj : झारखंड प्रदेश में भाजपा के रघुवर सरकार का राज है, लेकिन पलामू जिले में कांग्रेश की कार्रवाई चल रही है. आप सोच रहे होंगे कि भाजपा के राज में कांग्रेश की कार्रवाई कैसै हो सकती है. तो आपको बता दें कि जिले के उत्पाद विभाग में जब से अवर निरीक्षक कांग्रेश कुमार की पदस्थापना हुई है, तब से विभाग लगातार सफलता प्राप्त कर रहा है. कांग्रेश की कार्रवाई से हर दिन रिजल्ट सामने आ रहे हैं.

उत्पाद विभाग के रेड से सहमे अवैध शराब कारोबारी

कल तक उत्पाद विभाग से भय नहीं खाने वाले अवैध शराब कारोबारी अब कार्रवाई से सहमे नजर आ रहे हैं. सुदूर इलाकों में कार्रवाई से परहेज करने वाले उत्पाद कर्मी अब कांग्रेश के सहारे जंगलों की खाख छानते नजर आते हैं. हर दिन जावा महुआ के साथ-साथ महुआ शराब नष्ट की जा रही है. गिरफ्तारी और अभियोग दर्ज करने की कार्रवाई भी तेजी से हो रही है.

इसे भी पढ़ें- 514 युवकों को नक्सली बताकर सरेंडर कराने और सेना व पुलिस में नौकरी दिलाने के नाम पर एजेंट व अफसरों ने वसूले रुपयेः एनएचआरसी

दिसम्बर माह में उत्पाद विभाग की सफलता

पिछले साल 2017 के अंतिम महीने दिसम्बर में उत्पाद विभाग ने भारी सफलता हासिल की. अवैध चुलाई शराब 751 लीटर नष्ट की गयी, वहीं 7010 किलोग्राम जावा महुआ नष्ट किया गया. इसी तरह देशी शराब 1.6 लीटर, विदेशी शराब 6.96 लीटर और बीयर 2.6 लीटर जब्त किया गया. उत्पाद विभाग की सफलता यहीं तक नहीं रूकी, 10 शराब करोबारियों को सलाखों के पीछे भी भेजा, वहीं 26 फरार और 13 अज्ञात लोगों के खिलाफ 49 अभियोग दर्ज किये गये.

खोयी पहचान के लिए प्रयास तेज

लंबे समय बाद उत्पाद विभाग ने अपनी खोयी पहचान के लिए प्रयास तेज किया है. कुछ वर्ष पूर्व की कई घटनायों सामने आयी हैं कि उत्पाद विभाग को ही अवैध शराब कारोबारी खदेड़ देते थे, लेकिन पुलिस, गृहरक्षक और उत्पाद विभाग की तिकड़ी ने शराब कारोबारियों की नींव हिला कर रख दी है. वहीं कांग्रेश कुमार इसके पीछे टीम भावना और उत्पाद अधीक्षक के कुशल नेतृत्व को मानते हैं. उनका कहना है कि कई ऐसे इलाके हैं, जहां पुलिस और गृहरक्षकों से उन्हें भरपूर सहयोग मिला है, जिससे नतीजे सामने आये हैं. ऐसी भावना से ही समाज को गति दी जा सकती है. उन्होंने कहा कि जबतक वे पलामू में रहेंगे, उनकी कोशिश होगी कि शराब के अवैध कारोबारियों की कमर तोड़ कर रख दें.

इसे भी पढ़ें- 17 साल के झारखंड में पहली बार राजनीतिक नहीं बल्कि प्रशासनिक अस्थिरता

पलामू में महुआ शराब ने कुटीर उद्योग का रूप ले लिया है

पलामू जिले में महुआ शराब ने कुटीर उद्योग का रूप ले लिया है. जिले के ग्रामीण इलाके तो महुआ शराब बनाने के बड़े अड्डे के रूप में विख्यात हो गये हैं. बिहार की सीमा से सटे छत्तरपुर, नौडीहा बाजार, हरिहरगंजल और हुसैनाबाद अनुमंडल के हुसैनाबाद, हैदरनगर, मोहम्मदगंज में बड़े पैमाने पर महुआ शराब बनायी जा रही है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

City List of Jharkhand
loading...
Loading...