पलामू : डीसी ने की आपूर्ति विभाग की समीक्षा, सौ क्विंटल धान बेचने वाले किसानों की भूमि की होगी जांच

Publisher NEWSWING DatePublished Wed, 05/16/2018 - 19:26

Daltonganj : जिले में सौ क्विंटल से ज्यादा धान बेचने वाले किसानों के खेतों की जांच की जायेगी. इस वर्ष जिले में पांच हजार किसानों ने धान क्रय केंद्र पर धान बिक्री किया है, जिसमें करीब तीन हजार किसान वैसे हैं, जो सौ क्विंटल से ज्यादा बिक्री की है. वैसे किसान लाल कार्ड, अंत्योदय और पीएच का भी प्रयोग कर रहे हैं, वैसे किसानों की जोत भूमि की जांच कर कार्रवाई करने का निर्देश उपायुक्त अमित कुमार ने दिया.

 उन्होंने कहा कि जिले में राशन सुविधा का लाभ ससमय लाभुकों को मिले, अन्यथा संबंधित एमओ पर कार्रवाई की जायेगी. उन्होंने कहा कि जिले में 92 प्रतिशत लोगों का राशन कार्ड बन चुका है, लेकिन दुख इस बात की है कि बड़े लोगों का राशन कार्ड बन गया, जबकि गरीब तबके के लोग आज भी इससे वंचित हैं. इसके लिए जिला आपूर्ति पदाधिकारी को निर्देश दिया कि वे राशन कार्ड की सघन जांच करें और संपन्न लोगों का कार्ड रद्द करें और गरीबों का राशन कार्ड बनाएं.

इसे  भी पढ़ें - सबकी नजर सिर्फ आम्रपाली-मगध पर, अशोका, पिपरवार, पुरनाडीह व रोहिणी कोलियरी में भी होती है हर माह करीब 12 करोड़ की वसूली

तीन माह तक राशन नहीं उठाने वाले लाभुकों का कार्ड होगा रद्द

उपायुक्त ने जिला आपूर्ति पदाधिकारी को निर्देश दिया कि जो भी लाभुक तीन माह तक लगातार राशन का उठाव नहीं किए हो उनके कार्ड को जांच कर रद्द करने की कार्रवाई करें. बैठक में उपायुक्त ने जिला आपूर्ति पदाधिकारी को निर्देश दिया कि जिस प्रखंड में 92 प्रतिशत राशन कार्ड बने हैं, वहां के प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी से स्पष्टीकरण मांगा जाये कि क्यों नहीं उन एमओ के विरुद्ध कार्रवाई की जाये. क्योंकि जब 92 प्रतिशत राशन कार्ड बन गया है तो आज भी गरीब राशन कार्ड से क्यों वंचित हैं.

इसे  भी पढ़ें - हटाये गये गढ़वा एसपी मो. अर्शी, कोडरमा व साहेबगंज के एसपी का भी हुआ तबादला

बैठक से अनुपस्थित हुसैनाबाद और रामगढ़ अंचलाधिकारी सह प्रभारी एमओ से स्पष्टीकरण

वहीं दूसरी ओर बैठक में नहीं आने के कारण हुसैनाबाद और रामगढ़ अंचलाधिकारी सह प्रभारी एमओ से स्पष्टीकरण मांगने का निर्देश दिया. साथ ही जिन लाभुकों का राशन कार्ड में आधार सिडिंग नहीं हुआ है. उसका जून माह तक हर हाल में आधार सिडिंग कराने का आदेश जिला आपूर्ति पदाधिकारी को दिया.

बैठक में उपायुक्त ने एमओ को निर्देश दिया है कि वे गांवों में रसोई गैस लाभुकों की सूची जिला कार्यालय को उपलब्ध कराएं, ताकि उन्हें रसाई गैस उपलब्ध कराया जा सके. मौके पर जिला आपूर्ति पदाधिकारी अलर्बट विलुंग, एमओ देवेंद्र सिंह, अजीत कुजूर, राजेश पाठक सहित जिले के एमओ और आपूर्ति विभाग के कर्मी उपस्थित थे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

na