न्यूज विंग के खबर की हुई पुष्टि, पत्थलगड़ी वास्तविक लड़ाई नहीं, मामला अफीम का है : सीएम

Publisher NEWSWING DatePublished Sun, 03/04/2018 - 18:31

Ranchi : मुख्‍यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि सरकार और शासन के अंदर आज भी कुछ कमियां है, क्‍योंकि चौदह वर्षों की राजनीति में जनता को जो अपेक्षाएं थी, वह पूरी नहीं हुयी. लेकिन तीन साल के शासनकाल में जनता ने सरकार के नेक इरादों और सोच को देखा है. श्री दास रविवार को भाजपा के प्रदेश कार्यालय में संवाददाताओं को संबोधित कर रहे थे. उन्‍होंने कहा कि पत्‍थलगड़ी की कोई लड़ाई नहीं है, दरअसल में पूरा मामला 101 एकड़ में फैली अफीम की खेती से जुड़ा हुआ है. जिसमें कुछ लोग उग्रवादियों को संरक्षण देकर पत्‍थलगड़ी जैसी गतिविधियों में शामिल हैं. कहा कि विरोधी लोग गरीब और भोली-भाली जनता को भरमाने का काम कर रहें हैं.  उन्‍होंने कहा कि  व्‍यवस्‍था में कमिंयां हो सकती है, लेकिन दिल साफ होना चाहिए. हमारे पास खोने को कुछ भी नहीं.  सरकार विकास कार्य करने में विश्‍वास रखती है. उन्‍होंने कहा कि अबतक सरकारें किसी की भी रही हो, लेकिन राजनीतिक अस्थिरता होने के कारण ही विकास नहीं हो सका है.

न्यूज विंग ने एक मार्च को लिखा था पत्थलगड़ी के आड़ में अफीम की खेती

पत्थलगड़ी को लेकर मेन स्ट्रीम मीडिया में अलग-अलग तरह से खबरें की जा रही है. इस बीच एक मार्च को न्यूज विंग ने यह खबर प्रकाशित की थी कि खूटी में पत्थलगड़ी की आड़ में अफीम की खेती हो रही है. खबर में यह भी उल्लेख किया गया था कि अफीम की खेती की जानकारी क्षेत्र के सांसद, विधायक, मंत्री और पुलिस-प्रशासन के अधिकारियों को भी है. लेकिन सूचना रहने के बाद भी सही तरीके से कार्रवाई नहीं की जा रही है. इस तरह मुख्यमंत्री रघुर दास ने आज यह बयान देकर न्यूज विंग की खबर की पुष्टि कर दी है.

इसे भी पढ़ें - समाजसेवी मंगल सिंह मुंडा का आरोप: खूंटी में मंत्री, सांसद विधायक, पुलिस व प्रशासन की जानकारी में पत्थलगड़ी की आड़ में हो रहा है अफीम की खेती !

पूर्व सीएस मामले में सीएम ने दी सफाई

पूर्व सीएस राजबाला वर्मा को राजनीतिक सलाहकार बनाने से संबंधित एक अखबार में छपी खबर तथा डॉ त्रिभुवन प्रसाद वर्णवाल को मेडिकल काउंसिल बोर्ड का अध्‍यक्ष बनाने के सवाल पर सीएम ने कहा है बहुत दुख के साथ कहना पड़ता है कि अखबार ने जिस तरह से बातों को रखा है, वह गलत है. सरकार भी चाहती है कि मीडिया उसकी आलोचना को छापे, लेकिन अतथ्‍यात्‍मक बातें नहीं होनी चाहिए.  डेमोक्रेसी में विचार रखने का अधिकार सबको है, लेकिन बगैर सर-पांव की बातें नहीं होनी चाहिए.

इसे भी देखें-  केंद्रीय सूचना आयोग ने विदेश मंत्रालय से कहा, पीएम मोदी की विदेश यात्रा में इस्तेमाल चार्टर्ड विमान का बिल करें सार्वजनिक

तथ्‍यों को रखे मीडिया , 24 घंटे में लेंगे एक्‍शन 

मुख्‍यमंत्री ने कहा कि भाजपा सामूहिकता के साथ नीतियों के आधार पर चलती है. यहां एक आदमी का कोई निर्णय नहीं होता है. सरकार के पास बातों को छुपाने के लिये कुछ भी नहीं है. श्री दास ने कहा कि हर बात को तथ्‍यात्‍मक रूप से रखना चाहिए. सरकार आलोचना से नहीं डरती है. मीडिया तथ्‍य के आधार पर बातों को रखे.  सरकार उसपर 24 घंटे में एक्‍शन लेगी.

इसे भी पढ़ेंः  366 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाला हाईकोर्ट भवन का टेंडर आरके कंस्ट्रक्शन को देने के लिए दूसरी कंपनियों को गलत तर्क देकर अयोग्य बताया गया !

इसे भी पढ़ेंः मुख्य सचिव राजबाला मुश्किल में, आधार से राशन कार्ड जोड़ने का आदेश मामले में UIDAI ने दिया जांच कर कार्रवाई का निर्देश 

बगैर चीर फाड़ का इलाज करती है जनता इसका अहसास है : सीएम

सीएस के मुद्दे पर श्री दास ने कहा लोकतंत्र में जनता ही वास्‍तव में सब कुछ है. गलत सही क्‍या है, जनता सब कुछ जानती है. जनता स्‍वतंत्र होती है औेर समय आने पर जनता बिना चीर फाड़ का इलाज कर देती है और इसका अहसास उन्‍हें भी है. उन्‍होंने कहा कि घोषणा पत्र के अनुरुप ही राज्‍य सरकार अपना काम कर रही है.  घोषणा पत्र का वह बाईबल और कुरान या अन्‍य ग्रंथ से भी अधिक विश्‍वास करते हैं.  विगत तीन साल से घोषणाओं के अनुरुप ही सरकार काम कर रही है.

इसे भी पढ़ें- वर्ष 2018-19 के लिए 1.76 लाख करोड़ रुपये का बजट पेश, शिक्षा पर खर्च होंगे 32125 करोड़ रुपये

इसे भी पढ़ें- संरक्षण के चलते बच्चों को कुचलने वाले वाहन मालिक की गिरफ्तारी नहीं हुई - तेजस्वी

आरटीआई करें सबकुछ स्‍पष्‍ट होगा कहां कितनी नियुक्तियां 

मुख्‍यमंत्री ने आजसू के स्‍थानीय नीति की मांग और मंत्री सरयू राय से सरकार के वैचारिक मतभेद के सवाल पर कहा कि हर किसी को बात रखने का अधिकार है. दस रुपये में आरटीआई मांगा जाये, सबकुछ स्‍पष्‍ट हो जायेगा.  श्री दास ने कहा कि किस जिले में कितनी नियुक्तियां हुयी हैं, वह जिलावार तरीके से इन आंकड़ों को सदन में भी प्रस्तुत कर चुके हैं.

अब देश में नहीं चलेगी झूठ फरेब की राजनीति 

मुख्‍यमंत्री रघुवर दास ने कहा है कि देश में अब झूठ फरेब की राजनीति नहीं चलेगी. लोग विकास की राजनीति पर विश्‍वास करते हैं और जहां भी भाजपा की सरकार है वहां विकास की राजनीति हो रही है. त्रिपुरा, नागालैंड सहित अन्‍य राज्‍यों में भी जनता ने पीएम नरेन्‍द्र मोदी के विकास कार्य को देखते हुये भाजपा का साथ दिया. श्री दास ने  भाजपा प्रदेश कार्यालय में संवाददाताओं से कहा कि रघुवर सरकार रहे या न रहे, लेकिन राज्‍य यहीं रहेगा. गांवों  में आज भी गरीबों की क्‍या स्थिति है, यह किसी से छुपी नहीं है.  विगत कई सालों से झामुमो, कांग्रेस सहित कई अन्‍य नामधारी राजनीतिक दलों ने सिर्फ और सिर्फ लोगों को भरमाने का काम किया है.

इसे भी पढ़ें- पुलिस लाइन से गायब 200 जवान किये जायेंगे बर्खास्त

इसे भी पढ़ें- सिलेबस के बाहर से पूछा गया प्रश्न, फूटा विद्यार्थियों का गुस्सा, की गयी तोड़फोड़

देशभर में  सभी चुनाव हों एक साथ, विपक्ष दे साथ 

देशभर में एक साथ चुनाव कराने के पक्ष में मुख्‍यमंत्री ने कहा कि पीएम नरेन्‍द्र मोदी और भाजपा की अगुवाई में देशभर में सभी चुनाव एक साथ हों, लेकिन इसके लिये सभी दलों को एकजुट होना होगा.  श्री दास ने कहा कि भारत देश में एक साथ नगर निकाय चुनाव, विधान सभा चुनाव, लोक सभा चुनाव या अन्‍य चुनाव किये जाने से  विकास कार्य को गति मिलेगी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

डीबीटी की सोशल ऑडिट रिपोर्ट जारी, नगड़ी में 38 में से 36 ग्राम सभाओं ने डीबीटी को नकारा

इंजीनियर साहब! बताइये शिवलिंग तोड़ रहा कांके डैम साइड की पक्की सड़क या आपके ‘पाप’ से फट रही है धरती

देशद्रोह के आरोप में जेल में बंद रामो बिरुवा की मौत

मैं नरेंद्र मोदी की पत्नी वो मेरे रामः जशोदाबेन

दुनिया को 'रोग से निरोग' की राह दिखा रहा योग: मोदी

स्मार्ट मीटर खरीद के टेंडर को लेकर जेबीवीएनएल चेयरमैन से शिकायत, 40 फीसदी के बदले 700 फीसदी टेंडर वैल्यू तय किया

मोदी सरकार के मुख्य आर्थिक सलाहकार ने निजी कारणों से दिया इस्तीफा

बीसीसीआई अधिकारियों को सीओए की दो टूकः अपने खर्चे पर देखें मैच

टीटीपीएस गाथा : शीर्ष अधिकारी टीटीपीएस को चढ़ा रहे हैं सूली पर, प्लांट की परवाह नहीं, सबको है बस रिटायरमेंट का इंतजार (2)

धोनी की पत्नी को आखिर किससे है खतरा, मांग डाला आर्म्स लाइसेंस

हजारीबाग डीसी तबादला मामला : देखें कैसे बीजेपी के जिला अध्यक्ष कर रहे हैं कन्फर्म