भूषण सिंह हत्याकांड में तोरपा विधायक पौलुस सुरीन फरार, नहीं आ रहे विधानसभा

Publisher NEWSWING DatePublished Thu, 01/18/2018 - 12:42

- पुलिस के एसपीओ थे भूषण सिंह

Khunti: खूंटी के तोरपा विधानसभा क्षेत्र से झामुमो के विधायक पौलुस सुरीन  विधानसभा सत्र में हिस्सा नहीं रहे हैं. पता चला है कि पोलूष सुरीन गिरफ्तारी के डर से विधानसभा नहीं आ रहें हैं. सूत्रों के मुताबिक कर्रा के भूषण सिंह हत्याकांड में हाईकोर्ट से पौलुस सुरीन  का बेल रिजेक्ट हो गया है. जिसके बाद पुलिस रिकॉर्ड में वह वांटेड हो गए हैं.

इसे भी पढ़ें - लातेहार : पुलिस और जेजेएसपी में हुए मुठभेड़ में कुख्यात उग्रवादी गुड्डू यादव ढ़ेर, इलाके में सर्च अभियान जारी (देखें वीडियो)    

वर्ष 2013 में भूषण सिंह की हत्या हुई थी. भूषण सिंह पुलिस का एसपीओ (स्पेशल पुलिस अफसर) थे. उनकी हत्या के बाद भूषण सिंह के भाई कमानी सिंह ने कर्रा थाना में प्राथमिकी दर्ज करायी थी. प्राथमिकी में आरोप लगाया गया था कि विधायक पौलुस सुरीन  के इशारे पर ही पीएलएफआई के उग्रवादियों ने भूषण सिंह की हत्या की.  घटना में पीएलएफआई के सुप्रीमो दिनेश गोप, सबजोनल कमांडर जिदन गुड़िया समेत अन्य उग्रवादियों का हाथ बताया गया था. प्राथमिकी में कहा गया था कि विधायक की भूषण से पुरानी दुश्मनी चल रही थी. विधायक ने भूषण सिंह को जान से मारने की धमकी भी दी थी. मामले में पुलिस ने पीएलएफआई के उग्रवादियों के अलावा विधायक पौलुस सुरीन  के खिलाफ भी चार्जशीट दाखिल की थी. 

इसे भी पढ़ें - 17 सालों में सिर्फ 429 दिन ही चला सदन, फिर भी विधानसभा की कार्यशाला में पहुंचे 81 में से सिर्फ 19 विधायक

गांव के कई लोगों पर भी लगा था हत्या का आरोप

भूषण सिंह के भाई कमानी सिंह ने घटना के बाद पुलिस को बताया था कि पीएलएफआई सुप्रीमो दिनेश गोप ने सब जोनल कमांडर जेठा कच्छप, तिलेश्वर गोप और जीदन गुड़िया के साथ मिलकर भूषण की हत्या की. कमानी सिंह ने गांव के ही चामा उरांव, उसकी पत्नी मिजिंग उराईन, बेटी सुनीता, मुखिया लक्ष्मी देवी व मोती देवी को भी हत्याकांड का साजिशकर्ता बताया था. घटना के बाद प्राथमिकी दर्ज किए जाने के बाद विधायकपौलुस सुरीन  ने खुद को  निर्दोष बताते हुए उस वक्त कहा था कि उन्हें भाजपा नेताओं के इशारे पर फंसाया गया है. 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.