किडनैपिंग मामले में पुलिस को मिली कामयाबी : तीन दिनों के अंदर अपहृत विवेक को अपराधियों के चंगुल से छुड़ाया

Publisher NEWSWING DatePublished Tue, 04/10/2018 - 20:33

पुलिस ने अपहर्ताओं के चंगुल से विवेक को कराया आजाद

Garhwa : गढ़वा पुलिस को अपहरण कांड में अहम कामयाबी हाथ लगी है. 8 अप्रैल को गढ़वा रेलवे स्टेशन से अगवा कर लिये गए विवेक मिश्रा को पुलिस ने तीन दिनों अंदर मंगलवार को अपहर्ताओं के चंगुल से छुड़ा लिया. पुलिस ने रंका थाना के एक गाँव रोहिल्ला से विवेक को मुक्त कराया. बताया जा रहा है कि अपहर्ताओं ने विवेक की सुरक्षित रिहाई के एवज में 20 लाख रुपये की फिरौती  मांगी थी. इस मामले में गढ़वा एसपी मोहम्मद अर्शी ने कहा कि जब अपहरणकर्ता राहुल पांडे चिनिया रोड में फिरौती की रकम लेने पहुंचा तो पहले से ही घात लगाये बैठी पुलिस ने उसे पकड़ लिया. पुलिस पहले ही जाल बिछाये बैठी थी. ज्योंही ही अपहरणकर्ता चीनया रोड पर पहुँचा, पुलिस ने बिना एक पल गंवाए उसे दबोच लिया. पकड़े गए अपराधी की निशानदेही पर रंका थाने के रोहिल्ला गांव के एक घर से अपहृत विवेक को पुलिस ने मुक्त कराया साथ ही तीन अपहर्ताओं को भी गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने उनसे पांच सेल फोन जब्त किए.

इसे भी देखें- सरकारी विभागों के कुल 3,78,816 पदों में 1,61,881 खाली, जानिए किन विभागों में कितने कर्मचारियों की है कमी

विवेक
अपहर्ताओं के चंगुल से आजाद विवेक

मांगी गई थी 20 लाख की फिरौती

एस पी ने बताया कि पीड़ित विवेक मिश्रा भवनाथपुर गांव के निवासी हैं, जो रांची में मेडिका अस्पताल में फार्मासिस्ट के रूप में काम करते हैं. वह 7 अप्रैल को ट्रेन से रांची से गढ़वा तक आ रहे थे. जब वे गढ़वा स्टेशन से बाहर आए तभी चार अपराधियों ने उन्हें इंडिका कार द्वारा अपहरण कर लिया और रोहिल्ला गाँव के कच्चे मकान में बन्द कर दिया. वह मकान अपराधी रितेश यादव का भंडार है. पीड़ित के मोबाइल के जरिये उसके पिता से अपहरणकर्ताओं ने 20 लाख रुपये की फिरौती की मांग की थी. दूसरी तरफ जब विवेक अपने घर 8 अप्रैल को नहीं पहुंचे तो उनके पिता रमेश चंद्र मिश्रा ने भवनाथपुर थाने में अज्ञात के विरुद्ध अपहरण की प्राथमिकी दर्ज करायी थी.

इसे भी देखें- हेमंत का हमला : कहा- रघुवर दास सीएम नहीं, दिल्ली के लठैत और माफियाओं के संरक्षक हैं

प्राथमिकी के बाद एसपी ने एसडीपीओ रंका विजय कुमार की अध्यक्षता एक टीम बनाई, जिसने अपहृत विवेक को सुरक्षित अपहरणकर्ताओं के चंगुल से आजाद कराया. गिरफ्तार किए गए अपहर्ताओं की पहचान राहुल पांडेय उर्फ़ लुलू पांडेय, सुधाकर तिवारी, अनूप और रितेश यादव के रुप में हुई है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

City List of Jharkhand
loading...
Loading...