घटवार-घटवाल को अनुसूचित जनजाति में शामिल करने पर बोले रघुवर - कांग्रेस ने किया बाहर, हम करेंगे शामिल

Publisher NEWSWING DatePublished Fri, 03/16/2018 - 09:34

Dumka : घटवार-घटवाल जाति को अनुसूचित जनजाति में शामिल करने की मांग को लेकर गुरुवार को सीएम रघुवर दास ने कहा कि सरकार इसके लिये गंभीर है. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि इसके लिये उन्होंने कार्मिक विभाग को आदेश भी दे दिया है. यह आदेश उन्होंने 18 जनवरी को ही दे दिया था. घटवार-घटवाल समाज का दो महीने के अंदर टीआरआइ आर्थिक व समाजिक सर्वेक्षण कर लेगा. वहीं भूल सुधार के लिये टीआरआइ की रिपोर्ट को कैबिनेट में पारित होने बाद केंद्र सरकार को भेज दिया जायेगा. रघुवर दास ने उक्त बातें अखिल भारतीय आदिम जनजाति समूह संघर्ष मोरचा  के 19वें स्थापना दिवस पर सरैयाहाट के स्कूल मैदान में आयोजित जनसभा में कही.

इसे भी पढ़ें- कौन बनेगा कोल इंडिया का चैयरमैन !

कांग्रेस को रघुवर ने ठहराया जिम्मेदार

सीएम रघुवर दास ने कहा कि 1952 में घटवार-घटवाल अनुसूचित जनजाति को बिना किसी कारण के हटा दिया गया था. और इसके लिये कांग्रेस जिम्मेदार है. कांग्रेस ने कभी भी इसमें सुधार की कोशिश नहीं की. जबकि वह आजादी के बाद साठ सात तक सत्ता में रही. रघुवर ने कहा कि 2004 में जब वह भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष थे तब भी उन्होंने इसके लिये काफी कोशिश की थी.

इसे भी पढ़ें- सीएम को शिकायत सहित भेजा 10 लाख का चेक : शिकायतकर्ता की चुनौती-बात झूठ निकले तो रख लें पूरी राशि

क्षेत्र के कुछ लोग विकास नहीं चाहते : सीएम

इस दौरान सीएम ने कहा की इस क्षेत्र में कुछ लोग ऐसे भी है जो विकास नहीं चाहते हैं. उन्होंने यह आरोप क्षेत्र के विधायक व झाविमो नेता प्रदीप यादव का नाम लिये बिना ही उनपर जमकर निशाना साधा. उन्होंने उनपर गरीब विरोधी व विकास विरोधी होने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि वह गरीब को गरीब ही बनाये रखना चाहते हैं. इसलिये उन्हें आनेवाले चुनाव में विधायक को ऐसे हराये कि उनकी जमानत ही जब्त हो जाये. हमारी सरकार चाहती है कि घटवार-घटवाल समाज को इस क्षेत्र से जन प्रतिनिधित्व का अवसर मिले इसलिये पिछली बार पार्टी ने इस समाज के नेता को मौका भी दिया था.

इसे भी पढ़ें- उज्‍जवला योजना : 45 दिनों 15 लाख लाभुकों को गैस कनेक्‍शन, 2 महीने में 312 नये एलपीजी डीलर का लक्ष्‍य -रघुवर दास     

सीएम के खिलाफ नारेबाजी

इधर एक तरफ जहां सीएम रघुवर दास क्षेत्र के विधायक पर आरोप लगा रहे थे. वहीं दूसरी ओर उनके भाषण के बाद कुछ लोग सीएम के खिलाफ नारेबाजी करने लगे. जिन लोगों ने सीएम का विरोध किया उनमें से ज्यादातर युवा थे. सीएम के विरोध में उन्होंने कहा कि वो जुमलेबाजी ना करें. वो आये हैं तो घोषणा करें क्योंकि घटवार-घटवाल जनजाति को लंबे समय से ठगा जा रहा है. वहीं विरोध करते-करते सभी उस मैदान के गेट के पास जमीन पर लेट गये जहां सीएम का भाषण चल रहा था. सुरक्षाकर्मियों व पुलिस ने जब उन्हें ऐसा करने से रोका तो उनके बीच धक्का-मुक्की की स्थिति भी पैदा हो गयी थी. हांलाकि सीएम के निकलते वक्त तक उनके खिलाफ विरोध पर काबू पा लिया गया था.

City List of Jharkhand
loading...
Loading...