रिश्ते के मौसेरे जीजा ने पहले बनाया अवैध संबंध, फिर गला दबाकर मार डाला

Publisher NEWSWING DatePublished Thu, 04/12/2018 - 21:13

Pakur : 17 वर्षीय राधा की निर्मम हत्त्या कर शव को आग लगाकर जला दिए जाने मामले में पुलिस ने गोड्डा जिला के महगामा थाना क्षेत्र के सुकलचर गांव निवासी शिवशंकर भगत को गिरफ्तार किया है. एसपी शैलेन्द्र प्रसाद बर्णवाल ने पत्रकारों को जानकारी देते हुए बताया कि आरोपी बीते 10 अप्रैल को अहले सुबह हिरणपुर थाना क्षेत्र के मारेडीह के जंगल में जला हुआ एक युवती का शव होने की सूचना पुलिस को मिली थी. शव को जब्त करते हुए पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेजा गया था. शव की पहचान हेतु सीमावर्ती जिला के कोटालपोखर थाना से भी संर्पक किया गया था. कोटालपोखर थाना प्रभारी द्वारा बताया गया कि कोटालपोखर की एक बच्ची की गुमशुदगी का मामला सामने आया है. इसके बाद बच्ची के परिजनों से संपर्क कर अधजले शव को दिखाया गया. मृतका के पिता दीनानाथ भगत और उनके भाई रितेश भगत ने पैर में पहनी हुई जूती और हाथ में पहनी हुई बाला से शिनाख्त की.

कैसे घटी घटना ?

मृतका राधा कुमारी प्रत्येक दिन की तरह 9 अप्रैल को भी कंप्यूटर क्लास के लिए घर से निकली थी. पाकुड़ में कंप्यूटर क्लास के बाद अपने दो मित्रों के साथ बाहर निकली, जहां मोटरसाइकिल पर उसका मौसेरा जीजा शिवशंकर भगत इन्तजार कर रहा था. राधा ने अपने मित्रों से कहा कि वह अपनी बहन के यहां जा रही है. और इसके बाद वह शिवशंकर के मोटरसाइकिल पर बैठ गई. दोनों ने कुछ देर के लिए काली भसान स्थित एक मंदिर में कुछ देर के लिए बैठकर बातचीत की और इसके बाद मोटरसाइकिल से ही दोनों घटना स्थल के लिए रवाना हो गए. वहां दोनों में किसी बात को लेकर कहा सुनी हुई उसके बाद शिवशंकर ने गला दबाकर उसकी हत्या कर दी. बाद में सुबह में आकर उसने शव को जला दिया.

इसे भी देखें- भाजपा प्रत्‍याशी आशा लकड़ा और संजीव विजयवर्गीय के लिए सीधे वोट नहीं मांग सके राज्‍यसभा सांसद महेश पोद्दार

दोनों में था अवैध संबंध

पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दोनों जीजा साली में पिछले डेढ़ वर्षों से अवैध संबंध कायम थे. मंदिर में बातचीत के दौरान लड़की ने ही संबंध बनाने के लिए अपने जीजा पर घटना स्थल पर जाने के लिए दबाव डाला था. जहाँ सम्बन्ध बनाने के बाद लड़की ने अपने जीजा पर शादी करने का दबाव डाला. जब जीजा ने उससे यह कहा कि उसके दो बच्चे भी है और वह पूर्व से उसकी मौसेरी बहन के साथ शादी कर चुका है ऐसे में विवाह करना सम्भव नही. लेकिन वह उसे बिना शादी के ही पत्नी की तरह दूसरी जगह रखेगा.

इस तरह हो गई हत्त्या

जीजा के द्वारा शादी से इनकार करने पर जीजा का मोबाइल छीन लिया और अपने फोटोग्राफ्स डिलीट करने लगी. इसी में शिवशंकर ने उसके हाथ से वापस मोबाइल छीन लिया. राधा ने गुस्से में शिवशंकर की गर्दन को पकड़ लिया. शिवशंकर ने भी राधा के गले को जोर से पकड़ा दोनों ने एक दूसरे का गला दबाना शुरू कर दिया. लेकिन शिवशंकर की मजबूत पकड़ के कारण राधा की मौत हो गई. बदहवास शिवशंकर उसे वहीं छोड़कर अपने घर महगामा भाग गया. राधा की हत्या के बाद शिवशंकर महगामा तो भाग गया लेकिन राधा के शव की शिनाख्त होते ही अपने पकड़े जाने के भय ने उसे रातभर नींद नहीं आई. रात में ही ढाई बजे वह फिर वापस आया सुबह पांच बजे उसने हिरणपुर के तारापुर से तेल खरीदा तोड़ाई से उसने माचिस ली. उसके बाद जंगल मे घटना स्थल पर पड़े राधा के शव पर सूखे पत्ते और तेल डालकर आग लगा दी. और वापस महगामा भाग गया.

इसे भी देखें- खबरें कोर्ट की : दुमका कोषागार मामले में सात अभियुक्तों की ओर से हुई बहस, कम सजा देने की लगाई गुहार

क्या-क्या हुआ बरामद ?

पुलिस ने छापेमारी के दौरान शिवशंकर के घर से राधा का सैमसंग डोस मोबाइल सेट और जे टू सैमसंग मोबाईल सेट बरामद किया है. अभियुक्त शिवशंकर भगत का भी एक वीवो फाइव मोबाइल सेट पुलिस के हाथ लगी है. आरोपी का मोटरसाइकिल भी पुलिस ने जब्त किया है. आरोपी की निशानदेही पर घटना स्थल से सौ गज की दूरी पर एक तेल का बोतल, एक माचिस भी बरामद हुआ है. छापेमारी दल में एसडीपीओ श्रवण कुमार, पुलिस निरीक्षक रामचंद्र राम, पुलिस अवर निरीक्षक अवधेश कुमार,सोहराब खान एवं एएसआई मोहन दास मौजूद थे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

City List of Jharkhand
loading...
Loading...