साहेबगंजः जर्जर स्कूल भवन की गिरी छत, बाल-बाल बचे बच्चे

Publisher NEWSWING DatePublished Mon, 05/14/2018 - 13:09

Sahebgunj: कहने को तो झारखंड सरकार शिक्षा और स्वास्थ्य व्यवस्था पर विशेष ध्यान दे रही है. सुदूर इलाकों में शिक्षा का अलख जगाने के नाम पर कई योजनाएं भी चल रही हैं. लेकिन हकीकत ये है कि आज भी सूबे में शिक्षा व्यवस्था की हालत खस्ता है. कहीं शिक्षकों की कमी का रोना है को कहीं स्कूल का भवन नहीं है. कहीं भवन है तो ऐसी जर्जर हालत में कभी भी गिर जाये, लेकिन बच्चे ऐसे ही खस्ताहाल भवनों में पढ़ाई करते हैं, जो कभी भी बड़े हादसे का गवाह बन सकता है. ऐसा ही एक हादसा साहेबगंज के राजमहल प्रखंड अंतर्गत प्राथमिक विद्यालय जयरामपुर में हुआ. जहां स्कूल की जर्जर छत गिर गयी. खैरियत की बात ये थी कि हादसा उस वक्त हुआ, जब क्लास शुरु नहीं हुआ था. दरअसल छात्र प्रार्थना के लिए स्कूल के बरामदे में जमा हुए थे.

इसे भी पढ़ेंःहजारीबाग : CISF के जवानों ने दो आदिवासी मजदूरों को पीटकर तोड़ा उनका हाथ

अभिभावकों ने जताया विरोध

FDG
घटना पर विरोध दर्ज कराते अभिभावक

मिली जानकारी के मुताबिक, स्कूल के एक कमरे की छत का एक टुकड़ा जोरदार आवाज के साथ, जमीन पर आ गिरा. जिसके बाद छात्रों में दहशत का माहौल देखा गया. घटना की जानकारी होने के बाद ग्रामीण भी स्कूल के पास जमा हो गये और मामले को लेकर विरोध जताया. अभिभावक अपने बच्चों को साथ ले गये. उनका कहना है कि जबतक स्कूल की मरम्मत नहीं होती है, वो बच्चों को विद्यालय नहीं भेजेंगे.

FGHFJH

ग्रामीणों की मांग है कि विद्यालय को तोड़कर नया भवन बनाया जाये, या फिर बगल के स्कूल में विद्यार्थियों को शिफ्ट किया जाए. स्कूल का प्रचार्य राजेश रजक ने बताया की विभागीय पदाधिकारी को पहले भी स्कूल भवन के जर्जर होने की जानकारी दी गयी थी. वही सोमवार की घटना से भी अवगत कराया गया है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

na