सरायकेला खरसावां : ईवीएम में जेएमएम के अधूरे चुनाव चिन्‍ह पर लोगों ने किया हंगामा, उपाध्यक्ष का चुनाव रद्द

Publisher NEWSWING DatePublished Mon, 04/16/2018 - 11:31

Saraikela: झारखंड में सोमवार को जनता शहर की सरकार चुन रही है. राज्य के 34 नगर निकायों जिसमें पांच नगर निगम, 16 नगर परिषद और 13 नगर पंचायत के लिये सुबह सात बजे से ही ही वोटिंग शुरू हो गयी है, वोटिंग शाम के 5 बजे तक जारी रहेगीइसके अलावा चार निकायों में उपचुनाव भी होने हैंहालांकि कई वार्डों से ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायत लगातार सुनने को मिल रही हैं. इसी बीच सरायकेला खरसावां के कपाली नगर निकाय चुनाव के दौरान बूथों पर मतदाताओं ने हंगामा करना शुरू कर दिय़ा. जिससे सुबह के आठ बजे तक मतदान शुरू नहीं हो पाया था.

इसे भी पढ़ें - नगर निकाय चुनाव: रांची के बूथों पर दिख रही अव्यवस्था, ईवीएम खराब होने के कारण लौटे वोटर्स

ईवीएम को लेकर लोगों ने किया हंगामा

दरअसल सरायकेला खरसावां के कपाली नगर निकाय चुनाव में ईवीएम में जेएमएम का चुनाव चिन्ह नहीं दिख रहा है. मशीन में जेएमएम के चुनाव चिन्ह तीर धनुष की जगह सिर्फ तीर दिख रहा है. जिससे वोट डालने पहुंचे मतदाताओं ने हंगामा शुरू कर दिया. इसी बीच करीब साढ़े नौ बजे सरायकेला खरसावां के कपाली नगर निकाय चुनाव में उपाध्‍यक्ष के पद पर हो रहे चुनाव को रद्द् कर दिया गया. इसकी जानकारी ऑब्‍जर्वर आलोक कुमार ने दी. साथ ही उन्होंने सभी 21 बूथों पर उपाध्यक्ष पद के चुनाव के रद्द किया जाने की पुष्टी की. चूंकि यहां के बूथों पर लगे ईवीएम में जेएमएम का चुनाव चिन्‍ह अधूरा था. वहीं उपाध्यक्ष पद के चुनाव रद्द् किया जाने की पुष्टी मुख्य निर्वाचन आयुक्त एनएन पांडेय ने भी की है. उन्होंने कहा कि उपाध्यक्ष पद को छोड़कर बाकी सभी पदों के लिए मतदान जारी है.

सुप्रीयो भट्टाचार्य ने सरायकेला-खरसावां के कपाली नगर परिषद में उपाध्यक्ष पद के चुनाव को रद्द् करने की मांग की

सुप्रियो भट्टाचार्य द्वारा लिखा गया पत्र
सुप्रियो भट्टाचार्य द्वारा लिखा गया पत्र

जेएमएम पार्टी के महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने राज्य निर्वाचन आयोग को पार्टी की ओर से एक पत्र लिखकर सरायकेला-खरसावां के कपाली नगर परिषद में उपाध्यक्ष पद के चुनाव को रद्द् करने की मांग की है. उन्होंने लिखा है कि ईवीएम में जेएमएम के उपाध्यक्ष प्रत्याशी परवेज आलम के नाम के समक्ष जो चुनाव चिन्ह दिया गया है, उसमें पार्टी चिन्ह तीर कमान के बचाय सिर्फ तीर का निशान दिया गया है. जिससे मतदाताओं के बीच भ्रम की स्थिति है और इससे निष्पक्ष चुनाव की प्रक्रिया को लेकर पार्टी को संदेह है.

सुप्रियो भट्टाचार्य ने पत्र के माध्यम से उपाध्यक्ष के चुनाव को रद्द् करने का अनुरोध किया है. साथ ही कहा है कि चुनाव चिन्ह सही तरीके से छपवाकर फिर से मतदान कराये जाएं, जिससे लोगों के बीच निष्पक्ष चुनाव कराने को लेकर विश्वास कायम रहे.

इसे भी पढ़ें -जिला प्रशासन ने ड्यूटी पर आये कर्मचारियों को नहीं दिया चुनाव खर्च, कहा – समझ लिजिये श्रमदान किया

11 बजे तक वोटिंग का प्रतिशत

रांची- 19%

लातेहार- 32.55%

दुमका- 26.44%

बासुकीनाथ- 40.08%

मधुपुर-31.07%

चतरा-29.41%

आदित्यपुर-28.00%

हजारीबाग-21%

झुमरीतिलैया - 29.44%

डोमचांच- 28.50%

बोकारो- 27%

गोड्डा- 29%

गिरिडीह- 24.94%

मधुपुर- 31.07%

गुमला- 29%

सिमडेगा- 28.85%

सरायकेला- 30%

आज के चुनाव में कुल  22,12,137 मतदाता हैं , जो 4602 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे. महापौर/अध्यक्ष के 34 पदों के लिए कुल मिलाकर 278 उम्मीदवार मैदान में हैं. जिनमें से 122 उम्मीदवार महिलायें हैं. इसके साथ ही उप महापौर/उपाध्यक्ष के भी 34 पदों के लिए कुल 320 प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं और इनमें 23 महिलाएं  हैं. वही मतदाताओं में भी खासा जोश देखा जा रहा है. लोग सुबह से ही कतार में लगकर अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलोभी कर सकते हैं.

7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

मैं नरेंद्र मोदी की पत्नी वो मेरे रामः जशोदाबेन

दुनिया को 'रोग से निरोग' की राह दिखा रहा योग: मोदी

स्मार्ट मीटर खरीद के टेंडर को लेकर जेबीवीएनएल चेयरमैन से शिकायत, 40 फीसदी के बदले 700 फीसदी टेंडर वैल्यू तय किया

मोदी सरकार के मुख्य आर्थिक सलाहकार ने निजी कारणों से दिया इस्तीफा

बीसीसीआई अधिकारियों को सीओए की दो टूकः अपने खर्चे पर देखें मैच

टीटीपीएस गाथा : शीर्ष अधिकारी टीटीपीएस को चढ़ा रहे हैं सूली पर, प्लांट की परवाह नहीं, सबको है बस रिटायरमेंट का इंतजार (2)

धोनी की पत्नी को आखिर किससे है खतरा, मांग डाला आर्म्स लाइसेंस

हजारीबाग डीसी तबादला मामला : देखें कैसे बीजेपी के जिला अध्यक्ष कर रहे हैं कन्फर्म  

न्यूज विंग की खबर का असर :  फर्जी  शिक्षक नियुक्ति मामले में तत्कालीन डीएसई दोषी करार 

बिजली बिल के डिजिटल पेमेंट से मिलता है कैशबैक, JBVNL नहीं शुरू कर पायी है डिजिटल पेमेंट की व्यवस्था

स्वीकार है भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की खुली बहस वाली चुनौती : योगेंद्र प्रताप