शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 61 अंक गिरा, रुपया 25 पैसे लुढ़का

Publisher NEWSWING DatePublished Wed, 05/23/2018 - 11:27

Mumbai : विदेशी निवेशकों की निरंतर पूंजी निकासी के बीच धातु , रीयल्टी , ऊर्जा और वाहन कंपनियों के शेयरों में भारी बिकवाली से मंगलवार को शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स करीब 61 अंक गिर गया. चीन के साथ द्विपक्षीय वार्ता को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बयान के बाद एशियाई बाजारों में गिरावट का रुख रहा. ट्रंप ने कहा कि चीन के साथ हुई द्विपक्षीय वार्ता से वह संतुष्ट नहीं हैं. इस बीच , मंगलवार को चीन ने कुछ वाहनों पर शुल्क को 25 प्रतिशत से घटाकर 15 प्रतिशत करने की घोषणा की है. डॉलर के मुकाबले रुपये में कमजोरी से भी गिरावट रही.

इसे भी पढ़ें- राज्यकर्मियों के लिए खुशखबरी,  प्रोन्नति पर लगी रोक हटी, आदेश जारी

10,516.90 अंक पर रहा निफ्टी

बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक बुधवार को शुरुआती कारोबार में 60.79 अंक यानी 0.17 प्रतिशत गिरकर 34,590.45 अंक पर रहा. सेंसेक्स मंगलवार के कारोबारी दिन में 35.11 अंक चढ़ा था. वहीं , नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी शुरुआती दौर में 19.80 अंक यानी 0.18 प्रतिशत गिरकर 10,516.90 अंक पर रहा. ब्रोकरों ने कहा कि निरंतर पूंजी प्रवाह के बीच किसी भी तरह का सकारात्मक रुख नहीं मिलने से गिरावट रही.

इसे भी पढ़ें- आर्चबिशप अनिल कुटो की ईसाई धर्मावलंबियो से अपील- लोकतंत्र बचाने के लिये हर शुक्रवार रखें व्रत

एशियाई बाजारों का हाल

अस्थायी आंकड़ों के मुताबिक, मंगलवार को विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने 1,651.63 करोड़ रुपये के शेयर बेचे जबकि घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 1,496.83 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे. एशियाई बाजारों में , शुरुआती कारोबार में जापान का निक्केई सूचकांक 1.08 प्रतिशत और हांग कांग का हेंग सेंग सूचकांक 1.08 प्रतिशत गिरा. शंघाई कंपोजिट सूचकांक भी 0.89 प्रतिशत टूटा. अमेरिका का डाउ जोंस इंडस्ट्रियल एवरेज कल कारोबार की समाप्ति तक 0.72 प्रतिशत गिरा.

इसे भी पढ़ें- धनबाद में पीएमः सरकारी कर्मियों को कार्यक्रम में मौजूद रहने का फरमान, डीसी ने कहा, ‘जो लिखना है लिख दें, फर्क नहीं पड़ता,’ पीएम के दौरे के विरोध में मुखिया रखेंगे उपवास

रुपया 16 महीने के निम्न स्तर पर, डॉलर के मुकाबले 25 पैसे लुढ़का

अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व की नीतिगत बैठक के नतीजों से पहले बुधवार को शुरुआती कारोबार में डॉलर के मुकाबले रुपया 25 पैसे गिरकर 16 महीने के नए निम्न स्तर 68.29 रुपये प्रति डॉलर पर आ गया. मुद्रा डीलरों ने कहा कि लगातार जारी पूंजी निकासी के बीच अन्य प्रमुख विदेशी मुद्राओं के मुकाबले डॉलर में मजबूती से रुपये में गिरावट देखी गयी. इसके अलावा , घरेलू शेयर बाजार में शुरुआती गिरावट और निर्यातकों से अमेरिकी मुद्रा की मांग आने से भी रुपये पर दबाव बना. मंगलवार के कारोबारी दिन में डॉलर के मुकाबले रुपया 8 पैसे मजबूत होकर 68.04 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ था.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

na
7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

सरकार जमीन अधिग्रहण करेगी और व्यापक जनहित नाम पर जमीन का उपयोग पूंजीपति करेगें : रश्मि कात्यायन

नोटबंदी के दौरान अमित शाह के बैंक ने देश भर के तमाम जिला सहकारी बैंक के मुकाबले सबसे ज्यादा प्रतिबंधित नोट एकत्र किए: आरटीआई जवाब

एसपी जया राय ने रंजीत मंडल से कहा था – तुम्हें बच्चे की कसम, बदल दो बयान, कह दो महिला सिपाही पिंकी है चोर

बीजेपी पर बरसे यशवंतः कश्मीर मुद्दे से सांप्रदायिकता फैलायेगी भाजपा, वोटों का होगा धुव्रीकरण

अमरनाथ यात्रा पर फिदायीन हमले का खतरा, NSG कमांडो होंगे तैनात

डीबीटी की सोशल ऑडिट रिपोर्ट जारी, नगड़ी में 38 में से 36 ग्राम सभाओं ने डीबीटी को नकारा

इंजीनियर साहब! बताइये शिवलिंग तोड़ रहा कांके डैम साइड की पक्की सड़क या आपके ‘पाप’ से फट रही है धरती

देशद्रोह के आरोप में जेल में बंद रामो बिरुवा की मौत

मैं नरेंद्र मोदी की पत्नी वो मेरे रामः जशोदाबेन

दुनिया को 'रोग से निरोग' की राह दिखा रहा योग: मोदी

स्मार्ट मीटर खरीद के टेंडर को लेकर जेबीवीएनएल चेयरमैन से शिकायत, 40 फीसदी के बदले 700 फीसदी टेंडर वैल्यू तय किया