उरीमारी कोल परियोजना से कमेटी के नाम पर टीपीसी हर माह वसूल रहा 20 लाख रुपया

Publisher NEWSWING DatePublished Thu, 03/15/2018 - 18:28

Hazaribag: चतरा जिले के आम्रपाली-मगध परियोजना से प्रतिबंधित नक्सली संगठन टीपीसी द्वारा प्रति माह करोड़ों रुपए की वसूली की जाती है. टंडवा की तर्ज पर ही टीपीसी के उग्रवादी अब हजारीबाग के बड़कागांव प्रखंड उरीमारी में बिरसा, न्यू बिरसा और उरीमारी परियोजना  में भी फर्जी कमेटी बनाकर प्रतिमाह 15 से 20 लाख रुपए वसूली कर रहा है. सन्नी सोरेन और दिनेश टुडू नामक व्यक्ति ने हजारीबाग के एसपी को पत्र लिक कर इस मामले में कार्रवाई की मांग की है. 

टीपीसी के नाम पर  ग्रामीणों को धमकाने का भी आरोप

 एसपी को लिखे गये पत्र में कहा है कि परियोजनाओं में ग्रामीणों और विस्थापित लोगों को रोजगार से जोड़ने के लिए रोड सेल बनाने के बावजूद लोगों को इसका कोई लाभ नहीं मिल रहा है. विरोध करने पर टीपीसी के नाम पर जान से मारने की धमकी दी जाती है. पोटंगा गांव के संजय करमाली, सोनाराम मांझी, संतोष सिंह, गणेश गंझू, मनोज मुंडा, दशाई मांझी, गहन टुडू, दिनेश करमाली, परमेश्वर सोरेन आदि लोगों द्वारा टीपीसी के एरिया कमांडर जग्गू उर्फ जगेश्वर गंझू और इसके सरदार भीखन गंझू के नाम पर जान से मारने की धमकी दिलवाया जाता है. इनलोगों द्वारा जनहित में बनी कमिटी के नाम पर प्रतिमाह 15 से 20 लाख रुपए की वसूली की जा रही है और आए दिन टीपीसी उग्रवादियों को बुलाकर इलाके में दहशत फैलाया जा रहा है. दोनों ने एसपी से अवैध कमेटी को भंग कर नई कमेटी बनाते हुए उपरोक्त लोगों पर कानूनी कार्रवाई की मांग की गई है. 

City List of Jharkhand
loading...
Loading...