कर्नाटक में सरकार बनाने की रस्साकस्सीः येदियुरप्पा बोले- कल लूंगा शपथ, कुमारस्वामी ने बीजेपी पर 100 करोड़ का ऑफर देने का लगाया आरोप

Publisher NEWSWING DatePublished Wed, 05/16/2018 - 12:54

Bengaluru: कर्नाटक में सत्ता के लिए जोड़तोड़ का खेल जारी है. मंगलवार को चुनाव के नतीजे आने के बाद कोई भी पार्टी अपने बलबुते पर सरकार बनाने की स्थिति में नहीं है. लेकिन जोर आजमाइश में सभी पार्टियां लगी हैं. राज्य में राजनीतिक घटनाक्रम तेजी से बदल रहें है. वही बैठकों का दौर भी जारी है. एक ओर कांग्रेस और जेडीएस साथ मिलकर सरकार बनाने को तैयार है, वही सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते बीजेपी ने सरकार बनाने का दावा ठोका है.

इसे भी पढ़ेंःबीजेपी ने चला दांव, राज्यपाल से मिलकर येदियुरप्पा ने सरकार बनाने का पेश किया दावा

बीजेपी ने ठोका दावा

बुधवार को बीजेपी के विधायकों ने येदियुरप्पा को अपने विधायक दल का नेता चुना. इसके फौरन बाद येदियुरप्पा समेत पार्टी के नेताओं ने राजभवन जाकर गवर्नर से मुलाकात की. 104 सीटें जीतने वाली बीजेपी ने सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया है. ऐसे में अब सबकी नजरें राज्यपाल वजुभाई आर. वाला के फैसले पर टिकी हैं कि वह बीजेपी या कांग्रेस+जेडीएस में से किसे सरकार बनाने के लिए आमंत्रित करते हैं.

कल लूंगा शपथ-येदियुरप्पा

भारतीय जनता पार्टी कर्नाटक में सरकार बनाने के लिए पूरे जोर लगा रही है. सूत्रों की मानें तो बीजेपी कांग्रेस के लिंगायत विधायकों के संपर्क में हैं. इसके लिए पार्टी लिंगायत मठों से संपर्क साध रही है, जिससे लिंगायत समुदाय के विधायक येदियुरप्पा के संपर्क में आ जाएं. इसके अलावा बीजेपी को राज्यपाल के फैसले का भी इंतजार है. वही विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद येदियुरप्पा ने कहा कि कल (गुरुवार) को शपथ ग्रहण करेंगे.

बीजेपी ने दिया 100 करोड़ का ऑफर- कुमारस्वामी

कर्नाटक चुनाव के नतीजों ने सत्ता पाने की रेस को दिलतस्प बना दिया है. एक ओर राजनीतिक दल अपनी-अपनी रणनीति में जुटे हैं. दूसरी ओर आरोप-प्रत्यारोप भी जारी है. वही जेडीएस से सीएम पद के दावेदार कुमारस्वामी ने बीजेपी पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि वह नहीं चाहते कि कर्नाटक में विधायकों की खरीद-फरोख्त हो. उन्होंने कहा कि उनके विधायकों को बीजेपी द्वारा 100 करोड़ और कैबिनेट में पद का ऑफर दिया गया. वही कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार ने भी कहा कि बीजेपी हमारे विधायकों को खरीदने की कोशिश कर रही है हम जानते हैं. हर दिन बहुत दबाव होता है. यह आसान नहीं है क्योंकि 2 पार्टियों के पास जरूरी संख्या है.

बैठक में नहीं पहुंचे कांग्रेस के 12 MLA, JDS के दो विधायक नदारद

सरकार बनाने को लेकर मची होड़ के बीच सभी पार्टियां अपने-अपने विधायक को एकजुट रखने में जुटी है. इधर बैठकों का दौर भी जारी है. कांग्रेस ने भी अपने विधायकों की बैठक बुलाई, लेकिन इस बैठक में  हिस्सा लेने 78 में से सिर्फ 66 विधायक पहुंचे. इधर जेडीएस की विधायकों की बैठक में भी उनकी पार्टी के दो विधायकों नदारद रहे हैं. अटकलें ये भी है कि कांग्रेस के कुछ विधायक बीजेपी के संपर्क में है. हालांकि, कांग्रेस इससे इनकार कर रही है.

इसे भी पढ़ेंःकर्नाटक में कांग्रेस का बड़ा दांव, जेडीएस के साथ बना सकती है सरकार, बीजेपी भी अंकगणित के फेर में जुटी

हर पार्टी के सरकार बनाने को लेकर अपने दावे हैं, लेकिन अभी भी सरकार किसकी बनेगी यह साफ नहीं हुआ है. सरकार बनाने को लेकर बीजेपी, कांग्रेस और जेडीएस लगातार मोर्चेबंदी कर रही हैं. वही बीजेपी के सरकार बनाने के दावे के बाद राज्यपाल पर सबकी नजरें टिकी है. इस जोड़तोड़ की राजनीति में किसकी जीत होगी, किसकी हार ये तो आने वाला वक्त ही बतायेगा.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

na