केंद्र सरकार कानून बनाने को परेशान, इधर ट्रिपल  तलाक बिल के खिलाफ  'महासंग्राम'

Publisher NEWSWING DatePublished Mon, 03/05/2018 - 18:26

GODDA :  ट्रिपल तलाक के खिलाफ कानून लाना केंद्र की मोदी सरकार के एजेंडे में शामिल महत्वपूर्ण मुद्दों में से एक है, जिसको लेकर लोकसभा से राज्यसभा तक सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच तकरार देखने को मिली थी. देश की मुस्लिम महिलाओं के अधिकारों का हवाला देते हुए केंद्र सरकार इस बील को हर हाल में कानून की शक्ल देना चाहती है, लेकिन इसको लेकर कई मुस्लिम संगठनों ने विरोध की आवाज तेज कर दी है, जिसकी एक बानगी गोड्डा में देखने को मिली, जहां तीन तलाक पर बन रहे कानून के विरोध में गोड्डा जिले में मुस्लिम महिलाओं द्वारा ऐतिहासिक महारैली निकाली गयी। मुख्यालय से 25 किलोमीटर दूर महगामा में निकाले गए जुलुश में हजारों-हजार की सँख्या में मुस्लिम महिलाओं को तलाक संशोधन बिल के विरोध में जबरदस्त प्रदर्शन करते देखा गया.

इसे भी देखें- नहीं सुधरा सिस्टम: पुलिस अवर निरीक्षक के पदों पर हुई विभागीय परीक्षा पर उठे सवाल

मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के रुख का कर रहे समर्थन

मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के समर्थन में निकाले गए जुलूस में 'तलाक बिल हमें मंजूर नहीं' के बैनर के साथ लोग महागामा की सड़कों  पैदल मार्च करते नजर आए. पहली बार महगामा की सड़कों पर मुस्लिम महिलाओं को हजारों की संख्या में निकलकर प्रदर्शन करते देखा गया है. केंचुआ चौक से अनुमंडल कार्यालय तक निकले मौन जुलूस में महिलाओं के हाथ में तिरंगा भी देखा गया, विरोध प्रदर्शन  के माध्यम से मांग की जा रही है कि तीन तलाक पर केंद्र सरकार या सुप्रीम कोर्ट दखलंदाजी करना बंद करे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

मैं नरेंद्र मोदी की पत्नी वो मेरे रामः जशोदाबेन

दुनिया को 'रोग से निरोग' की राह दिखा रहा योग: मोदी

स्मार्ट मीटर खरीद के टेंडर को लेकर जेबीवीएनएल चेयरमैन से शिकायत, 40 फीसदी के बदले 700 फीसदी टेंडर वैल्यू तय किया

मोदी सरकार के मुख्य आर्थिक सलाहकार ने निजी कारणों से दिया इस्तीफा

बीसीसीआई अधिकारियों को सीओए की दो टूकः अपने खर्चे पर देखें मैच

टीटीपीएस गाथा : शीर्ष अधिकारी टीटीपीएस को चढ़ा रहे हैं सूली पर, प्लांट की परवाह नहीं, सबको है बस रिटायरमेंट का इंतजार (2)

धोनी की पत्नी को आखिर किससे है खतरा, मांग डाला आर्म्स लाइसेंस

हजारीबाग डीसी तबादला मामला : देखें कैसे बीजेपी के जिला अध्यक्ष कर रहे हैं कन्फर्म  

न्यूज विंग की खबर का असर :  फर्जी  शिक्षक नियुक्ति मामले में तत्कालीन डीएसई दोषी करार 

बिजली बिल के डिजिटल पेमेंट से मिलता है कैशबैक, JBVNL नहीं शुरू कर पायी है डिजिटल पेमेंट की व्यवस्था

स्वीकार है भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की खुली बहस वाली चुनौती : योगेंद्र प्रताप