जामताड़ा एसपी का रीडर महिला सिपाहियों से कहता था - खुद को मुझे सौंप दो, अच्छी पोस्टिंग करवा दूंगा

Publisher NEWSWING DatePublished Sat, 03/10/2018 - 13:53

Sweta Kumari

Ranchi :  जामताड़ा की तीन महिला पुलिसकर्मियों के साथ कार्यस्थल पर प्रभारी सार्जेंट मेजर अशोक कुमार और एसपी के रीडर शशिकांत कुशवाहा के द्वारा यौन शोषण करने के मामले में न्यूज विंग ने महिला सिपाहियों से बात की. बातचीत के दौरान महिला सिपाहियों ने जो बातें बतायी, वह इतनी लज्जाजनक है कि हम उसे यहां बता भी नहीं सकते. जामताड़ा का यह मामला चर्चा में तब आया, जब आईजी सुमन गुप्ता ने यौन शोषण के जिन आरोपियों को निलंबित कर दिया था, उसे पुलिस मुख्यालय ने निलंबन मुक्त कर दिया. पुलिस मुख्यालय ने निलंबनमुक्त करने की कार्रवाई उस आंतरिक कमेटी की रिपोर्ट पर की है, जो जामताड़ा के एसपी जया राय ने खुद की अध्यक्षता में गठित की थी. जबकि इस मामले में जया राय भी आरोपी हैं. उन पर आरोप है कि उन्होंने महिला सिपाहियों की शिकायत पर दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की. यहां सवाल उठता है कि किसी महिला सहकर्मी से कार्यस्थल पर यदि एक पुरूष सहकर्मी उसके पीरीयड की बातें पूछता है तो क्या यह मामला यौन शोषण का नहीं बनता है. उन तीनों महिला पुलिसकर्मियों के साथ क्या कुछ हुआ. यह उन्हीं की जुबानी हम यहां बता रहे हैं.

इसे भी पढ़ें - अवैध कमेटी की अनुशंसा पर डीजीपी ने एसपी आवास में महिला सिपाही का यौन शोषण करने वाले सार्जेंट व रीडर को किया निलंबन मुक्त !

gf
प्रतीकात्मक तस्वीर

पहली महिला पुलिसकर्मी

इस महिला पुलिसकर्मी की ड्यूटी एसपी के आवासीय कार्यालय में लगी थी. उसने बताया कि एसपी का रीडर शशिकांत कुशवाहा उसे परेशान किया करता था. पहले शशिकांत अक्सर महिला पुलिसकर्मी को बातों में बरगलाने की कोशिश किया करता था. लेकिन जब उसने देखा कि बात नहीं बनी, तब उसने परेशान करना शुरू किया.  रीडर शशिकांत कुशवाहा ने पहले तो CCTV की ड्यूटी के साथ और दो काम करने के लिए कहा. फिर धीरे-धीरे वह अनचाहा स्पर्श भी करने लगा. साथ ही कहता था कि तुम्हारे साथ काम करने वाली बाकी महिलायें तो मेरे साथ ऐश करती हैं और देखो उन्हें विभाग में कितना आराम दिला रखा है.  तुम्हें तो उससे भी ज्यादा ऐश करवाऊंगा. मेरी बात मान लो कॉम्प्रोमाइज कर लो. फिर पुलिस विभाग में तुम्हें इतना आराम दिलवाऊंगा और साथ ही अच्छी पोस्टिंग भी. महिला पुलिसकर्मी का कहना है कि एसपी जया राय का रीडर शशिकांत स्पेशल लीव (पीरीयड्स के दौरान मिलने वाली दो दिन की सरकारी छुट्टी) लेने पर पूछता था कि बताओ तुम्हारे पीरीयड की तारीख क्या है. वहीं इसकी शिकायत एसपी से करने पर महिला पुलिसकर्मी पर चोरी इल्जाम भी लगा. लेकिन बाद यह मामला भी गलत साबित हुआ. क्योंकि जिस महिला ने चोरी का आरोप लगाया था, उसी महिला ने बाद में थाना में यह लिख कर भी दिया कि उसके रुपये घर में ही मिले हैं. इसके बाद भी थाना प्रभारी ने अज्ञात महिला सिपाही के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करी ली और बाद में एसपी ने उन्हें सस्पेंड कर दिया. 

इसे भी पढ़ें - डीजीपी डीके पांडेय ने सांप के साथ कहां खिंचवाई तस्वीर, वन विभाग ने दिया पता करने का आदेश

jamtara
प्रतीकात्मक तस्वीर

दूसरी महिला पुलिसकर्मी

इस महिला पुलिसकर्मी की कहानी भी पहली से जुदा नहीं है. दूसरी महिला पुलिसकर्मी ने न्यूज विंग को बताया कि एसपी जया राय का रीडर आये दिन उसे छेड़ता रहता था. यह सबकुछ ड्यूटी के दौरान और ड्यूटी के बाद भी होता था. जब वह ड्यूटी से अपने घर लौट रही होती थी, तब रास्ते में उसे तंग करता था. दरअसल इस महिला पुलिसकर्मी की दो बेटियां हैं और उसका पति मिर्गी की बीमारी से ग्रसित है. महिला का पति भी जामताड़ा पुलिस लाइन में सिपाही था. लेकिन बीमार होने की वजह से अक्सर वह मेडिकल लीव पर रहता था. फिलहाल  विभाग की ओर से उसे सस्पेंड कर दिया गया है. महिला सिपाही के मुताबिक एसपी का रीडर शशिकांत कुशवाहा अक्सर उसके पीरीयड की तारीख पूछता था और कहता था कि पति तो बीमार है. मैं तुम्हारी जरुरतें पूरी कर दूंगा. तुम्हें ऐश करवाऊंगा और अच्छी पोस्टिंग भी करवा दूंगा. महिला पुलिसकर्मी ने बताया कि अपने दूसरे बच्चे के जन्म से पहले उसने मातृत्व अवकाश (मेटरनीटी लीव) के लिये आवेदन दिया तो रीडर शशिकांत ने उससे शादी का सर्टिफिकेट लाने को कहा था. इसके अलावा महिला पुलिसकर्मी के चरित्र पर भी उंगली उठाया था. महिला पुलिसकर्मी ने बताया कि शशिकांत ने तो मेरे मातृत्व पर ही उंगली उठा डाला था. 

इसे भी पढ़ें - डीजीपी साहेब देखिए, आपकी तरह आपके जवान भी गले में सांप लटका कर कानून तोड़ने लगे हैं...

तीसरी महिला पुलिसकर्मी

तीसरी महिला पुलिसकर्मी के साथ भी वही बीता है, जो उपरोक्त दोनों महिला पुलिसकर्मियों के साथ हुआ है. दरअसल यह महिला पुलिसकर्मी अपने पति की मौत के बाद अनुकंपा के आधार पर नौकरी में आयी है. शशिकांत इस तीसरी महिला पुलिसकर्मी जो जामताड़ा पुलिस लाइन के एमटी शाखा में कार्यरत है, उसे आये दिन परेशान करता था. खासकर पीरीयड के लिये स्पेशल लीव लेते वक्त भी अश्लील बातें किया करता था. इसके अलावा जब महिलाकर्मी एक बार परीक्षा के लिये छुट्टी मांगने गयी तो शशिकांत ने खुले तौर पर इस महिला पुलिसकर्मी को कहा कि तुम्हें छुट्टी की क्या जरूरत है. तुम एक विधवा औरत हो और ना जाने तुमने किस-किस के साथ रातें बितायीं हैं. महिलाकर्मी के मुताबिक शशिकांत अक्सर कहता था कि अकेले में आकर मिलो तुम्हारा भला होगा.  साथ ही शशिकांत अक्सर धमकी भी दिया करता था. साफ तौर पर कहता था कि और कोई भी जरूरत हो तो प्रभारी सार्जेंट मेजर अशोक कुमार से अकेले में मिलो. यदि ऐसा नहीं करोगी तो फिर अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहना. 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

हजारीबाग डीसी तबादला मामला : देखें कैसे बीजेपी के जिला अध्यक्ष कर रहे हैं कन्फर्म  

न्यूज विंग की खबर का असर :  फर्जी  शिक्षक नियुक्ति मामले में तत्कालीन डीएसई दोषी करार 

बिजली बिल के डिजिटल पेमेंट से मिलता है कैशबैक, JBVNL नहीं शुरू कर पायी है डिजिटल पेमेंट की व्यवस्था

स्वीकार है भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की खुली बहस वाली चुनौती : योगेंद्र प्रताप

लाठी के बल पर जनता की भावनाओं से खेल रही सरकार, पांच को विपक्ष का झारखंड बंद : हेमंत सोरेन   

सुप्रीम कोर्ट का आदेश : नहीं घटायी जायेंगी एमजीएम कॉलेज जमशेदपुर की मेडिकल सीट

मैट्रिक व इंटर में ही हो गये 2 लाख से ज्यादा बच्चे फेल, अभी तो आर्ट्स का रिजल्ट आना बाकी  

बीजेपी के किस एमपी को मिलेगा टिकट, किसका होगा पत्ता साफ? RSS बनायेगा भाजपा सांसदों का रिपोर्ट कार्ड

आतंकियों की आयी शामतः सीजफायर खत्म, ऑपरेशन ऑलआउट में दो आतंकी ढेर- सर्च ऑपरेशन जारी

दिल्ली: अनशन पर बैठे मंत्री सत्येंद्र जैन की बिगड़ी तबियत, आधी रात को अस्पताल में भर्ती

भूमि अधिग्रहण पर आजसू का झामुमो पर बड़ा हमला, मांगा पांच सवालों का जवाब