दो ग्लास वोदका पीने वाले लोगों से रहें सावधान, ऐसे लोग हो सकते हैं खतरनाक

Publisher NEWSWING DatePublished Tue, 02/13/2018 - 17:09

Melbourne : वैज्ञानिकों का कहना है कि केवल दो ग्लास वोदका पीने से मस्तिष्क में कुछ ऐसे बदलाव हो सकते हैं जो आक्रामकता से जुड़े हैं. शराब पीने के बाद अक्सर लोगों का व्यवहार बदल जाता है और इसे पीने के बाद कुछ लोग हिंसक हो जाते हैं. वैज्ञानिकों ने यह समझने के लिए कि लोग शराब पीने के बाद हिंसक क्यों हो जाते हैं, एमआरआई स्कैन का प्रयोग किया.

50 स्वस्थ युवा ओं का किया गया अध्ययन 

अधिकांश सिद्धांतों के अनुसार एल्कोहल से संबंधित आक्रामकता मस्तिष्क के प्रीफ्रंटल कॉर्टेक्स में बदलाव के कारण होती हैं. हालांकि इन विचारों को साबित करने के लिए पर्याप्त न्यूरोइमेजिंग सबूत की कमी है. आस्ट्रेलिया में न्यू साउथ वेल्स विश्वविद्यालय के थोमस डेन्सन के नेतृत्व में यह अध्ययन किया गया और इसके लिए अनुसंधानकर्ताओं ने 50 स्वस्थ युवाओं को चुना.

इसे भी पढ़ें: टंडवा में हर माह होती है 10 करोड़ की अवैध वसूली, जांच के लिए गृह विभाग ने बनाया एसआईटी का प्रस्ताव, पर आदेश नहीं निकला

एल्कोहल पीने वाले लोगों के मस्तिष्क में कमी भी देखी गयी प्रीफ्रंटल कॉर्टेक्स की सक्रियता

प्रतिभागियों को या तो वोदका युक्त दो ग्लास पेय पदार्थ, या किसी शराब के बिना पेय पदार्थ दिये गये. वे प्रतिभागियों के बीच एमआरआई स्कैन में शराब का सेवन करने वाले लोगों और नहीं करने वाले लोगों के बीच अंतर कर सकते थे. अध्ययन के अनुसार जिन लोगों ने एल्कोहल युक्त पेय का इस्तेमाल किया था, उनके व्यवहार में आक्रामकता देखी गयी. ऐसे लोगों के मस्तिष्क के प्रीफ्रंटल कॉर्टेक्स की सक्रियता में कमी भी देखी गयी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.