मासनजोर डूब क्षेत्र के ग्रामीणों ने किया विरोध: मॉडल कॉलेज निर्माण के लिए चिह्नित जमीन की दखल दिहानी के लिए नहीं आये अधिकारी

Publisher NEWSWING DatePublished Thu, 02/15/2018 - 22:19

Dumka : अंचल कार्यालय दुमका की ओर से विजयपुर मौजा में मॉडल कॉलेज निर्माण के लिए मौजा के थाना नंबर 27 खाता नंबर 31,28,11,02,07,34,22,24, 41,04,15 और 18 की 8 एकड़ जमीन भू अर्जन कर उच्च एवं तकनीकी शिक्षा विभाग को स्थानांतरित की जानी थी. इसके विरोध में विजयपुर मौजा के ग्रामीणों ने बैठक कर अंचल कार्यालय दुमका द्वारा दिये गये नोटिस के जवाब में कहा था कि किसी भी कीमत पर वो अपनी जमीन नहीं देंगे. ग्रामीणों में कमलेश हांसदा का कहना है अंचल कार्यालय द्वारा मॉडल कॉलेज निर्माण के लिए भूमि सीमांकन के पूर्व रैयतों से किसी भी तरह का विर्मश नहीं किया गया न ही पहले सूचना दी गयी. जिस जमीन पर ग्रामीण खेतीबारी कर अपनी जीविका चला रहे हैं, उस जमीन को मॉडर्न कॉलेज के नाम पर 8 एकड़ लेना गलत है.

इसे भी पढ़ें - हैकिंग (Hacking), हैकर्स (Hackers), एथिकल हैकिंग (Ethical Hacking) क्या है, इसे जानिए

मसानजोर डैम में पहले से जा चुकी है काफी जमीन 

गांव की महिला नीलू मरांडी कहती हैं कि हमारे गांव की काफी जमीन मसानजोर डैम में जा चुकी है. अभी भी नदी के किनारे जो जमीन है, उस जमीन पर बालू भर जाता है. ऐसे में कृषि योग्य जमीन 8 एकड़ सरकार द्वारा मॉडल कॉलेज के नाम पर लिया जाना गलत है. अंचल कार्यालय के अधिकारी 15 फरवरी को भूमि का सीमांकन करने के लिये गांव आने वाले थे, जिसको देखते हुये ग्रामीण सुबह से ही गांव से निकल कर बाहर सरकारी अधिकारियों को गांव की सीमा में प्रवेश करने से रोकने के लिए तैयार थे. 

इसे भी पढ़ें - साहब आप तो कागजों पर वो हादसा देख रहे हैं, मैंने अपनी नंगी आंखों से नक्सलियों का वो तांडव देखा हैः पीसी देवगम

जमीन चली गयी तो कैसे करेंगे परिवार का भरण पोषण

गांव की महिला माली मरांडी करती है कि हमारे पास काफी कम जमीन है. ऐसे में हम अपनी जमाबंदी खतियान की जमीन मॉडल कॉलेज बनाने के लिए कैसे दे सकते हैं. इसी जमीन से हम अपने परिवार का भरण पोषण करते हैं और अगर जमीन चली गई तो फिर हम लोग किस तरीके से अपना गुजर बसर करेंगे. सरकार अगर कॉलेज बनाना चाहती है, तो कहीं और बनाये पहले हम लोग बांध के डूब क्षेत्र में आते हैं और ऊपर से बची खुची जमीन भी सरकार विकास के नाम पर हमसे छीनना चाहती है, इसका हम लोग विरोध करते हैं. ग्रामीणों ने बैठक कर जमाबंदी जमीन कॉलेज के नाम पर नहीं देंगे का निर्णय लिया है. बैठक में सुभाष चंद्र मरांडी, सुनील हेंब्रम, कमलेश, बड़का मरांडी, सुखी टूडू ,भास्कर, बिटिया किस्को मौजूद थे.

इसे भी पढ़ेंः बकोरिया कांड : एडीजी एमवी राव ने सरकार को लिखा पत्र, डीजीपी डीके पांडेय ने फर्जी मुठभेड़ की जांच धीमी करने के लिए डाला था दबाव

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

डीबीटी की सोशल ऑडिट रिपोर्ट जारी, नगड़ी में 38 में से 36 ग्राम सभाओं ने डीबीटी को नकारा

इंजीनियर साहब! बताइये शिवलिंग तोड़ रहा कांके डैम साइड की पक्की सड़क या आपके ‘पाप’ से फट रही है धरती

देशद्रोह के आरोप में जेल में बंद रामो बिरुवा की मौत

मैं नरेंद्र मोदी की पत्नी वो मेरे रामः जशोदाबेन

दुनिया को 'रोग से निरोग' की राह दिखा रहा योग: मोदी

स्मार्ट मीटर खरीद के टेंडर को लेकर जेबीवीएनएल चेयरमैन से शिकायत, 40 फीसदी के बदले 700 फीसदी टेंडर वैल्यू तय किया

मोदी सरकार के मुख्य आर्थिक सलाहकार ने निजी कारणों से दिया इस्तीफा

बीसीसीआई अधिकारियों को सीओए की दो टूकः अपने खर्चे पर देखें मैच

टीटीपीएस गाथा : शीर्ष अधिकारी टीटीपीएस को चढ़ा रहे हैं सूली पर, प्लांट की परवाह नहीं, सबको है बस रिटायरमेंट का इंतजार (2)

धोनी की पत्नी को आखिर किससे है खतरा, मांग डाला आर्म्स लाइसेंस

हजारीबाग डीसी तबादला मामला : देखें कैसे बीजेपी के जिला अध्यक्ष कर रहे हैं कन्फर्म