राज्यभर के पारा शिक्षक आंदोलनरत, रांची के लिए पैदल मार्च शुरू, 23 को करेंगे सीएम आवास का घेराव, अनिश्तिचकालीन धरना पर भी बैठेंगे

Publisher NEWSWING DatePublished Tue, 04/17/2018 - 14:21

Ranchi : अपनी मांगों को लेकर दूसरे चरण के आंदोलन के तहत राज्य भर के पारा शिक्षक रांची की ओर कूच कर रहे हैं. शुरुआत उत्तरी छोटानागपुर प्रमंडल के कोडरमा से की गयी है. बाकी बचे चारों प्रमंडलों से भी पारा शिक्षक अपनी रणनीति के तहत रांची के लिए पैदल मार्च शुरू करेंगे. इस काम के लिए राज्य भर के पारा शिक्षकों के संगठनों ने हाथ मिला लिया है. चारों संगठनों ने मिलकर एक संगठन बनाया है. संगठन का नाम एकीकृत्त पारा शिक्षक कमेटी रखा गया है. इस कमेटी में हर क्षेत्र के आठ सदस्यों की एक शिष्टमंडल तैयार की गयी है.

इसे भी पढ़ें :  सात माह पहले अमित शाह ने बिरसा मुंडा के वंशजों के आवास के लिए किया भूमि पूजन, नहीं लगी एक भी ईंट, पोस्टर निहार रहे परिजन

23 को रांची पहुंच कर सीएम आवास घेरने की तैयारी

पैदल मार्च शुरू
पैदल मार्च शुरू

एकीकृत्त पारा शिक्षक के शिष्टमंडल के सदस्य संजय दुबे ने बताया कि हमने शुरुआत उत्तरी छोटानागपुर प्रमंडल के कोडरमा जिले से की है. पांचों प्रमंडल से पारा शिक्षक पैदल मार्च कर रांची पहुंच रहे हैं. दक्षिणी छोटानागपुर प्रमंडल के गुमला, कोल्हान प्रमंडल के जमशेदपुर, संथाल प्रमंडल के देवघर और पलामू प्रमंडल के डाल्टेनगंज से पारा शिक्षक रांची के लिए कूच करेंगे. रास्ते में कई जगहों पर कार्यक्रम होंगे. रात में आराम कर किसी भी हाल में 23 तक रांची पहुंचना है. जहां सीएम आवास का घेराव कर अनिश्चितकालीन धरना पर बैठना है.

इसे भी पढ़ें : मंत्री का घेराव नहीं कर पाये पारा शिक्षक, आक्रोश धरा रह गया, एसडीएम के आश़्वासन तक सिमट गयी रैली

किन मांगों को लेकर पारा शिक्षक कर रहे हैं आंदोलन

पारा शिक्षक पांच सूत्री मांगों को लेकर आंदोलनरत हैं. पहले चरण में इन्होंने शिक्षा मंत्री नीरा यादव के आवास का घेराव किया था. दूसरे चरण में सीएम आवास घेरने की योजना है. इनकी मांगों की अगर बात करें तो

  • समान काम के लिए सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक समान वेतन
  • टेट पास पारा शिक्षकों को सरकारी शिक्षक के पद पर नियुक्ति
  • राज्य के पारा शिक्षकों को ईपीएफ से जोड़ा जाए. ताकि मरनोपरांत या सेवानिवृत्ति के बाद उन्हें भी थोड़ा सहारा मिले.
  • पारा शिक्षक की ट्रेनिंग के लिए जो राशि सरकार की तरफ से ली गयी है, सरकार उसे वापस करे.
  • पारा शिक्षक कल्याण कोष का गठन हो.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Main Top Slide
City List of Jharkhand
loading...
Loading...