न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मोबाइल फोन यूजर्स को बड़ा झटकाः Jio, वोडा-आइडिया,एयरटेल ने महंगे किये कॉल रेट और इंटरनेट सेवाएं

1,146

New Delhi: मोबाइल उपभोक्ता की जेब पर अतिरिक्त बोढ पड़ने वाला है. वोडाफोन-आइडिया, एयरटेल और जियो ने कॉल रेट और इंटरनेट सेवाएं महंगी कर दी है.

दोनों पुरानी दूरसंचार कंपनियों ने प्रीपेड मोबाइल सेवाओं की दरें तीन दिसंबर से 50 प्रतिशत तक बढ़ाने की रविवार को घोषणा की, जो करीब चार साल में पहली वृद्धि है. वहीं, रिलायंस जियो ने 6 दिसंबर से दरों में 40 प्रतिशत की वृद्धि की है.

JMM

इसे भी पढ़ेंः#Coimbatore: भारी बारिश से तीन मकान जमींदोज, 10 महिलाओं समेत 15 की मौत

दरों में 50 फीसदी तक इजाफा

दूरसंचार सेवा प्रदाताओं ने दिसंबर के शुरू में दरें बढ़ाने की घोषणा पहले ही कर रखी थी. वोडाफोन-आइडिया और एयरटेल ने रविवार को अलग-अलग बयान जारी कर अपने विभिन्न प्लान की बढ़ी दरों की विस्तृत जानकारी दी जबकि जियो ने अभी इसका ब्योरा नहीं दिया है.

वोडाफोन-आइडिया ने सिर्फ अनलिमिटेड डेटा एवं कॉलिंग की सुविधा वाले प्रीपेड प्लान की दरें बढ़ायी हैं.

Bharat Electronics 10 Dec 2019

वोडा-आइडिया ने दूसरे नेटवर्क पर की जाने वाली कॉल के लिए प्रति मिनट 6 पैसे का शुल्क लगाने की भी घोषणा की है. एयरटेल ने सीमित डेटा एवं कॉलिंग वाले प्लान के शुल्कों में भी संशोधन किया है.

जियो 40% महंगा

वहीं, रिलायंस जियो ने एक बयान में कहा कि वह उपभोक्ता-प्रथम के अपने सिद्धांतों पर टिकी हुई है. कंपनी ने दावा किया है कि वह इस कारण शुल्क 40 प्रतिशत तक बढ़ाने के साथ 300 प्रतिशत तक अधिक फायदे भी देगी. जियो ने वोडाफोन आइडिया और एयरटेल के द्वारा बढ़ी दरों की घोषणा के बाद बयान जारी किया.

निजी क्षेत्र की इन तीन प्रमुख दूरसंचार सेवा प्रदाता कंपनियों ने शुल्क में वृद्धि ऐसे समय की है, जब दूरसंचार क्षेत्र पर वित्तीय संकट मंडरा रहा है. मोबाइल कंपनियों के संगठन सीओएआइ तथा दो प्रमुख उद्योग मंडल सीआईआइ एवं फिक्की ने इस क्षेत्र को डूबने से बचाने के लिए सरकार को लिखा है.

इसे भी पढ़ेंःसंकट में पीएम मोदी का ड्रीम प्रोजेक्ट! बुलेट ट्रेन परियोजना की समीक्षा करेगी ठाकरे सरकार

जानें क्या है नई दर

वोडाफोन-आइडिया की विज्ञप्ति के मुताबिक, उसने सर्वाधिक 41.2 प्रतिशत की वृद्धि सालाना प्लान में की है. उसके इस प्लान की दर 1,699 रुपये से बढ़कर 2,399 रुपये हो गयी है.

इसी तरह रोजाना डेढ़ जीबी डेटा की पेशकश के साथ 84 दिन की वैधता वाले प्लान की दर 458 रुपये से 31 प्रतिशत बढ़ा कर 599 रुपये कर दी गयी है.

कंपनी का 199 रुपये वाला प्लान अब 249 रुपये का हो जाएगा.

कंपनी ने इसके साथ ही अन्य नेटवर्क पर आउटगोइंग कॉल करने पर छह पैसे प्रति मिनट की दर से शुल्क लगाने की भी घोषणा की है.

एयरटेल ने सालाना प्लान को 41.14 प्रतिशत बढ़ा कर 1,699 रुपये की जगह 2,398 रुपये का कर दिया है.

कंपनी का सीमित डेटा वाला सालाना प्लान अब 998 रुपये की जगह तीन तारीख से 1,498 रुपये का हो जाएगा. इस प्लान की दर में यह 50.10 प्रतिशत की वृद्धि है.

इसी तरह एयरटेल ने 82 दिन की वैधता के साथ असीमित डेटा वाले प्लान को 499 रुपये से 39.87 प्रतिशत बढ़ाकर 698 रुपये और सीमित डेटा कर दिया है.

कंपनी की 82 दिन की वैधता वाले प्लान की दर 33.48 प्रतिशत महंगी हो गयी है. इसकी दर अब 448 रुपये से बढ़ाकर 598 रुपये कर दी गयी है. इन दोनों प्लान की वैधता अब 82 दिन की जगह 84 दिन होगी.

कंपनी ने 28 दिन की वैधता वाले विभिन्न प्लान की दरों में 14 रुपये से लेकर 79 रुपये तक की वृद्धि की है.

उल्लेखनीय है कि उच्चतम न्यायालय ने समायोजित सकल राजस्व (एजीआर) पर केंद्र की बात को सही करार देते हुए कंपनियों को आदेश दिया है कि वे उसके आधार पर सरकार को पुराना सांविधिक बकाया चुकाएं, जो करीब 1.47 लाख करोड़ बनता है.

न्यायालय ने 24 अक्टूबर 2019 को दूरसंचार राजस्व आकलन के सरकार के तरीके को सही माना. इसके तहत लाइसेंस शुल्क और स्पेक्ट्रम उपयोग शुल्कों की गणना की जाती है.

इस आदेश के तहत शुरूआती अनुमान के अनुसार एयरटेल, वोडाफोन-आइडिया और अन्य दूरसंचार परिचालकों को सरकार को तीन महीने के भीतर 1.33 लाख करोड़ रुपये का भुगतान करना पड़ सकता है.

सरकार ने कंपनियों को राहत देते हुए स्पेक्ट्रम की किस्तों के भुगतान के लिए दो साल (2020-21 तथा 2021-2022) की मोहलत दे दी है. समझा जाता है कि इससे उन्हें 42,000 करोड़ रुपये की राहत मिलेगी.

इसे भी पढ़ेंःराहुल बजाज ने कहा- मोदी सरकार के खिलाफ बोलने से डर लगता है, शाह का जवाब- सुधार करेंगे, कांग्रेस BJP पर हमलावर

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like