हादसे के शिकार मजदूरों का शव छत्तीसगढ़ से आते ही फूट पड़े परिजन, चीत्कार से दहला झुमरा

Publisher NEWSWING DatePublished Fri, 04/13/2018 - 17:16

Bermo : झुमरा में तीन शव के पहुंचते ही माहौल गमगीन गया. परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है. गोमिया के पूर्व विधायक योगेन्द्र प्रसाद शोकसंतप्त परिजनों को ढांढस बंधाने झुमरा पहुंचे. मृतक के परिजनों से मुलाकात की और उन्हें दुख की घड़ी में हिम्मत बंधाई. उन्होंने इस घटना पर शोक व्यक्त किया. कहा कि सरकार झुमरा एक्शन प्लान के नाम पर केवल घड़ियाली आंसू बहा रही है. विधायक ने सरकारी प्रावधान के तहत मृतक के आश्रितों को सुविधा दिलाने की मांग जिला प्रशासन से की है.

इसे भी पढ़ें - गोमिया के झुमरा पहाड़ निवासी चार मजदूरों की छत्तीसगढ़ में सड़क हादसे में मौत, 14 घायल

दस अप्रैल की रात हादसे में हुई थी मौत

बता दें कि छत्तीसगढ़ के बलौदा बाजार जिले में टॉवर लाइन में काम करने वाले झुमरा के करीब डेढ़ दर्जन मजदूर बीते मंगलवार की रात 2 बजे हादसे के शिकार हुए थे. चार मजदूरों की मौत मौके पर ही हो गयी थी. वहीं 14 मजदूर उक्त हादसे में जख्मी हुए थे. घायलों में तीन की स्थिति नाजुक बताई जा रही थी. यह हादसा तब हुआ था जब मजदूरों की शिफ्ट बदलने पर उन्हें दूसरी साइट पर भेजा जा रहा था. इसी दौरान पॉवर ग्रिड कंपनी की आउटसोर्सिंग एजेंसी के वाहनों के बीच हुई भीषण टक्कर में डेढ़ दर्जन मजदूर हादसे का शिकार हुए थे. इस घटना में चार लोगों की मौके पर ही मौत हो गयी थी.

इसे भी पढ़ें - पलामू : छत्तीसगढ़ जाने के बहाने बुक करायी गाड़ी और कर दी युवक की हत्या, रामगढ़ जंगल से मिला शव

कंपनी ने नहीं दी कोई आर्थिक मदद

मृतक व घायल छत्तीसगढ़ के जिला बलौदा बाजार अंतर्गत सिमगा में एलएनटी कंपनी में बलथरवा के संवेदक द्वारका महतो के अधीन काम करते थे. कंपनी और संवेदक द्वारा मृतकों के परिजनों को किसी प्रकार की सहायता राशि नहीं देने पर ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है. ग्रामीणों ने शवों को एंबुलेंस से उतारने नहीं दिया. विधायक योगेन्द्र प्रसाद ने फोन पर संवेदक से बातकर चारों मृतक के आश्रितों को पांच-पांच लाख रुपए मुआवजे की मांग की है.

shav

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

City List of Jharkhand
loading...
Loading...