न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
Browsing Category

Opinion

क्या जेएनयू की फीस बढ़ाने के समर्थक सार्वजनिक धन की इस लूट पर भी खामोश बने रहेंगे?

Girish Malviyaआम खाताधारकों पर मिनिमम बैलेंस के लिए पेनाल्टी और ज्यादा ट्रांजेक्शन करने पर तुरंत चार्ज लगाने वाले एसबीआई ने पिछले पांच साल में कुल 1 लाख 63 हजार 934 करोड़ रुपये का लोन राइट-ऑफ किया है....साफ है कि आम आदमी को लूटने और…

क्या सीएम रघुवर दास बांग्लादेश में जारी पीएम मोदी के उस फर्जी पत्र की पुष्टि कर रहे हैं, जिसका खंडन…

Surjit Singh बांग्लादेश में पीएम मोदी का फर्जी पत्र वायरल अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद बांग्लादेश में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक फर्जी पत्र वायरल है. जिसे अखबार, टीवी चैनल और सोशल मीडिया पर बढ़ावा दिया गया.…

एक समाज के रूप में हम मेच्योर हो रहे हैं..

Umashankar Singhअयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर भारतीय समाज ने मोटे तौर पर जिस तरह रिएक्ट किया है वह बताता है कि एक समाज के रूप में हम किस तरह मेच्योर हो रहे हैं.पिछले कुछ सालों में हमने इतनी जलालत और उस जलालत का…

‘कंस्ट्रक्शन लिंक्ड पेमेंट प्लान के नाम पर पैसे ऐंठ चुके बिल्डर्स को सरकारी सहायता!

Sanjaya Kumar Singhगुरुवार की सुबह अखबारों में सबसे प्रमुख खबर थी, सरकार ने अधूरी पड़ी आवास योजनाओं को पूर्ण करने के लिए 25,000 करोड़ रुपये के कोष को मंजूरी दी है.ये पैसे किस बिल्डर को किस परियोजना के लिए कैसे दिये जायेंगे यह सब…

‘न खाऊंगा न खाने की दूंगा’ की बात करनेवालों की यह असलियत यदि आप पढ़ेंगे तो समझ जायेंगे कि…

Girish Malviyaकल सोशल मीडिया पर एक वेकेंसी का एक विज्ञापन चर्चा का विषय बना,....... यह विज्ञापन रेलवे में बड़े पैमाने पर कैटरिंग सर्विसेज प्रोवाइड करनेवाली एक कंपनी ने दिया था. वृंदावन फूड प्रोडक्ट्स कम्पनी रेलवे के लिए काम करनेवाले…

संदर्भ महाराष्ट्रः यह भाजपा के स्वर्णिम वक्त में अभूतपूर्व पराजय है

Surjit Singh23 अक्टूबर. शाम का वक्त. दिल्ली स्थित भाजपा का केंद्रीय कार्यालय. महाराष्ट्र और हरियाणा विधानसभा चुनाव में पहले की तुलना में भाजपा के खराब प्रदर्शन के बावजूद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री सह भाजपा अध्यक्ष…

मोदी ने RCEP में शामिल होने से मना करके किसका भला किया?

Alok Joshiप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के फ़ैसले की तारीफ़ और आलोचना दोनों हो रही है, लेकिन इसे क्या ठीक से समझा जा रहा है?RCEP भारत में एकदम अंधों का हाथी हो गया है. खासकर सरकार और सरकारी एजेंसियों के बर्ताव से तो यही लगता है कि…

किस-किस के पैसे वापस देगी सरकार?

Girish Malviyaउत्तर प्रदेश पावर कॉर्पोरेशन यानी यूपीपीसीएल के कर्मचारियों के भविष्य निधि की रकम को गलत तरीके से DHFL में निवेश करने का मामला अब तूल पकड़ चुका है. इस घोटाले में यूपीपीसीएल के पूर्व वित्त निदेशक सुधांशु द्विवेदी और…

दिल्ली पुलिस-वकील विवादः क्या देश में नई जाति व्यवस्था “पेशेगत जाति” उभार ले रही है

Ranjit Kumar Singhपिछले कुछ वर्षों में मैंने जैसा अनुभव किया है उसके कुछ विचार मैं आप मित्रों से साझा कर रहा हूँ  -क्या आये दिन जिस तरह से समस्या समाधान के लिए दबाव समूह के रूप में उभर रहे पेशवर वर्ग एक अलग जाति के रूप में दिख रहा…

#Delhi पुलिस-वकील विवादः गृह मंत्री के रूप में अमित शाह की यह बड़ी विफलता है

Surjit Singhदिल्ली. देश की राजधानी. पिछले तीन दिनों से वहां क्या चल रहा है. पुलिस-वकील क्या कर रहे हैं. जो कर रहे हैं, उससे क्या संदेश जाता है. मंगलवार को दिल्ली पुलिस के जवान पुलिस हेडक्वार्टर पर प्रदर्शन कर रहे थे. तो बुधवार को वकील…