हाईकोर्ट जा सकते हैं सुखदेव सिंह, छुट्टी पर जाना ही सीएस के पास बेहतर विकल्प

Submitted by NEWSWING on Wed, 01/10/2018 - 19:13

Ranchi: सूबे के प्रशासनिक तबके और उससे जुड़े सरकारी तंत्र में बस दो ही बातें हो रही हैं. पहला सीएस राजबाला वर्मा क्या करेंगी और दूसरा कि सुखदेव का अगला कदम क्या होगा? प्रशासनिक तौर तरीके को कानूनी रूप से जानने वाले लोगों का कहना है कि सीएस राजबाला वर्मा का छुट्टी पर जाना ही उनके लिए सबसे सही विकल्प रहेगा. वहीं सुखदेव सिंह के बारे कहना है कि अगर वो सीबीआई के विशेष अदालत के नोटिस के खिलाफ हाईकोर्ट जाते हैं तो वहां से उन्हें राहत मिल सकती है, लेकिन इसके दूसरे परिणाम भी होंगे.

इसे भी पढ़ेंः खूंटीः दिनेश गोप के स्कूल से जुड़ा है 1200 बच्चों का भविष्य, चाह कर भी नहीं जब्त कर पा रहा प्रशासन पीएलएफआई सुप्रीमो का स्कूल

18 को पूरा हो रहा है सरकार के अल्टीमेटम का 15 दिन

सरकार की तरफ से कार्मिक विभाग ने सीएस राजबाला वर्मा को सीबीआई के नोटिस की अनदेखी करने जवाब मांगा है. जवाब की मियाद 15 दिनों की है. 18 जनवरी को 15 दिन पूरे होने वाले हैं, वहीं विधानसभा सत्र 17 जनवरी को शुरू होने वाला है. सीएस राजबाला मामले में जो होना है वो 17 जनवरी से पहले हो जाना चाहिये, क्योंकि सरकार नहीं चाहेगी कि सीएस मामले पर वो सदन में घिरे. 28 फरवरी को सीएस राजबाला वर्मा रिटायर होने वाली हैं. अगर सीएस राजबाला वर्मा छुट्टी पर चली जाती हैं तो वो दोबारा ज्वाइन ही नहीं कर पाएंगी. वहीं रिटायरमेंट के बाद कानूनन सीएस पर किसी ऐसे मामले पर विभागीय कार्रवाई नहीं हो सकती जो चार साल से ज्यादा पुरानी हो. अगर सीएस राजबाला वर्मा सरकार के नोटिस का जवाब दे देती हैं तो मामला रिटायरमेंट के एक महीने पहले का हो जाएगा. जिससे सीएस की मुश्किल बढ़ सकती हैं.

इसे भी पढ़ेंः ...तो इस वजह से युवाओं ने लगाये रघुवर दास मुर्दाबाद के नारे, दूसरे राज्य जाकर 5 हजार की नौकरी तो नहीं करेंगे ना !

सुखदेव सिंह अगर हाईकोर्ट जाते हैं तो...

ऐसा भी हो सकता है कि सुखदेव सिंह को सीबीआई के विशेष कोर्ट से ही राहत मिल जाए, लेकिन सीबीआई कोर्ट का रुख सुखदेव सिंह के लिए आदर्श नहीं दिख रहा है. कोर्ट बार-बार सुखदेव को भी आरोपी बनाए जाने की बात करता रहा है. ऐसे में सुखदेव सिंह हाईकोर्ट जा सकते हैं, जहां उन्हें सबूत की कमी के आधार पर राहत मिल सकती है. अगर सुखदेव सिंह को हाईकोर्ट से राहत मिलती है तो वे वित्त सचिव बने रहेंगे. सरकार पर सुखदेव सिंह के ऊपर किसी तरह की कार्रवाई करने का दबाव खत्म हो जाएगा.

इसे भी पढ़ेंः नौकरी के नाम पर धोखे से बेरोजगार युवकों का फूटा गुस्सा, रोजगार मेले में लगे ‘रघुवर दास मुर्दाबाद' के खूब नारे (देखें वीडियो)

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Main Top Slide
City List of Jharkhand
loading...
Loading...

NEWSWING VIDEO PLAYLIST (YOUTUBE VIDEO CHANNEL)