कंपनी कमांडर ने महिला होमगार्ड से कहा- तुम्हें रात में ड्यूटी करनी होगी, महिला ने लगाया शारीरिक शोषण का आरोप

Submitted by NEWSWING on Fri, 04/13/2018 - 20:41

Ranchi : जिले की एक महिला होमगार्ड (गृहरक्षक) ने गृह रक्षा वाहिनी में तैनात कंपनी कमांडर पर शारीरिक और मानसिक प्रताड़ना का आरोप लगाते हुए इसकी लिखित शिकायत मुख्यमंत्री कार्यालय, वरीय पुलिस अधीक्षक और ग्रामीण एसपी से की है. आवेदन में इस महिला ने खुद को गृहरक्षक बताया है. अपनी शिकायत में उन्होंने कहा है कि एक माह पूर्व रांची विश्वविदयालय में ड्यूटी के लिए कमान दी गयी थी. सात अप्रैल को गृह रक्षा वाहिनी कार्यालय से फोन कर उसे हरमू ऑफिस बुलाया गया. कार्यालय में कंपनी कमांडर रामजीत साहू से मिली,  तो उन्होंने कहा कि आपको विश्वविदयालय से हटाकर आवास में ड्यूटी दी जा रही है. इस पर पीड़िता ने कहा कि तबीयत ठीक नहीं है. यह कह कर ड्यूटी से मना कर दिया. 

इसे भी पढ़ें - जामताड़ा एसपी का रीडर महिला सिपाहियों से कहता था - खुद को मुझे सौंप दो, अच्छी पोस्टिंग करवा दूंगा

ड्यूटी से मना करने पर कहा,  पुलिस विभाग में सब करना पड़ता है

ड्यूटी से मना करने पर भी कंपनी कमांडर नहीं माने और कहा कि दिन में ड्यूटी नहीं है. सिर्फ रात में ड्यूटी करना है. वहीं पर सोना है. पुलिस विभाग में यह सब करना पड़ता है. ज्यादा पैसा दिला देंगे. ड्यटी से भी नहीं हटाएंगे. ड्यूटी के लिए जो राशि ली जाती है वह भी नहीं ली जाएगी. इतना कहकर उसे पुलिस केन्द्र रांची भेज दिया गया. वहां पर मुंशी से मिली तो उसने कंपनी कमांडर की बात को ही दोहराया. और कहा कि जो कहा जा रहा है,  उसे करो. सभी करते हैं. तुम भी करो. ड्यूटी भी मिलती रहेगी. 

इसे भी पढ़ें - सार्जेंट मेजर व रीडर पर यौन शोषण का आरोप लगाने के बाद जामताड़ा के पुलिस अफसरों ने महिला सिपाही को चोरी के केस में फंसा कर सस्पेंड किया !

बिना नियमावली के नियुक्त हुए हैं कंपनी कमांडर

झारखंड रक्षा वाहिनी झारखंड प्रदेश महासचिव आलोक रंजन ने बताया कि वर्ष 2012-14 में 47 कंपनी कमांडर की नियुक्ति की गयी थी. जिसमें कंपनी कमांडर रामजीत साहू का भी चयन किया गया था. इस बात की कोई सूचना राज्य कार्मिक विभाग के पास नहीं है. इस नियुक्ति में कैबिनेट से अनुमोदन है या नहीं,  इस बात की जानकारी विभाग को नहीं है. यह जानकारी अक्टूबर 2017 में आरटीआई के तहत सरकार के अपर सचिव सह जन सूचना पदाधिकारी विजय कुमार सिंह ने दी. इस मामले में गृह रक्षा वाहिनी के डीएसपी से संपर्क करने का प्रयास किया गया, तो मोबाईल अनरिचेबल बताया गया. जिस कारण संपर्क नहीं हो सका.

इसे भी पढ़ें -  अवैध कमेटी की अनुशंसा पर डीजीपी ने एसपी आवास में महिला सिपाही का यौन शोषण करने वाले सार्जेंट व रीडर को किया निलंबन मुक्त !

केन्द्रीय समिति की बैठक 29 को,  सीएम को दी जाएगी जानकारी 

आलोक रंजन ने बताया कि इस मामले में 29 अप्रैल को बैठक की जायेगी. महिला के खिलाफ किसी तरह का अन्याय बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. पूरे मामले की जानकारी सीएम से लेकर डीजी तक को दी जाएगी, गृह रक्षा वाहिनी के हरमू कार्यालय के घेराव पर भी बैठक में विचार किया जाएगा.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Special Category
Main Top Slide
City List of Jharkhand
loading...
Loading...