अफसाना हत्याकांड के खिलाफ प्रदर्शन : सरकार को चेतावनी, “दोषियों को गिरफ्तार करो अन्यथा घेरेंगे सीएम हाउस”

Submitted by NEWSWING on Fri, 04/13/2018 - 19:31

“ वो अपने अब्बू के आंगन में चहकने वाली चिरैया थी. अम्मी की आंखों का नूर थी. उसके साथ परिवार के सपने भी जुड़े थे. एक दिन बिटिया घर से निकली और जब लौट कर आई तो किसी वहशी दरिंदे की वजह से बेजान मुर्दे में तब्दील हो चुकी थी. उसकी लाश मानो चीख-चीखकर कह रही थी, कि इंसाफ अभी बाकी है. ये सवाल बेचैन करने वाला है- क्या अधूरा ही रह जाएगा मौत का ये अफसाना ?”

Ranchi : रांची के पुंदाग निवासी और मरवाड़ी कॉलेज की मृतका छात्रा अफसाना परवीन को इंसाफ दिलाने के लिए शुक्रवार को कडरु अंसारी पंचायत के बैनर तले भारी संख्या में लोग सड़क पर उतरे. सैकड़ों की संख्या में महिलाओं और पुरुषों ने कडरु स्थित हज हाउस से हिंद चौक तक विरोध मार्च निकाला. इस दौरान हाथों में तख्तियां लिए लोगों विरोध प्रदर्शन किया. साथ ही इस मामले में दोषियों को अविलंब गिरफ्तार कर फांसी देने की मांग की.

इसे भी देखें- आमया का आरोप : झारखंड में हुआ है अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति घोटाला, मामले की हो जांच

Image removed.
अफसाना हत्याकांड के खिलाफ प्रदर्शन

पुलिस छिपा रही है अपनी नाकामी : हफिजुल हसन

कडरु पंचायत के अध्यक्ष हफिजुल हसन ने कहा कि अफसाना परवीन की हत्या समाज को शर्मसार करने वाली है. इस मामले अभी तक पुलिस ने एक भी गिफ्तारी नहीं की है. लोगों में पुलिस के सुस्त रवैये से काफी रोष है. उन्होंने कहा कि हत्या को एक सप्ताह बीत जाने के बाद भी दोषी की गिरफ्तारी नहीं हुई है.  हद तो तब हो जाती है जब पुलिस अपनी नाकामी छिपाने के लिए मृतका छात्रा पर ही आरोप मढ़ने लगती है. वहीं आमया के अध्यक्ष एस. अली ने कहा कि लगातार छात्राओं के साथ दुष्कर्म कर निर्मम हत्या की जा रही है. इसे रोकने और अपराधियों पर कार्रवाई करने में पुलिस विफल रही है. उन्होंने कहा कि अगर दो रोज के अंदर अफसाना परवीन के हत्यारों को गिरफ्तार नही किया जाता है तो मुख्यमंत्री आवास का घेराव किया जाएगा. विरोध मार्च में मो. सुजाउद्दीन, हाजी असमुद्दीन, मो. जलालुद्दीन, हाजी मोकिद, अनवर खान, आलम खान, निसार खान, लतीफ आलम, तनवीर आलम, मोख्तार अंसारी सहित अन्य शामिल थे.

इसे भी देखें- सोनी देवी के बेटे के पिता आप हैं या नहीं ? हाई कोर्ट ने पूर्व कृषि मंत्री सत्यानंद झा बाटुल से पूछा

6 अप्रैल को हुई थी लापता हुई थी अफसाना

बात छह अप्रैल की है, जब  दिन के 11.30 बजे मारवाड़ी महिला कॉलेज में फॉर्म भरने के नाम पर अफसाना घर से निकली थी. लेकिन जब वो शाम तक वापस नहीं लौटी. तब परिजनों ने उसके लापता होने को लेकर पुंदाग ओपी में सनहा दर्ज कराया.  सात अप्रैल को लोहरदगा पुलिस ने  कैरो प्रखंड के चिप्पो नदी किनारे एक युवती का शव जली अवस्था में बरामद किया. तब परिजनों ने शव के शरीर में एक मस्सा देख कर उसकी पहचान अफसाना के रूप में की थी. जिसके बाद परिवार में कोहराम मच गया, इलाके में मातम पसर गया. अब राजधानी ही नहीं, पूरे राज्य में बेटियों की सुरक्षा का सवाल जनमानस को बेचैन करने लगा. वहीं जान गंवा चुकी छात्रा अफसाना के कातिल अब भी कानून के शिकंजे से बाहर हैं, जिन्हें सलाखों के पीछे धकेलकर सख्त सजा देने की मांग लोग कर रहे हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

City List of Jharkhand
loading...
Loading...