Skip to content Skip to navigation

साल 2018 तक टेलीकॉम इंडस्ट्री में निकलेंगी 30 लाख नौकरियां

News Wing

Ranchi, 7 September: हाल ही में सामने आए एक अध्ययन में कहा गया कि साल 2018 तक टेलीकॉम इंडस्ट्री में 30 लाख नई नौकरियां निकलेंगी. रिपोर्ट में कहा गया कि देश में 4जी तकनीक के आने, डेटा के उपभोग में वृद्धि, टेलीकॉम मार्केट में नई कंपनियों के आने, डिजिटल वॉलेट शुरू होने और स्मार्टफोन की बढ़ती पॉपुलरिटी लगातार बढ़ रही है. इस वजह से इंडस्ट्री में कर्मचारियों की मांग और रोजगार के मौके भी बढ़ रहे हैं. ये अध्ययन रिपोर्ट गुरुवार को जारी की गई है.

2021 तक 8,70,000 नौकरियां

रिपोर्ट में सामने आया कि टेलीकॉम इंडस्ट्री में नई-नई टेक्नोलॉजी का आगमन हो रहा है. इनमें एम2एम और सूचना, संचार प्रौद्योगिकी (आईसीटी) और 5जी जैसी टेक्नोलॉजी शामिल हैं. अनुमान है कि साल 2021 तक 8,70,000 नौकरियां और निकलेंगी. बता दें कि ये स्टडी रिपोर्ट एसोचैम-केपीएमजी की ने पेश की है.

अध्ययन में किया दावा

अध्ययन में कहा गया, "दूरसंचार क्षेत्र अभी एक ऐसी स्थिति में है जहां प्रति उपभोक्ता राजस्व में कमी आने के बाद भी वे आधारभूत संरचना तथा तकनीकी बेहतरी के लिए निवेश बढ़ाने को मजबूर हैं, ताकि उनकी प्रतिस्पर्धिता बनी रहे। 5जी और मशीन टू मशीन जैसी भविष्य की प्रौद्योगिकी तथा सूचना एवं संचार की तकनीक की उन्नति से वर्ष 2021 तक रोजगार के 8.7 लाख अवसर सृजित होने की संभावना है."

स्किल और कर्मचारियों की कमी

रिपोर्ट में कहा गया कि स्किल गैप को भरने की बहुत जरूरत है. इसमें एक तरफ तो मानव संसाधन की कमी है, वहीं दूसरी तरफ तरफ वर्तमान मानव संसाधन के कौशल को दुबारा बढ़ाने की जरूरत है, ताकि नई टेक्नोलॉजी के अनुरूप कर्मचारी काम करने में सक्षम हों. नई टेक्नॉलोजी के आने से टेलिकॉम सेक्टर में ज्यादा लोगों की आवश्यकता होगी, क्योंकि मौजूदा समय में इस सेक्टर में काम कर रहे लोगों की स्कील और उनकी संख्या इन सबके लिए पर्याप्त नहीं है.

इन सेक्टर में होगी बंपर वेकेंसी

बुनियादी संरचना और साइबर सुरक्षा विशेषज्ञ, एप्किलेशन डेवलपर, सेल्स एक्जीक्यूटिव, इंफ्रास्ट्रक्चर टेकनीशियन, हैंडसेट टेकनीशियन आदि में इस समय बड़ी संख्या में मानव संसाधन की कमी है. आने वाले समय में इन सेक्टर में बंपर भर्तियां निकलेंगी.

2017 की पहली तिमाही में 85,003 करोड़ का निवेश

अध्ययन में कहा गया कि टीएसपीज (दूरसंचार सेवा प्रदाताओं) अपने नेटवर्क में लगातार निवेश कर रहे हैं और वर्तमान नेटवर्क इंफ्रास्ट्रक्चर मॉडर्नाइजेशन कर रहे हैं. इस पर साल 2017 की पहली तिमाही में कुल 85,003 करोड़ रुपए का निवेश किया गया.

Lead
Share
Website Designed Developed & Maintained by   © NEWSWING | Contact Us