Skip to content Skip to navigation

न्यूज विंग के जागरूक पाठक अपनी समस्या, अपने आस-पास हो रही अनियमितता की तस्वीर या कोई अन्य खबर फोटो के साथ वाहट्सएप नंबर - 8709221039 पर भेजे. हम उसे यहां प्रकाशित करेंगे.

Add new comment

चैन से नहीं बैठूंगा, सृजन घोटाले में नीतीश और सुशील मोदी पर हो प्राथमिकी दर्ज: लालू

News Wing
Patna, 13 September: बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता एवं अपने छोटे पुत्र तेजस्वी प्रसाद यादव, राजद के वरिष्ठ नेता जगदानंद सिंह और शिवानंद तिवारी के साथ मंगलवार को पटना में पत्रकारों को संबोधित करते हुए राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने सृजन घोटाले को लेकर कहा कि वो तब तक वो चैन से नहीं बैठेंगे जब तक बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज नहीं हो जाती हैं.

जनता को जवाब चाहिए: लालू

वहीं सृजन घोटाले को लेकर भागलपुर जिले में बीते रविवार को आयोजित राजद की रैली को नीतीश के नुक्कड नाटक कहे जाने पर लालू ने कहा कि नीतीश ऐसा बोल कर चेतावनी दे रहे हैं जिसका हम मुकाबला करेंगे. हम जनता के प्रतिनिधि हैं और हमारी पार्टी विपक्ष में है. नीतीश जी आपको सृजन घोटाले पर जबाब देना ही होगा क्योंकि जनता को जवाब चाहिए.

नीतीश को पहले से थी घोटाले की जानकारी

लालू यादव ने यह भी कहा कि नीतीश कुमार और सुशील मोदी को पहले से ही इस पूरे घोटाले के बारे में पता था. उन्हें पता था कि सरकारी राशी की लूट हो रही है, फिर भी उन्होंने ये बात जनता से छुपाई. 10 जुलाई को भागलपुर प्रशासन का चेक बैंक से लौटने लगा था और यह सिलसिला 29 जुलाई तक चला और इस बात की खबर कानों-कान किसी को नहीं हुई. नीतीश कुमार ने कहा था कि वो सबसे पहले इस बात को सभी के सामने उजागर करेंगे तो फिर उन्होंने ऐसा क्यों नहीं किया.

मामले को रफा दफा करने की हुई कोशिश

लालू ने यह भी कहा कि नीतीश कुमार ने घोटाले के मामले को रफा दफा करने के लिए इसकी जांच की पूरा जिम्मा सृजन संस्था के कार्यक्रमों में शामिल होने वाले पुलिस पदाधिकारीयो को सौंप दिया था. ऐसा उन्होंने इसलिए किया क्योंकि उन्हे पता चल गया था कि क्या होने वाला है और इसलिए वो महागठबंधन तोड़ने से पहले लगातार दिल्ली जाना शुरु किया था.

नीतीश पर तेजस्वी का तंज

तेजस्वी ने आरोप लगाया कि सरकार नहीं चाहती है कि हम इस घोटाले को उजागर करें. उन्होंने ये भी कहा कि सीबीआई द्वारा इस मामले की निष्पक्ष जांच की जाए इसको लेकर उनकी पार्टी उच्चतम न्यायालय भी जाएगी. उन्होंने नीतीश से यह भी पूछा कि उनके उस संकल्प का क्या हुआ जिसमें उन्होंने इस मामले के आरोपियों को पाताल से भी ढूंढ निकाले का दावा किया था.

Share
loading...