Skip to content Skip to navigation

Add new comment

ACB की रिपोर्ट: भूमि सुधार एवं राजस्व विभाग में सबसे अधिक भ्रष्टाचार, 2017 में अबतक 110 लोग हुए गिरफ्तार

 

News Wing

Ranchi, 13 September: शिकायत कोई भी हो उसकी जांच की जाती है, यदि जांच किये जाने के दौरान शिकायतकर्ता की शिकायत सही पायी जाती है, तो फिर आरोपी पर कार्रवाई की जाती है. उक्त बातें एंटी करप्शन ब्यूरो के एडीजी पीआरके नायडू और मनोज कुमार ने कार्यालय के सभागार में संवाददाता संम्मेलन के दौरान कहीं. उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार पर रोक के लिए राज्य के छह प्रमंडल रांची, पलामू, जमशेदपुर, धनबाद, दुमका और हजारीबाग में एंटी करप्शन ब्यूरो के कार्यालय की स्थापना की गई है. लोग कहीं भी शिकायत दर्ज करा सकते हैं. एंटी करप्शन ब्यूरो की शिकायतें निबटाने के लिए अलग न्यायालय की भी स्थापना की गई है. मामलों की त्वरित सुनवाई इसी न्यायालय में की जाती है.

भूमि सुधार एवं राजस्व विभाग में अधिक भ्रष्टाचार

एंटी करप्शन ब्यूरो ने विभिन्न शिकायतों के आधार पर वर्ष 2017 में सितम्बर माह तक 110 कर्मचारी को गिरफ्तार किया है, जिसमें सबसे अधिक भूमि सुधार एवं राजस्व विभाग के 30 कर्मचारी, ग्रामीण विकास विभाग के 26 कर्मचारी, नगर निगम पंचायत राज विभाग के 10 कर्मचारी, पुलिस विभाग के 9 और मानव संसाधन विकास विभाग के 4 कर्मचारी शामिल हैं.

हजारीबाग प्रमंडल में सबसे अधिक मामला  

इस वर्ष एंटी करप्शन ब्यूरो के हजारीबाग प्रमंडल में सबसे अधिक 28 मामले दर्ज किये गये हैं. दूसरे स्थान पर धनबाद प्रमंडल में 20 मामले, तीसरे स्थान पर पलामू प्रमंडल में 16 मामले, चौथे स्थान पर जमशेदपुर में 15 मामले, पांचवे स्थान पर रांची में 13 मामले जबकि दुमका प्रमंडल में सबसे कम 8 मामले दर्ज किये गये हैं.

प्रमंडलवार लंबित कांडों की संख्या

रांची- 13

पलामू- 16

जमशेदपुर- 15

धनबाद- 20

दुमका- 08

हजारीबाग- 28

अबतक बरामद की गई राशि

वर्ष 2007- 4,40,900     

2008- 2,56,400

2009- 65,300

2010- 4,54,250   

2011- 67,800

2012- 1,94,500     

2013- 5,89,300

2014- 4,26,100

2015- 5,89,410

2016- 5,89,410

2017- 10,03,700

 

ये हैं बड़ी रकम वसूली करने वाले गिरफ्तार कर्मचारी

- प्रमोद कुमार अग्रवाल पूर्वी वन प्रमंडल हजारीबाग में सहायक वन संरक्षक, 50,000 रूपये रिश्वत के साथ गिरफ्तार किया गया.

- उत्पल गोपालन जिला निलामी शाखा में पेशकार, 40,000 हजार रूपये रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार.

- ज्योति स्नेहलता प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र निमडीह एवं अनिल कुमार मुखी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र निमडीह में क्लर्क, 40,000 हजार रूपये के साथ गिरफ्तार.

- अशोक कुमार अग्र परियोजना केन्द्र में लिपिक, 30,000 रिश्वत के साथ गिरफ्तार.

- संतोष साहु प्रबंधक सेंट्रल को आपरेटिव बैंक, सुभाष कुमार और जयेश चावड़ा 25,000 रूपये रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार, 

 

गिरफ्तार व्यक्तियों का ऑकड़ा विभागवार

          विभाग                        2015      2016     2017         

भूमि सुधार एवं राजस्व विभाग               30         33        30

गृह विभाग                               00          1        00

शिक्षा विभाग                             3             7       3

पुलिस विभाग                            8             14       9

कार्मिक, प्रशासनिक सुधार तथा राजभाषा विभाग 3           1         3

ग्रामीण विकास विभाग                      3          1         26

स्वस्थ्य विभाग                            0          3         3

प्रदूषण विभाग                             0          0          2

वित्त विभाग                               1          1          1 

विधि (न्याय) विभाग                       0           0          2

लघु सिंचाई विभाग                         0          0          1

विघुत विभाग                             5          5          3

परिवहन विभाग                          2           0          1

पथ निर्माण विभाग                       4           0          1

जल संसाधन विभाग                      3           1          3

खाद्घ एवं सार्वजनिक वितरण विभाग        3           4          0

मानव संसाधन विकास विभाग              0           2          4

समाज कल्याण एवं बाल विकास विभाग   2             5          0

पशुपालन एवं मत्स्य विभाग             1            4           3

वाणिज्यकर विभाग                     1            2           0

भवन निर्माण विभाग                    1           0           0

कृषि विभाग                           2           9           1

वन विभाग                           1            1           2

नगर निगम व पंचायती राज्य विभाग     1            1          10

श्रम नियोजन एवं प्रशिक्षण विभाग       0            4           0

प्राईवेट (सहयोगी)                      0           0           2

(नोट वर्ष 2017 में 12.09.2017 तक की सूची है)

 

 

Slide
Share
Website Designed Developed & Maintained by   © NEWSWING | Contact Us