Skip to content Skip to navigation

न्यूज विंग के जागरूक पाठक अपनी समस्या, अपने आस-पास हो रही अनियमितता की तस्वीर या कोई अन्य खबर फोटो के साथ वाहट्सएप नंबर - 8709221039 पर भेजे. हम उसे यहां प्रकाशित करेंगे.

घरेलू खान-पान से भी संभव होगा मलेरिया और डेंगू का इलाज

News Wing

Ranchi, 12September: मलेरिया और डेंगू इंसान के शरीर को तोड़ कर रख देता है. ऐसे में एक्स्पर्ट्स के मुताबिक डॉक्टरी इलाज के अलावा भी कुछ चीजें हैं जो बना सकती हैं आपको पहले जैसा फिट और हेल्दी. वर्ल्ड हेस्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) के रिपोर्ट के मुताबिक ये कुछ चीजें हैं जिन्हें खान-पान में शामिल करना बेहद जरूरी है. जानें वो कौन-सी चीजें हैं जो इन गंभीर बीमारियों से आपको बचा सकती हैं..

शहद : शहद शरीर में मौजूद कीटाणुओं का खात्म करता है और बॉडी को पहले जैसा ही फिट और एक्टिव बना देता है. इसलिए इसे खान-पान में जरूर शामिल करें. इस बात का भी ध्यान रखें कि शहद शुद्ध हो, क्योंकि आजकल बाजार में नकली शहद मिल रहा है.

अदरक : अदरक का एक टुकड़ा मुंह में रखकर चूसने से बैक्टीरिया पूरी तरह से खत्म हो जाते हैं और बॉडी भी इंफेक्शन से बची रहती है. 

हल्दी : हल्दी हेल्थ के लिहाज से बेहद गुणकारी मानी जाती है. रोजाना एक गिलास हल्दी वाला दूध पीना शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता को सही करता है.

योगर्ट : योगर्ट में मौजूद एंजाइम्स इम्यून सिस्टम को सही रखता है. खाने में योगर्ट शामिल करना बीमारी और इंफेक्शन दोनों से बचाव करने का सबसे बेस्ट ऑप्शन है. 

ऑरेंज जूस : ऑरेंज का जूस स्वाद और सेहत से भरपूर होता है. इसे पीने से शरीर को ठंडक मिलती है और बीमारी से लड़ने की क्षमता भी बढ़ जाती है. 



वेजिटेबल जूस : वेजिटेबल जूस पीने से सारी सब्जियों का प्रोटीन और विटामिन मिलेगा जिससे शरीर को ताकत मिलेगी और इम्यून पावर बढे़गा. 



नींबू पानी : मलेरिया होने पर सुबह-सुबह गुनगुने पानी में नींबू निचोड़ कर पीने से काफी फायदा होगा. 



फ्रेश फ्रूट्स : मलेरिया से पीड़ित व्यक्ति ब्रेकफास्ट में बिना किसी दिक्कत के फ्रेश फ्रूट्स ले सकता है इससे उसे भरपूर मात्रा में प्रोटीन और आयरन मिलेगा. 



दूध : मलेरिया होने पर शरीर को बहुत स्टेमिना की जरूरत होती है. फ्रूट्स के साथ अगर दूध भी पी लिया जाएगा तो यह बेहद कारगर सिद्ध होगा. लेकिन हां, खट्टे फल खाने के साथ ही दूध न लें.



छाछ : ठंडी-ठंडी छाछ भी ऐसे में बहुत आराम दिलाती है. लंच या डिनर में इसे लिया जा सकता है. 



उबली सब्जियां : लंच में उबली हुई सब्जियां लेना भी एक बेहतरीन और फायदेमंद ऑप्शन है. यह आसानी से पच सकती हैं. 

 

स्प्राउट्स : जैसा कि कहा जाता है कि डिनर में सभी को हल्का भोजन करना चाहिए, ऐसे में मलेरिया पीड़ितों के लिए स्प्राउट्स और सलाद लाभकारी साबित हो सकता है.

 

क्या न खाएं : चाय, कॉफी, केक, पेस्ट्री, सफेद आटा, मीट, सॉस, अचार भूलकर भी न खाएं. 

  

Share

Add new comment

loading...