Skip to content Skip to navigation

चुनाव आयोग का बड़ा फैसला, शरद का दावा खारिज, नीतीश का हुआ जदयू

NEWSWING

Patna, 12 September :दयू के बागी नेता शरद यादव को चुनाव आयोग से बड़ा झटका लगा है. चुनाव आयोग ने मंगलावर को शरद यादव की पार्टी सिंबल पर दावा करने संबंधी आवेदन को खारिज कर दिया है. वैध दस्तावेजों के अभाव में शरद यादव के पार्टी सिंबल पर दावा करने वाले आवेदन को खारिज कर दिया.

नीतीश की अध्यक्षता वाली जदयू ही असली जदयू

आयोग के इस फैसले के साथ अब ये साफ हो गया है कि नीतीश कुमार की अध्यक्षता वाली ही जदयू ही असली जदयू है. बता दें कि जदयू के शरद गुट ने बीते 25 अगस्‍त को पार्टी सिंबल पर अपना दावा पेश किया था. लेकिन, शरद यादव चुनाव आयोग में अपने दावे के पक्ष में वैध कागजात उपलब्‍ध नहीं करा सके. बता दें कि इससे पहले नीतीश की जदयू की तरफ से चुनाव आयोग पार्टी से संबंधित दस्तावेजी सबूत दाखिल किए गये. चुनाव आयोग को जो शपथ पत्र दिये गेय, उनमें सबकी सहमति दिखी. 

वैंकेया नायडू से की थी शरद यादव की राज्यसभा सदस्यता खत्म करने की मांग

गौरतलब है कि बिहार सीएम नीतीश कुमार के एनडीए में शामिल होने के बाद जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) में जारी घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है. पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष केसी त्यागी पार्टी चिन्ह के लिए बीते 8 सितंबर को चुनाव आयोग में गए थे. नीतीश कुमार का बीजेपी के साथ हाथ मिलाने के बाद शरद यादव ने लालू के साथ पटना में मंच साझा किया था और इसके बाद नीतीश वाली जदयू ने राज्यसभा के सभापति और उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू से मुलाकात कर शरद यादव की राज्यसभा की सदस्यता खत्म करने की मांग की थी.

Slide
Share

Add new comment

loading...