Skip to content Skip to navigation

पलामू: 11 हजार वोल्ट करंट की चपेट में आने से व्यक्ति की मौत, महीनों से झूल रहा था तार

News Wing

Palamu, 13 September: भाई बिगहा में बुधवार की सुबह टहलने के लिए घर से निकले निरंजन कुमार की 11 हजार वोल्ट करंट की चपेट में आने से घटना स्थल पर ही मौत हो गई. इस घटना की जानकारी मिलते ही लोग घरों से निकलकर घटना स्थल पर पहुंचे व उसे लेकर हैदरनगर पीएचसी पहुंचे. जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

शव के साथ जपला-मोहम्मदगंज मुख्य पथ किया जाम

बाद में आक्रोशित ग्रामीणों ने रेलवे गुमटी चौक पर शव के साथ जपला-मोहम्मदगंज मुख्य पथ को जाम कर दिया. टायर जलाकर विरोध जताया व हैदरनगर बाजार भी बंद करा दिया.

पहुंचे पदाधिकारी, अभियंता पर प्राथमिकी दर्ज

घटना की सूचना मिलने पर अनुमंडल पदाधिकारी सुरजीत कुमार सिंह व अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी मनोज कुमार महतो जाम स्थल पर पहुंचे. उन्होंने इस घटना के लिए दोषी बिजली विभाग के सहायक अभियंता हिमांशू वर्मा व कनीय अभियंता प्रदीप कुमार सिंह के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई. ग्रामीणों ने इस घटना के लिए अभियंताओं को दोषी ठहराया था.

मृतक के आश्रित को दी जायेगी जरूरी सहायता

अधिकारियों ने मृतक के आश्रित को राष्ट्रीय पारिवारिक हित लाभ योजना के तहत निर्धारित राशि, प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास व विधवा पेंशन देने का आश्वासन दिया. एसडीओ, एसडीपीओ, थाना प्रभारी,एनसीपी के जिला अध्यक्ष अजीत सिंह, मुखिया कमलेश सिंह,समाज सेवी धीरज सिंह ने तत्काल मृतक के अश्रित को दो दो हजार रुपये सहायता राशि दी. साथ ही अधिकारियों के साथ वार्ता कर अश्रित को मुआवजा व सरकारी नौकरी दिलाने की भी बात की. अधिकारियों ने इस दिशा में उचित कार्रवाई का भरोसा दिलाया.

चार घंटे बाद जाम हटा

अधिकारियों के आश्वासन के बाद ग्रामीणों ने चार घंटे बाद जाम हटाया. बाजार भी खुल गये. वार्ता में यमुना यादव मुखिया के अलावा अनिल चंद्रवंशी, गुड्डु खां, राजु खां, अशरफ हसन, अब्दुल हक रजा खां, शमीम खां व अन्य शामिल थे. जाम का नेतृत्व राजद नेता अजहर अली उर्फ चिंटु ने किया. उन्होंने युवक की मौत के लिए सरासर विभागीय अभियंताओं की लापरवाही बताया.

महीनों से झूल रहा था तार

हैदरनगर- देवरी विद्युत लाईन के 11 हजार वोल्ट का तार महीनों से महेसरी सिंह के आहर के पेड़ पर 6 फीट की उंचाई पर झूल रहा है. इसी तार की चपेट में आने से निरंजन कुमार रवि की मौत हो गई. जबकि ग्रामीणों ने इसकी शिकायत कई बार विभागीय अभियंताओं से की थी. लेकिन उन्होंने कोई कार्रवाई नहीं की. इसी प्रकार हैदरनगर- कोसिआरा- तारा- रामबांध पर 11 हजार वोल्ट के तार झूल रहे हैं. इस विद्युत लाईन के कारण भी कभी भी हादसा से हो सकता है. ग्रामीणों ने इसकी शिकायत भी विभागीय अभियंताओं से की है. मगर यहां भी अबतक कोई कार्रवाई नहीं हुई.

Top Story
Share

Add new comment

loading...