RBI की छठी मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक की मुख्य बातें जानें

Publisher NEWSWING DatePublished Wed, 02/07/2018 - 16:36

New Delhi: आरबीआई की छठी मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक की मुख्य बातें निम्नलिखित रहीं: - रेपो दर छह प्रतिशत पर अपरिवर्तित.

-रिवर्स रेपो दर 5.75 प्रतिशत और नकद ऋण की सीमांत स्थायी सुविधा दर और -बैंक दर 6.25 प्रतिशत.

-आरबीआई का नीतिगत रुख तटस्थ.

इसे भी पढ़ेंः शेयर मार्केट में बड़ी गिरावट, 1200 अंक नीचे लुढ़का सेंसेक्स, निफ्टी भी 350 अंक टूटा

-कच्चे तेल के दामों में उछाल का उपभोक्ताओं पर असर देर से डालने के कारण जनवरी में पेट्रोल-डीजल के दाम तेजी से बढ़े.

-चालू वित्त वर्ष की चौथी तिमाही में खुदरा मुद्रास्फीति 5.1 प्रतिशत , अगले वित्त वर्ष की पहली छमाही में 5.1-5.6 प्रतिशत रहने का अनुमान.

- वर्ष 2017-18 में के लिए आर्थिक वृद्धि दर का अनुमान 6.7 से घटाकर 6.6 प्रतिशत किया गया, अगले वित्त वर्ष में वृद्धि दर 7.2 प्रतिशत संभव.

-जीएसटी प्रणाली में स्थिरता आ रही है, अर्थव्यवस्था के लिए अच्छा है.

-निवेश में सुधार के प्रारंभिक संकेत.

-बैंक पुनर्पूंजीकरण, दिवाला कानून लागू होने से बैंकों की ओर से रिण सहायता में वृद्धि संभव.

-वैश्विक बाजर में सुधार से निर्यात तेज होने की उम्मीद.

इसे भी पढ़ेंः आम बजट पेश किये जाने के बाद से शेयर मार्केट में छायी मंदी, आज भी सेंसेक्स 450 अंक गिरकर 34,616 पर खुला

-बजट में ग्रामीण एवं ढांचागत संरचना पर जोर स्वागतयोग्य.

-मौद्रिक नीति समिति के पांच सदस्यों रेपो दर स्थिर रखने के पक्ष में, एक 0.25 प्रतिशत बढ़ाने के पक्ष में थे. -समित की अगली बैठक चार-पांच अप्रैल को.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.