सोशल मीडिया साइट्स पर टीनएजर्स 5 मिनट के भीतर दे देते हैं प्रतिक्रिया

Publisher ADMIN DatePublished Thu, 02/08/2018 - 15:25

Ranchi : सोशल नेटवर्किंग साइट्स अपडेट्स पर टीनएजर्स पांच मिनट के भीतर ही प्रतिक्रिया दे देते हैं. देश की बड़ी आईटी कंपनी टीसीएस ने कुछ शहर के टीनएजर्स की सर्फिंग हैबिट पर सर्वे किया. इसमें चौंकाने वाले तथ्य सामने आए. सर्वे में पता चला कि शहर के 13 से 17 साल के बीच के 30 प्रतिशत से ज्यादा टीनएजर्स सोशल नेटवर्किंग साइट्स का उपयोग करते हैं. ये आयुवर्ग फेसबुक, टि्वटर और वॉट्सएप का सबसे ज्यादा इस्तेमाल करते हैं.

8वीं से 12वीं तक के स्टूडेंट्स पर किया गया सर्वे

सोशल नेटवर्किंग साइट्स के उपयोग को लेकर यह सर्वे कक्षा 8वीं से 12वीं तक के स्टूडेंट्स पर किया गया. सोशल नेटवर्किंग साइट्स को लेकर यूजर्स के बढ़ते रुझान को जानने के लिए हुये इस सर्वे से यह बात तो साफ हो गयी कि टीनएजर्स लड़के टेक्नोलॉजी को लेकर खासे दिलचस्प हैं. खासतौर पर गैजेट्स की जानकारी के लिए.

खरीदारी में आगे लड़के

हमेशा ये कहा जाता है कि लड़कियां खरीदारी और बातें करने की शौकीन होती हैं, लेकिन इस सर्वे ने इन दोनों ही मामलों में विपरीत तथ्य दिए हैं. ऑनलाइन शॉपिंग करने में लड़कियों की तुलना में लड़कों का प्रतिशत ज्यादा है. शहर से ऑनलाइन शॉपिंग करने वाले टीनएजर्स में लड़कों की संख्या 63 प्रतिशत है.

पढ़ाई के लिए भी कर रहे उपयोग 

स्कूली स्टूडेंट्स इन साइट्स का उपयोग स्कूल के असाइनमेंट्स को पूरा करने के लिए भी कर रहे हैं. यह माध्यम उनके लिए मददगार साबित हो रहा है. कई स्कूलों और क्लासेस द्वारा असाइनमेंट्स, एक्टिविटी, एग्जाम आदि की जानकारियां स्टूडेंट्स तक इन्हीं सोशल नेटवर्किंग साइट्स के जरिए दी जाने लगी हैं. ऐसे में स्टूडेंट्स इनका उपयोग और भी ज्यादा करने लगे हैं.

 

7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

सुप्रीम कोर्ट का आदेश : नहीं घटायी जायेंगी एमजीएम कॉलेज जमशेदपुर की मेडिकल सीट

मैट्रिक व इंटर में ही हो गये 2 लाख से ज्यादा बच्चे फेल, अभी तो आर्ट्स का रिजल्ट आना बाकी  

बीजेपी के किस एमपी को मिलेगा टिकट, किसका होगा पत्ता साफ? RSS बनायेगा भाजपा सांसदों का रिपोर्ट कार्ड

आतंकियों की आयी शामतः सीजफायर खत्म, ऑपरेशन ऑलआउट में दो आतंकी ढेर- सर्च ऑपरेशन जारी

दिल्ली: अनशन पर बैठे मंत्री सत्येंद्र जैन की बिगड़ी तबियत, आधी रात को अस्पताल में भर्ती

भूमि अधिग्रहण पर आजसू का झामुमो पर बड़ा हमला, मांगा पांच सवालों का जवाब

सूचना आयोग में अब वीडियो कांफ्रेंसिंग से होगी सुनवाई, मोबाइल ऐप से पेश कर सकते हैं दस्तावेज

झारखंड को उद्योगपतियों के हाथों में गिरवी रखने की कोशिश है संशोधित बिल  :  हेमंत सोरेन

जम्मू-कश्मीर : रविवार से आतंकियों व अलगाववादियों के खिलाफ शुरु हो सकता है बड़ा अभियान

उरीमारी रोजगार कमिटी की दबंगई, महिला के साथ की मारपीट व छेड़खानी, पांच हजार नगद भी ले गए

विपक्ष सहित छोटे राजनीतिक दलों को समाप्त करना चाहती है केंद्र सरकार : आप