तीन तलाक विधेयक में कई खामियां हैं : ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड

Publisher NEWSWING DatePublished Thu, 02/08/2018 - 16:39

Haiderabad:  मुस्लिम धर्मगुरूओं के एक शीर्ष संगठन ने आज कहा कि राजग सरकार द्वारा लाए गए तीन तलाक विधेयक में कई खामियां हैं.  साथ ही  संगठन ने इन खामियों को दूर करने की दिशा में काम करने का भी संकल्प लिया. ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (एआईएमपीएलबी) ने आरोप लगाया कि एक बहुत गलत कानून बनाने का प्रयास किया जा रहा है.
पूरे विश्व में इस तरह का कोई कानून नहीं है

पर्सनल लॉ बोर्ड के प्रवक्ता मौलाना खलील-उर-रहमान सज्जाद नोमानी ने कहा कि पूरे विश्व में इस तरह का कोई कानून नहीं है. एक बहुत गलत कानून बनाने का प्रयास किया जा रहा है. इसमें कई खामियां हैं. मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड इन खामियों को दूर करने के पक्ष में है.  उन्होंने बोर्ड के 26वें वार्षिक आम सभा की पूर्व संध्या पर संवाददाताओं से बात करते हुए यह कहा कि बोर्ड ने सभी विपक्षी पार्टियों से इस बात पर विचार करने को कहा है कि क्या विधेयक को इसके मौजूदा रूप में पारित किया जा सकता है. गौरतलब है कि यह विधेयक लोकसभा में पारित हो चुका है, लेकिन इसे राज्य सभा की मंजूरी मिलनी अभी बाकी है, जहां भाजपा नीत राजग के पास बहुमत का अभाव है. नोमानी ने आरोप लगाया कि विधेयक का मौजूदा रूप तलाक को ही प्रतिबंधित कर देगा. उन्होंने कहा कि बोर्ड की बैठक में तीन तलाक मुद्दे के साथ ही अयोध्या मुद्दे पर भी भविष्य की रणनीति को सुदृढ़ किया जाएगा. नोमानी ने कहा कि बोर्ड को अयोध्या मुद्दे के हल के लिए कोई आधिकारिक या अनाधिकारिक प्रस्ताव नहीं मिला है.

top story (position)