झारखंड में माओवादियों से बरामद दस्तावेजों की जांच करेगी एनआईए

Publisher NEWSWING DatePublished Sat, 04/07/2018 - 12:55

Giridih :  राष्ट्रीय जांच एजेंसी( एनआईए) पिछले महीने गिरिडीह जिले में नक्सल विरोधी अभियानों के दौरान माओवादियों के पास से बरामद किये गये सैकड़ों आधार कार्डों सहित बरामद किये गये दस्तावेजों की जांच करेगी. अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक आर के मलिक ने शुक्रवार को बताया कि झारखंड सरकार ने अभियानों के दौरान नक्सलियों से बरामद किये गये आधार कार्डों, एटीएम कार्डों और बैंक दस्तावेजों से जुड़े दस्तावेजों की एनआईए से जांच कराने की सिफारिश की है.

इसे भी पढ़ें: सलमान की जमानत पर सस्पेंस, सेशन कोर्ट के जज का हुआ ट्रांसफर

1125 आधार कार्ड, 60 एटीएम कार्ड और 200 बैंक एकाउंट से जुड़े दस्तावेज किये गये थे बरामद

उन्होंने बताया कि अभियानों के दौरान सुनील सोरेन, उप क्षेत्रीय कमांडर शेखर उर्फ चार्ली और सोहन मांझी सहित 15 माओवादियों को गिरफ्तार किया गया है. सुनील के सिर पर 25 लाख रूपये का ईनाम घोषित था. उन्होंने बताया कि तलाशी अभियान के दौरान भारी मात्रा में हथियार और गोला-बारूद बरामद किये जाने के अलावा सुरक्षा बलों ने 1125 आधार कार्ड, 60 एटीएम कार्ड और 200 बैंक एकाउंट से जुड़े दस्तावेज बरामद किये थे.

इसे भी पढ़ें: पीएम का विरोधियों पर बड़ा हमला, कहा, गरीब मां का बेटा प्रधानमंत्री बने, यह पच नहीं रहा, हिंसा फैला रहे हैं

नक्सल विरोधी अभियान के कारण  राज्य में नक्सलियों की संख्या में आई है  काफी कमी

मलिक ने बताया कि राज्य में राज्य सशस्त्र पुलिस और सीआरपीएफ के गहन नक्सल विरोधी अभियान के कारण राज्य में नक्सलियों की संख्या में काफी कमी आ गयी है. उन्होंने कहा कि नक्सल खतरे को बेहतर तरीके से कुचलने के कारण राज्य में इस समय केवल 500 से 600 नक्सली रह गये हैं. राज्य में वरिष्ठ माओवादी नेताओं की उपस्थिति के बारे में पूछे जाने पर मलिक ने बताया कि प्रयाग मांझी, मिसिर बेसरा और प्रशांत बोस सहित सभी शीर्ष माओवादियों नेता के सिर पर एक-एक करोड़ रूपये का ईनाम है. वे पुलिस के रडार पर हैं और उन्हें जल्द की पकड़ लिया जाएगा.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

City List of Jharkhand
loading...
Loading...