न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#JharkhandElection: नीतीश ही नहीं शॉटगन शत्रु और यशवंत सिन्हा भी कर सकते हैं सरयू राय के लिए प्रचार

दिलचस्प होती जा रही जमशेदपुर पूर्वी सीट की चुनावी लड़ाई

1,868

Jamshedpur: झारखंड विधानसभा चुनाव में जमशेदपुर हॉट सीट बनी हुई है. पूर्वी जमशेदपुर का चुनाव एक्शन से भरा होगा. 25 सालों से पूर्वी सीट पर अपना कब्जा जमाये रघुवर दास को ‘खामोश’ करने के लिए शॉटगन शत्रुध्न सिन्हा और यशवंत सिन्हा भी मन बना रहे है.

खबर है की केवल बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ही नहीं बल्कि शत्रुध्न सिन्हा और यशवंत सिन्हा भी सरयू राय के लिए प्रचार कर सकते है. सूत्रों की मानें तो शत्रुध्न सिन्हा और यशवंत सिन्हा दोनों ने फोन पर सरयू राय से बात की.

JMM

इसे भी पढ़ेंः#Maharastra: कांग्रेस-NCP की बैठक आज, राउत बोले-5-6 दिनों में बनायेंगे सरकार, किसानों के मुद्दे पर PM से मिलेंगे पवार

साथ देने की बात कहते हुए सरयू राय से पूर्वी जमशेदपुर में होने वाले उनके कार्यक्रर्मों की डिटेल मांगी है ताकि सही समय पर दोनों दिग्गज पूर्वी में सरयू राय के लिए दहाड़ सकें.

बीजेपी में रहते दोनों ने दिखाये थे बागी तेवर

इसमें कोई दो राय नहीं है की शत्रुध्न सिन्हा और यशवंत सिन्हा काफी मुखर रहे हैं. कई मुद्दों को लेकर उन्होंने प्रधानमंत्री के खिलाफ भी जाने से आवाज बुलंद करने से गुरेज नहीं किया. इधर सरयू राय भी भ्रष्टाचार के खिलाफ खड़े होने के लिए ही जाने जाते हैं.

सरयू राय से दोनों के रिश्ते बेहद गहरे और पुराने भी हैं इसीलिए दोनों दिग्गजों से भी सरयू राय को हर स्तर पर सहयोग करने का आश्वासन मिला है.

इसे भी पढ़ेंः#JharkhandElection: आज रांची आयेंगे मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोड़ा, दो दिवसीय झारखंड दौरे पर होगी चुनाव आयोग की टीम

नीतीश कुमार करेंगे प्रचार

नीतीश कुमार ने कहा है कि वह सरयू राय के लिए चुनाव प्रचार में हिस्सा लेंगे. सरयू राय की बिहार के सीएम और जदयू चीफ नीतीश कुमार से काफी नजदीकी रही है. दोनों पुराने साथी रहे हैं.

नीतीश कुमार जमशेदपुर में कम से कम तीन सभाएं करेंगे. उनके रोड शो करने की बात भी है. बिहार जदयू की बड़ी टीम जमशेदपुर पूर्वी विधानसभा क्षेत्र में कैंप करेगी.

यही नहीं जदयू ने इस सीट से प्रत्याशी नहीं उतारने का फैसला किया है. माला पहन कर गाजे-बाजे के साथ नामांकन करने आये जदयू के दोनों प्रत्याशी उपायुक्त कार्यालय से लौट गये. इसका मतलब साफ है कि सरयू राय को जदयू का पूर्ण समर्थन मिल गया है.

इसे भी पढ़ेंः#JharkhandElection: 1 लाख 17 हजार सरकारी नौकरी देने का दावा झूठा, सही आंकड़ा है 38,029

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like