न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#Jio: अब महंगे होंगे जियो के टैरिफ प्लान, एयरटेल, वोडाफोन-आइडिया पहले ही कर चुकी हैं घोषणा

2,246

New Delhi: दूरसंचार क्षेत्र में गलाकाट प्रतिस्पर्धा के बीच एयरटेल और वोडाफोन-आइडिया के बाद रिलायंस जियो ने भी मोबाइल सेवाओं की दरें बढ़ाने की घोषणा की है.

कंपनियों का यह निर्णय आम उपभोक्तओं की जेब पर भारी पड़ सकता है जबकि जियो ने कहा है कि वह दर में वृद्धि इस तरह करेगी ताकि डेटा उपभोग पर प्रतिकूल असर न पड़े.

JMM

फिलहाल सबसे सस्ती दरों पर सेवाएं दे रही रिलायंस जियो ने मंगलवार को एक बयान में कहा कि वह अगले कुछ सप्ताह में मोबाइल सेवाओं की दरें बढ़ानेवाली है.

इसे भी पढ़ें – यूं ही रघुवर और सरयू की दूरियां नहीं बढ़ी, जनिये मंत्री रहते सरकार पर कब कैसे किया वार, पढ़ें पांच साल के ट्विट्स

दिसंबर से बढ़ेंगी एयरटेल, वोडाफोन-आइडिया की दरें

एक ही दिन पहले सोमवार को भारती एयरटेल और वोडाफोन-आइडिया ने कहा था कि वे दिसंबर से मोबाइल सेवाओं की दरें बढ़ानेवाली हैं.

जियो ने कहा कि भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) मोबाइल सेवाओं की दरों में संशोधन पर संभवत: परामर्श की शुरुआत करनेवाला है.

हालांकि इस बीच ट्राई से जुड़े सूत्रों ने कहा कि नियामक अभी दूरसंचार कंपनियों द्वारा शुल्क वृद्धि को अमल में लाने का इंतजार करेगा. नियामक उसके बाद इसकी समीक्षा करेगा कि शुल्क वृद्धि नियामकीय दायरे में है या नहीं.

Related Posts

#InfrastructureSector के एक तिहाई प्रोजेक्ट में देर का खामियाजा, 3.89 लाख करोड़ रुपये लागत बढ़ी : रिपोर्ट

मंत्रालय द्वारा अगस्त 2019 के लिए जारी  रिपोर्ट में कहा गया है कि  इन 1,634 परियोजनाओं के क्रियान्वयन की मूल लागत 19,40,699.03 करोड़ रुपये थी, अनुमान है कि यह बढ़कर 23,29,746.02 करोड़ रुपये पहुंच जायेगी.

कंपनी ने बयान में कहा, ‘‘अन्य कंपनियों की तरह हम भी सरकार के साथ मिलकर काम करेंगे. हम उद्योग जगत को मजबूत कर उपभोक्ताओं को लाभ देने के लिए नियामकीय व्यवस्था का अनुपालन करेंगे. हम अगले कुछ सप्ताह में शुल्क बढ़ाने समेत अन्य कदम इस तरह उठायेंगे कि इसका डेटा के उपभोग या डिजिटलीकरण पर प्रतिकूल प्रभाव न पड़े तथा निवेश भी मजबूत बना रहे.’’

इसे भी पढ़ें – #DoubleEngine की सरकार में शिक्षा का निजीकरण: 11 प्राइवेट यूनिवर्सिटी खुलीं, सरकारी मात्र दो 

दूरसंचार कंपनियों के शुल्क बढ़ाने के बाद उसकी समीक्षा करेगा ट्राई

भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) पुरानी मोबाइल सेवा प्रदाता कंपनियों के शुल्क बढ़ाने के बाद यह समीक्षा करेगा कि वृद्धि नियामकीय रूपरेखा के अनुकूल है या नहीं. ट्राई से जुड़े सूत्रों ने इसकी जानकारी दी है.

भारती एयरटेल और वोडाफोन- आइडिया ने कहा है कि वे दिसंबर माह से मोबाइल सेवाओं की दरें बढ़ानेवाली हैं. जियो ने भी टैरिफ प्लान में वृद्धि की घोषणा की है. इन कंपनियों का कहना है कि बाजार में बने रहने के लिए दरें बढ़ाना उनके लिए अपरिहार्य हो गया है. किसी भी कंपनी ने यह नहीं बताया है कि दरों में कितनी वृद्धि की जाने वाली है.

ट्राई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि नियामक अभी इंतजार करेगा और घोषणा की विस्तृत जानकारियों को देखने के बाद कोई निर्णय करेगा.

उन्होंने कहा, ‘‘उन्हें शुल्क बढ़ाने दीजिये, फिर हम देखेंगे. यह भी देखेंगे कि बढ़ा शुल्क वहनीय है या नहीं.’’

इसे भी पढ़ें – #JharkhandElection: विधायक निर्मला देवी ने चुनाव आयोग को लिखा पत्र, कहा- बड़कागांव एसडीपीओ पर हो कार्रवाई

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like