खूंटी : जब्त किये गये पत्थर व कैंप के विरोध में मुरहू में ग्रामीणों का सड़क जाम, पत्थलगड़ी के लिये ले जाया रहा था पत्थर

Publisher NEWSWING DatePublished Tue, 03/20/2018 - 17:31

Khunti: खूंटी के मुरहू थाना क्षेत्र के कोवरा स्थित सीआरपीएफ कैंप को हटाने की मांग को लेकर मंगलवार को ग्रामीणों ने सभा किया. करीब एक हजार ग्रामीण केवरा मैदान में जुटे. ग्रामीण थाना घेराव की तैयारी कर रहे थे. इसकी सूचना मिलने के बाद खूंटी जिला पुलिस ने बड़े पैमाने पर केवरा में पुलिस बल की तैनाती कर दी. जिस कारण ग्रामीण थाना घेराव करने नहीं जा सके और उन्होंने गांव के मैदान में ही सभा की. ग्रामीणों ने विरोध में मंगलवार की दोपहर 2 बजे से ही खूंटी-चाईबासा रोड मुरहू के समीप खबर लिखे जाने तक रोड जाम कर रखा है. 

वहीं रविवार को मुरहू थाना के द्वारा पत्थलगड़ी को लेकर बंदगांव थाना के मरला एवं सावड़िया गांव के लोग हूटार स्थित  चलागी से पत्थर ट्रैक्टर से ले जा रहे थे. जिसे मुरहू थाना ने जब्त कर लिया था. साथ ही केवरा में  सभा के बाद बंदगांव स्थित मरला और सावड़िया गांव के लोगों के समर्थन में बीरबाकी और अड़की से भी लोग सड़क पर उतर आये.       

उल्लखेनीय है कि राजकीयकृत्त उत्‍क्रमित मध्‍य विद्यालय केवरा में सैफ के जवानों का कैंप बनाया गया था. इसकी वजह से गांववाले आक्रोशित हैं.  ग्रामीणों का आरोप है कि कैंप के जवान गांव की महिलाओं के साथ छेड़छाड़ करते हैं. वहीं दूसरी ओर गांव के विद्यालय में पढ़ने वाले बच्‍चों में कमी आयी है. इस कैंप को ग्राम सभा ने अवैध करार देते हुए घेराव किया और कैंप खाली कराने का नोटिस दिया.

इसे भी पढ़ेंः खूंटी : ग्रामीणों का आरोप- स्‍कूल में स्थित कैंप के जवान करते हैं महिलाओं से छेड़छाड़, कैंप हटाने की ग्राम सभा ने दी नोटिस (देखें वीडियो)

g
सभा में उपस्थित ग्रामीण पारंपरिक हथियारों से लैस थे. 

कैंप के कारण स्कूल में बच्चों की घटी उपस्थिति

 विद्यालय प्रबंध समिति के अध्‍यक्ष जोसेफ हासा पूर्ति का कहना है कि विद्यालय में कैंप के कारण बच्‍चे डर से स्‍कूल नहीं आ पा रहे हैं. कैंप के पूर्व करीब 150 बच्‍चे पढ़ाई के लिए आते थे. लेकिन आज हालात ऐसी है कि बच्‍चों की संख्‍या 70 से भी कम हो गयी है. कैंप में रहने वाले जवान इधर-उधर बचे भोजन का जूठन फेंकते हैं, जिस कारण स्‍कूल के आस-पास आवारा कुत्‍तों का जमावड़ा लगा रहता है. कुछ दिन पूर्व ही एक बच्‍चा अब्राहम हासा पूर्ति को एक कुत्‍ते ने काट लिया था. 30 जनवरी 2018 को जवानों के द्वारा बुरूहातू के एक ग्रामीण की साइकिल जवानों ने जबरदस्ती ले ली और उससे लकड़ी ढोने का काम किया, जिससे साइकिल क्षतिग्रस्‍त हो गया. एक-तो जवानों का भय और कुत्‍तों के आतंक के कारण स्‍कूल में बच्‍चों की उपस्थिति कम हो गयी है.

इसे भी पढ़ेंः पत्थलगड़ी के नाम पर लोगों को भड़काने वालों के खिलाफ होगी सख्त कार्रवाई : झारखंड सरकार

इसे भी पढ़ेंः रांची नगर निगम : जानिये किस वार्ड में हैं आप, बदल गया है आपका क्षेत्र 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं. 

City List of Jharkhand
Top Story
loading...
Loading...