लैंड माइन ब्लास्ट में घायल हाथी को बचाने में जुटा वाइल्ड लाइफ

Submitted by NEWSWING on Sun, 01/14/2018 - 11:04

- जंगल में तलाशी के दौरान वन विभाग को मिला लैंडमाइन से घायल हाथी.

- नक्सलियों के लैंड माइंस से पांच दिन पहले घायल हुआ था हाथी.

Latehar: पलामू टाइगर रिजर्व क्षेत्र में नक्सलियों के बिछाये लैंड माइंस से घायल हाथी को बचाने में वन विभाग और वाइल्ड लाइफ टीम की घायल  हाथी की तलाश में जुट गई. पांच दिन पूर्व घायल हुए हाथी को बचाने में पूरा टाइगर रिजर्व नींद से जागा और टीम गठित कर के अभियान में जुट गया. शनिवार की सुबह से बारेसांड के जंगल में हाथी का तलाश शुरू हुई. काफी मशक्कत के बाद घायल हाथी को खोजा गया. 

ट्रेंकुलाइजर एक्सपर्ड को हाथी को कंट्रोल करने में काफी परेशानी उठानी पड़ रही है.  बताते चले कि नक्सलियों की बिछाये लैंड माइंस  चार दिन पहले हाथी घायल हो गया था. घायल हाथी अपने आस-पास टीम को आते देख काफी गुस्से में हो जा रहा है.

ट्रेंकुलाइजर गन और एक्सपर्ड लगा अभियान में

वन अधिकारी के मुताबिक हाथी को ट्रैंकुलाइज ( बेहोश कर पकड़ना ) करने का आदेश दिया गया है. जिसके बाद उसका ईलाज किया जाएगा. वन विभाग के टीम अपने साथ दो ट्रेंकुलाइज गन और एक्सपर्ड कि मदत ले रही है. समाचार लिखे जाने तक हाथी को विभाग कंट्रोल नही कर पायी थी. वहीं अभियान से जुड़े वाइल्ड लाइफ के डॉक्टर अजय कुमार ने कहा कि हाथियो में प्राकतिक गुण होता है जिससे उसके घाव धीरे- धीरे भर जाएगा. अभियान में डाइरेक्टर एम. पी सिंह, रेंजर भोला सिंह, राजेंद्र शुक्ला, एसीएफ मदनजीत सिंह, वनकर्मी, गार्ड और ट्रेकर लगे हुए हैं.

हाथियों पर होने वाले हमलों में वृद्धि हो रही है जिससे उनकी संख्या घटती जा रही है: एम पी सिंह

घायल हाथी के रेस्क्यू में शामिल पलामू टाइगर रिजव के डाइरेक्टर एम पी सिंह ने कहा कि वन विभाग ने लैंड माइंस हटाने और अन्य मामलों में पुलिस से मदद मांगी है. कई बार विभागीय पत्राचार भी किया गया है. पर हमें अपेक्षाकृत मदद नही मिल पा रहा है. पुलिस नक्सली संघर्ष से वाइल्ड एरिया के जंगल से जानवर काफी बैचेन है. उनके हाव भाव मे काफी परिवर्तन दिख रहा है. नक्सलियो के बिछाये लैंड माइंस से पिछले बार भी एक हाथी की मौत हो गयी थी, वर्ष 2013 व 2017 मे भी हाथियो को गोली लगी थी.  इसके साथ कई बार अन्य जानवरों की मौत लगातार हो रही है. हमारे पास कोई ऐसा तंत्र नही है कि लैंडमाइंस को हटा सके. 

City List of Jharkhand
Top Story
loading...
Loading...