फर्जी लॉटरी टिकट का काला धंधा धड़ल्ले से जारी, पुलिस की नाक के नीचे चल रहा खेल

Publisher NEWSWING DatePublished Tue, 05/08/2018 - 19:39

Sahebganj : जिले में धड़ल्ले से प्रशासन की नाक के नीचे डुप्लिकेट लॉटरी और जीएसटी लॉटरी की बिक्री हो रही है. हर दिन लाखो रूपये की प्राइज का झांसा देकर लॉटरी खरीद बिक्री का धंधा जारी है. लोग जल्द अमीर बनने के लालच में अपने पसीने की कमाई लॉटरी में लुटा रहे हैं. वहीं डुप्लिकेट लॉटरी का धंधा भी चरम पर है लॉटरी टिकट की कीमत 50 रूपये से शुरू होकर सैकड़ों रूपये तक है.लॉटरी खेलने वाले माणिक रजक, मो शमीम, कैलासमो सादिक, हरेराम यादव, छोटू कुमार सहित अन्य ने बताया की डुप्लिकेट लॉटरी की खासियत ये है की वो सिर्फ एक नम्बर का एक ही होता है और लॉटरी बेचने वालों की मिली भगत से क्लोजिंग के बाद ही जो लॉटरी नम्बर क्लोज हो जाता है उसी में प्राइज दिया जाता है. लॉटरी एजेंट ग्राहकों को प्राइज के नाम पर झांसा देते हैं. सूत्र बताते हैँ की शहर क़े तीन लोग दीपक फल वाला, चिंटू व गुड्डू ये तीनो नगालैंड़ लॉटरी से मिलकर जाली टिकट यूपी क़े मुगलसराय से छपवाते हैँ व उसे साहेबगंज जिले क़े हर प्रखंडों मे जैसे कोठालपोखर, मिर्जाचौकी , बरहरवा राजमहल व साहेबगंज शहर मे खपाते है. अगर आपका इन टिकटों पर इनाम निकलता है तो उसकी राशि होती है 1400 रुपये, जबकि एक दिन मे जिले मे पांच लाख की लॉटरी बिक रही है. इन जाली टिकट बेचने वाले गिरोह की सांठगांठ नगालैंड़ लॉटरी क़े मालिक क़े साथ है. इनलोगों का मास्टरमाइंड नसीम मिया है जो हर काम को मैनेज करता है.

इसे भी पढ़ें- राजा पीटर मामले में बाबूलाल ने राजनाथ सिंह को लिखा पत्र, जांच की पुनर्समीक्षा करने की मांग

जिले में दो तरह की लॉटरी बिक रही, डुप्लिकेट लॉटरी एवं जीएसटी लॉटरी

वहीं दूसरी लॉटरी जीएसटी की कीमत पांच रूपये से लेकर सैकड़ों रूपये तक होती है. लॉटरी खेलने वाले मो सादिक, रिजवान, पंकज कुमार, दीपक राम ,जितेन यादव, प्रशांत कुमार, मो दिलशान सहित अन्य ने बताया की जीएसटी लॉटरी में सरकार जीएसटी कर लेती है. जीएसटी लॉटरी में प्राइज पांच सौ रूपये से 25 लाख तक का है. वाउचर के साथ खेलने पर एक्स्ट्रा प्राइज है लेकिन प्राइज बोल बोल कर लॉटरी बेचने वाले एजेंट शहर के गरीबों, भोले भाले लोगो, मजदूर, रिक्शा, ऑटो चालकों सहित अन्य को प्रथम पुरस्कार का झांसा देकर बेचते है. एजेंट शहर में घूम घूमकर चाय दुकान, पान दुकान, रिक्शा, ऑटो स्टैंड के समीप जाकर, विभिन्न दुकानों में जाकर बेचते है. वही सुबह से लेकर रिजल्ट आने तक शहर के राजेश्वरी सिनेमा हॉल, पटेल चौक, स्टेशन चौक, बंगाली टोला रोबर्ट्सन क्लब, पुराना सदर अस्पताल, कृष्णनगर, बड़तल्ला, पूर्वी फाटक, मजहरटोला, धर्मशाला चौक सहित शहर के कई स्थानों के पास लॉटरी एजेंटो का मेला लगता है. गौर करने वाली बात ये है कि इस अवैध धंधे की जानकारी पुलिस को भी है, लेकिन कार्रवाई करने को लेकर वो संजीदगी नहीं दिखला रही. लिहाजा इस काले धंधे पर अंकुश नहीं लग पा रहा है.

इसे भी पढ़ें- पलामू : प्यार करना नाबालिग को पड़ा महंगा, विरोधियों ने ले ली जान, शव को जंगल में दफनाया

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

na