लोहरदगा: एक साल से बंद पड़ा ब्लड बैंक, असामजिक तत्वों का बना अड्डा

Publisher NEWSWING DatePublished Fri, 04/13/2018 - 13:05

Lohardaga: लोहरदगा में मरीजों की बेहतर सुविधा के उद्देश्य से बना ब्लड बैंक शुरु होने के कुछ महीनों बाद ही बंद हो गया. करीब एकसाल से बंद पड़े इस ब्लड बैंक के खुलने का यहां के लोगों को इंतजार है. लाखों की लगात से इस भवन को बनाया गया. सालों से बंद ये भवन अब असामाजिक तत्वों का अड्डा बन गया है. ब्लड बैंक का भवन जहां लाखों की लगात से तैयार हुआ, वही इसमें करीब 10 लाख रुपये सभी उपकरण भी लगाए जा चुके हैं

इसे भी पढ़ेंउन्नाव गैंगरेप केस: जिस विधायक सेंगर के खिलाफ यूपी पुलिस को गिरफ्तारी के साक्ष्य नहीं मिले, वह CBI की गिरफ्त में

दरअसल भवन के तैयार होने के बाद एक साल पहले विधिवत रूप से इसका उद्घाटन भी करा दिया गया, लेकिन दुर्भाग्य की बात यह रही कि ड्रग्स लाइसेंस सहित अन्य तकनीकी लाइसेंस प्राप्त नहीं होने की वजह से इस ब्लड बैंक भवन को बंद कर दिया गया था. फिलहाल ब्लड बैंक पुराने भवन में ही चल रहा है. एकसाल से स्वास्थ्य विभाग ड्रग्स लाइसेंस सहित अन्य लाइसेंस की प्रक्रिया को पूरा करने में लगी हुई है. बावजूद इसके अभी तक इस दिशा में विभाग को सफलता नहीं मिली है.

लाइसेंस का है इंतजार: डॉक्टर

वही मामले में सदर अस्पताल उपाधीक्षक डॉ शंभुनाथ चौधरी का कहना है कि तकनीकी रूप से हमने काम पूरा कर लिया है. अब बस लाइसेंस के लिए आवेदन किया गया है. लाइसेंस प्राप्त होते ही ब्लड बैंक शुरू हो जाएगा. बहरहाल जो भी हो, लाइसेंस की प्रक्रिया के लंबित रहने की वजह से लोहरदगा के लोगों को अत्याधुनिक ब्लड बैंक का लाभ नहीं मिल पा रहा है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

City List of Jharkhand
loading...
Loading...