मेटा 2018 : रंगकर्मी और फिल्म डायरेक्टर विजया मेहता को दिया गया लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड

Publisher NEWSWING DatePublished Sat, 04/21/2018 - 12:22

New Delhi:  रंगमंच क्षेत्र में रंगायनजैसा योगदान देने वाली मशहूर नाट्यकर्मी डॉक्टर विजया मेहता को इस वर्ष मेटा लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार प्रदान किया गया है. इसके अलावा इसी नाट्योत्सव में प्रदर्शित नाटकों में मलयाली नाटक नोनाने सर्वश्रेष्ठ नाटक, सर्वश्रेष्ठ निर्देशक समेत चार पुरस्कारों पर कब्जा जमाया. समारोह में कुल 14 श्रेणियों में पुरस्कार प्रदान किये गये. 

 यह भी पढ़ें: बीबीसी वन के ड्रामा मिनी सीरिज ‘मिसेज विल्सन’ में काम करेंगे अनुपम खेर

मैं बेटी रही, पत्नी रही, मां रही, उसके साथ नाट्यकर्मी रही : विजया मेहता

13वें महिंद्रा एक्सीलेंसी इन थिएटर अवार्ड्स (मेटा) के रंगारंग समापन अवसर पर शुक्रवार को विजया का पुरस्कार उनकी बेटी अनाइता ने स्वीकार किया. वह अस्वस्थ होने के कारण समारोह में उपस्थित नहीं हो सकीं. अपने वीडियो संदेश में विजया ने कहा कि मैं बहुत खुश हूं कि आज की नयी पीढ़ी खुद को कला और नाटक की दुनिया में ढाल रही है. हमारे समय में और अब में बहुत फर्क आया है. मैं शुक्रगुजार हूं आदी मर्जबान और इब्राहिम अल्काजी की जिनके साथ मुझे काम करने का मौका मिला. उन्होंने कहा कि मैं बेटी रही, पत्नी रही, मां रही और इन सब जिम्मेदारियों के साथ मैंने नाट्यकर्मी की जिम्मेदारी को भी निभाया.
 

गौरतलब है कि विजया ने नाटककार विजय तेंदुलकर और अभिनेता अरविंद देशपांडे एवं श्रीराम लागू के साथ मिलकर रंगायन नाट्य समूह बनाया. इसने मराठी नाटक में नए प्रयोग किए और 60 के दशक में इसने बहुत ख्याति प्राप्त की. इसके अलावा विजया ने समांतर सिनेमा को भी राव साहिबऔर पेस्टनजीजैसी उत्कृष्ट फिल्में प्रदान की. मेटा पुरस्कार देश में रंगमंच क्षेत्र में दिया जाने वाला प्रतिष्ठित पुरस्कार है.

सर्वश्रेष्ठ नाटक का पुरस्कार नोना और आइटम ’ को दिया गया

इस साल 13वें संस्करण में सर्वश्रेष्ठ नाटक का पुरस्कार मलयाली भाषा के नोनाऔर हिंदी के आइटमनाटक को संयुक्त तौर पर दिया गया. यह पहली दफा है जब दो नाटकों को संयुक्त तौर पर सर्वश्रेष्ठ नाटक का पुरस्कार दिया गया है. नोनादेश में बढ़ते छद्म राष्ट्रवाद पर करारा प्रहार करने वाला नाटक है. वहीं आइटमएक बी-श्रेणी फिल्म की अदाकारा के माध्यम से हमारे समाज की महिलाओं के प्रति दोयम दर्जे की सोच को दिखाता है. नोनाको इसके अलावा सर्वश्रेष्ठ निर्देशक (जिनो जोसेफ) सर्वश्रेष्ठ मंच सज्जा (जिनो जोसेफ) और सर्वश्रेष्ठ प्रकाश सज्जा (साजस रहमान और एबिड पीटी) समेत कुल चार पुरस्कार प्राप्त हुए. नोना शब्द का हिेंदी अर्थ झूठहोता है. इसी को अपनी बात में शामिल करते हुए पुरस्कार प्राप्त करते वक्त इसके निर्देशक जोसेफ ने कहा कि है तो यह झूठ, लेकिन इस झूठ में कुछ तो बात है (कि चार पुरस्कार मिले हैं).

इसे भी पढ़ें: पाकिस्तानी एक्ट्रेस मीशा ने अली जफर पर लगाया सेक्शुअल हैरेसमेंट का आरोप

सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार साईंनाथ गणुवाड़ को मिला

इसके अलावा मुख्य भूमिका में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार आइटम के लिए साईंनाथ गणुवाड़, मुख्य भूमिका में सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री होजांग टैरेट की खो. सानातोंबी को मिला. सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए करुप्पू की रुचि रविंद्रन का विशेष उल्लेख भी किया गया. मेटा में सर्वश्रेष्ठ सह अभिनेता और सर्वश्रेष्ठ सह अभिनेत्री का पुरस्कार क्रमश: मुक्तिधाम के कुमुद मिश्रा और शिखंडी की सृष्टि श्रीवास्तव को मिला. शिखंडी को अन्य पुरस्कार सर्वश्रेष्ठ नाटक मंडली का भी मिला. इसके अलावा सर्वेश्रेष्ठ मौलिक पटकथा का पुरस्कार मुक्तिधाम के अभिषेक मजूमदार, सर्वश्रेष्ठ अभिनव साउंड डिजाइन का होजांग टैरेट के एच. अनिल कुमार, सर्वश्रेष्ठ वेशभूषा का करुप्पू की रुचि रविंद्रन और सर्वश्रेष्ठ नृत्य निर्देशक का करुप्पू की मनी भारती को दिया गया.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.