न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#KartarpurCorridor के उद्घाटन से पहले 2,200 से अधिक भारतीय सिख पाक के ननकाना साहिब पहुंचे   

613

Lahore : सिख धर्म के प्रवर्तक गुरु नानक देव की 550वीं जयंती का उत्सव मनाने के लिए भारत से 2000 से अधिक सिख तीर्थयात्री पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में स्थित गुरुद्वारा ननकाना साहिब पहुंच चुके हैं. उल्लेखनीय है कि इस सप्ताह ही करतारपुर गलियारे का उद्घाटन होना है.

गुरुद्वारा ननकाना साहिब उस स्थान पर है, जहां गुरु नानक देव का जन्म हुआ था. वर्ष 2019 को उनके 500वें प्रकाश पर्व या जयंती वर्ष के रूप में मनाया जा रहा है.

JMM

विस्थापित न्यास संपत्ति बोर्ड (ईटीपीबी) के प्रवक्ता ने कहा कि करीब 2,200 सिख वाघा सीमा के रास्ते यहां आ चुके हैं और ईटीपीबी के वरिष्ठ अधिकारियों ने उनकी आगवानी की.

इसे भी पढ़ें : #BJP के सभी उम्मीदवारों के नामों का फैसला दो दिनों में, दिल्ली से होगी घोषणा

अन्य गुरुद्वारों के भी दर्शन कर सकेंगे

उन्होंने बताया कि इस दौरान ये तीर्थयात्री पंजाब प्रांत में स्थित अन्य गुरुद्वारों के दर्शन भी करेंगे और नौ नवंबर को करतारपुर गलियारे के उद्घाटन समारोह में भी शामिल होंगे. वे 12 नवंबर को प्रकाश पर्व के अवसर पर आयोजित मुख्य कार्यक्रम में भी शामिल होंगे। उन्होंने बताया कि ये तीर्थयात्री वापस अपने देश 14 नवंबर को रवाना होंगे.

तीर्थयात्रियों के समूह के प्रमुख गुरमीत सिंह ने कहा कि वे प्यार और शांति का संदेश लायें हैं. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा सिखों के लिए करतारपुर गलियारे को खोलने के फैसले को हमेशा याद रखा जायेगा. उन्होंने कहा, ‘‘हम यहां आकर बहुत खुश हैं.’’

ईटीपीबी के अध्यक्ष अमीर अहमद ने कहा कि सिख तीर्थयात्रियों को हर तरह की सुविधाएं दी जायेंगी और उनकी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए जायेंगे.

इसे भी पढ़ें : #Jamshedpur : पूर्वी जमशेदपुर पर सीएम को सीधी चुनौती देंगे डॉ अजय, शंभू चौधरी के लिए छोड़ी पश्चिमी सीट

सोने की पालकी स्थापित की

Related Posts

#JNUStudents का फीस बढ़ोतरी को लेकर राष्ट्रपति भवन मार्च, पुलिस का लाठीचार्ज

जेएनयू स्टूडेंट्स यूनियन ने घोषणा कि है कि अगर फीस कम नहीं की गयी तो वे पढ़ाई के बाद अब परीक्षा का भी बहिष्कार करेंगे.

इससे पहले 1100 सिख तीर्थयात्रियों के पहले जत्थे के ज्यादातर सदस्यों ने गुरुद्वारा दरबार साहिब करतारपुर की यात्रा की. उनके साथ पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के राज्यपाल चौधरी सरवर भी मौजूद थे. इन तीर्थयात्रियों ने गुरुद्वारे में अपने साथ लायी गई सोने की पालकी स्थापित की.

राज्यपाल ने कहा कि करतारपुर गलियारे को निर्धारित समय में पूरा किया गया है और इससे दोनों देश करीब आयेंगे.

उन्होंने कहा कि गुरुद्वारा दरबार साहिब पाकिस्तान की तरफ से सिख समुदाय को एक तोहफा है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा इस गलियारे का उद्घाटन करने के बाद भारत से प्रतिदिन 5,000 सिख तीर्थयात्री यहां की यात्रा कर सकेंगे.

12 नवंबर को गुरु नानक की जयंती

गुरु नानक देव की 550वीं जयंती 12 नवंबर को है और इससे पहले नौ नवंबर को करतारपुर गरियारे का उद्घाटन किया जायेगा.

इस बीच पाकिस्तान सरकार ने फैसला किया है कि भारतीय नागरिकों के अलावा विदेशी सिखों को करतारपुर साहिब के दर्शन कराने के लिए यात्रा संचालकों को गृह मंत्रालय से अनापत्ति प्रमाणपत्र लेना होगा.

एक अधिकारी ने कहा, ‘‘अमेरिका, कनाडा और यूरोपीय देशों से आने वाले सिखों को लाहौर के लिए यात्रा वीजा जारी किया गया है। पवित्र स्थानों पर उनके अनियंत्रित दौरे में सुरक्षा संबंधी समस्याएं हैं. इसीलिए यात्रा संचालकों को गृह मंत्रालय से अनापत्ति प्रमाणपत्र लेने के लिए कहा गया है.’’

गुरु नानक की 550वीं जयंती के संबंध में भारत और अन्य देशों से सिख तीर्थयात्री ननकाना साहिब में आने लगे हैं.

इसे भी पढ़ें : #PoliticalGossip: ले हेमंत सोरेन के बना दिया बाहुबली और स्वच्छ भारत अभियान का एदमे से कचरा कर दिया

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like