Skip to content Skip to navigation

हूल दिवस पर राज्‍यपाल द्रौपदी ने दी बधाई

दुमका: सिदो-कान्हू मुर्मू विश्‍वविद्यालय दिग्घी दुमका में हुल दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में राज्यपाल झारखण्ड, द्रौपदी मुर्मू ने संताल अकादमी में बनें लैंग्वेज लैब तथा सुग्गाबथान (गोड्डार) में बने मॉडल कॉलेज का ऑनलाइन उद्घाटन किया एवं एडमिनिस्ट्रेटिटव ब्लॉक फेज-2, सेंट्रल लार्इब्रेरी व सिक्युरिटी पोस्ट का शिलान्यास सहित एक मोबार्इल एप्प को भी लॉंच किया।

इस अवसर राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने आजादी की लड़ार्इ में शहीद हुए सभी महापुरूषों सिदो कान्हू चांद भैरव को नमन करते हुए कहा कि संथाल हूल संथाल जनजाति का सबसे पहला स्वतंत्रता संग्राम था जो अंग्रेजो के खिलाफ था जिसका नेतृत्व किया था सिदो कान्हु चांद और भैरव ने। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि विश्‍वविद्यालय शिक्षा का सर्वोच्च स्थान है। यहां बच्चों में देशभक्ति जगायी जाय। पढ़ने के बाद युवा बड़े पैकेज के लिए देश न छोड़े। युवा सिदो कान्हू से प्रेरणा लेकर देश की मिट्टी से प्रेम करें। यही महापुरुषों को सच्ची श्रद्धांजलि होगी। भले ही पेट भ्ाूखा हो, कपड़े तन पर भले ही कम हों, लेकिन देश न छोड़े। उन्होंने छात्र-छात्राओं और युवाओं को संबोधित करते हुए कहा कि वे विफलताओं से हताश न हों। देश के लिए खुद के महत्व को समझें। देश को उनसे काफी उम्मीदें हैं। अपने लक्ष्य प्राप्ति की ओर सतत प्रयास करें। विफलताओं का सामना कर आगे बढ़े।

इस अवसर पर समाज कल्याण मंत्री डा लुर्इस मरांडी ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि मैं सिदो कान्हू चांद भैरव एवं उनके परिवार को कोटिकोटि नमन करती हूँ। उन्होंने कहा कि जिन मूल्यों को लेकर हूल हुआ था, उसे पूरा करने की जरुरत है। इस हूल के असंख्यक नायकों को इतिहास में शामिल करना होगा। हूल के महत्व को देश-विदेश के लोग जाने ऐसा प्रयास करना होगा।अशोक भगत ने कहा कि सिदो कान्हू के सपने अभी पूरे नहीं हूए। उन सपनों को हमें पूरा करना होगा।

कार्यक्रम के प्रारंभ में पारंपिरक रीति रिवाज से माननीय राज्यपाल का स्वागत किया गया। राज्यपाल ने विश्‍वविद्यालय द्वारा कराये गये बैडमिंटन खेल प्रतियोगिता में बालक वर्ग के राजू राणा एवं बालिका वर्ग के शबनम नाज को पुरस्कृत किया गया।

कार्यक्रम में समाज कल्याण मंत्री डा लुर्इस मरांडी पद्मश्री अशोक भगत, कुलपति सिदो कान्हु मुर्मू विश्‍वविद्यालय एम पी सिन्हा एवं विश्‍वविद्यालय के प्रोफेसर एवं काफी संख्या में छात्र छात्रायें उपस्थित थे।

Share
loading...