Skip to content Skip to navigation

बजट की 24 फीसदी राशि खर्च करने में विफल रही सरकार- नौ

News Wing

Ranchi, 12 August: रघुवर सरकार 2015-16 के बजट की 24 फीसदी राशि खर्च करने में विफल रही है. 72 हजार 474 करोड़ के बजट में से 17 हजार 524 करोड़ की विशाल राशि की बचत हुई है. जाहिर है कि बजट की इतनी बड़ी राशि के लैप्स होने से राज्य में चल रहे विभिन्न विकासपरक योजनाओं के कार्यान्वयन में प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है. 31 मार्च को वित्तीय वर्ष की समाप्ति पर सरेंडर अमाउंट 13 हजार 954 करोड़ रुपये है. इतनी बड़ी राशि के सरेंडर होने के कारण दूसरे विभागों की जरूरतें पूरी नहीं हो पायी. सीएजी की रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है. सीएजी ने यह भी खुलासा किया है कि आकस्मिकता निधि से 2015-16 के दौरान 49 अवसरों पर 164.52 करोड़ रुपये की राशि व्यय की गयी है. ये राशि न तो आकस्मिक और न ही अप्रत्याशित प्रकृति के थे.

सीएजी की पूरी रिपोर्ट पढ़ें 
Report:-1
2
3
4
5
6
7
8
 ( सुनिये/देखिये वित्तीय गड़बड़ी के बारे में क्या कहा सीएजी नें )

2001 से 15 तक सरकार ने बजट राशि से ज्यादा खर्च की

सीएजी की रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि  झारखंड सरकार ने 2001 से 2015 तक बजट प्रावधान से ज्यादा राशि खर्च की, जबकि नियम के मुताबिक बजट प्रावधान से ज्यादा कोई भी खर्च बगैर विधानसभा की अनुमति के नहीं होनी चाहिए. 2001 से 2015 के दौरान बजट प्रावधानों से 2,739.12 करोड़ का अधिक का व्यय किया गया. इसे भारत के संविधान के अनुच्छेद 205 के अंतर्गत विनियमित किया जाना आवश्यक है.

Top Story
Share

News Wing

Scotland, 22 August: अपनी प्रतिद्वंद्वी खिलाड़ी के रिटायर्ड हर्ट होने के कारण भार...

News Wing
Mumbai, 22 August: निर्देशक रोहित शेट्टी की आगामी कॉमेडी-एक्शन 'गोलमाल अगेन' की श...