न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#PoliticalGossip: संथाल में बड़का पार्टी के कार्यकर्ताओं के चखना में खली सुखल चना नहीं बल्कि मुर्गो रहेगा

1,304

Akshay Kumar Jha

Ranchi: चुनाव हो और पार्टी ना मने. ऐसन थोड़े ना होता है. केतना काम रहता है पार्टी के कार्यकर्ताओं को. बैनर-पोस्टर ढोने के अलावा नेता जी के साथ ऐने-ओने घूमे भी तो पड़ता है. शाम होते-होते आदमी थक के चूर हो जाता है.

ऐसे में आठ बजते-बजते गला तर नहीं हो, तो बेकारे है पार्टी का झंडा ढोना. ई सब बात का चुनाव के पहले पार्टी के बड़का अधिकारी लोग खूबे ख्याल रखते हैं. पांच साल के सवाल है. खर्चा से डरेंगे तो कैसे चलेगा.

बड़का पार्टी ने फैसला लिया है. फैसला ई है कि अब संथाल में कार्यकर्ता खली सुखल चना के साथ गला तर नहीं करेंगे. बल्कि मुर्गा के टगड़ी भी एभलेवल रहेगा. लिहाजा मंडल अध्यक्ष और जिलाध्यक्ष तक इंतजाम पहुंच गया है.

Trade Friends

इसे भी पढ़ेंः#Politicalgossip: नह…नह…हमरा उम्मीदवार को टिकट नहीं मिला तो बहुते नाइंसाफी हो…

बतावे वाला ने बताया है कि मंडलध्यक्ष को 25K और जिलाध्यक्ष को 10K मिल गया है. पैसवा देवे से पहले हिदायत भी दिया गया है. कहा गया है कि अकेले-अकेले पैसा पचाने के चक्कर में नहीं रहना है. सभे को खुश करना है. और साथे-साथ रिजल्ट भी चाहिए.

पैसवा मिले के बाद खर्च करे वाला मैनेजर साहब लोग मैनेजमेंट के तैयारी में जुट गया है. पारी-पारी से आस-पास के सभे लड़कन को पार्टी देना है. ए गो रूटीन तैयार हुआ है कि कौन दिन कहां बैठकी करना है. लेकिन शर्त भी है. दिन में कुछो नहीं होगा. जो होगा ऊ सब राते में होगा.

इसे भी पढ़ेंः#Politicalgossip: और फुस्स्स्स…हो गया जेएमएम का दिवाली वाला बड़का बम…

काहे से कि दिन में पार्टी करे के बाद सभे बौरा जाता है. नेते जी के साथ उल्टा-पुल्टा करे लगता है. इसलिए दिन में खली चबावे वाला सामान और रात में नंबर वन से लेकर आरएस तक का बजट है. छोटू डाबा में मुर्गा बनावे के लिए बोल दिया गया है. वहीं बैठ के फरिया लेना है.

लेकिन मैनेजर साहब लोग ई फिराक में भी है कि ऐतना करेंगे तो कुछो तो उनको भी बचना चाहिए. सालों भर पार्टीए के लिए करेंगे तो कैसे चलेगा. इसलिए खासे-खास लोग को ढाबा में बुलाहटा है.

रात में जेतना मस्ती करना है कर लीजिए. लेकिन भोरे-भोर एकदम टाइम पर नेता जी के घर हाजिरी लगा देना है. तो सोच का रहे हैं, फोन लगाइए. नहीं तो सुखले चना के साथ गटके पड़ेगा.

इसे भी पढ़ेंः#PoliticalGossip: ले हेमंत सोरेन के बना दिया बाहुबली और स्वच्छ भारत अभियान का एदमे से कचरा…

SGJ Jewellers

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like